Maxen Computer Education

CCC Question Answer Sample Model Practice Sets in Hindi

उत्तरमाला

1.            D             2.            A             3.            C             4.            A             5.            A             6.            D             7.            D             8.            A                9.            C             10.          A             11.          A             12.          B             13.          D             14.          C             15.          C             16.                B             17.          C             18.          D             19.          B             20.          C             21.          A             22.          A             23.          D                24.          A             25.          C             26.          D             27.          D             28.          C             29.          C             30.          A             31.                B             32.          B             33.          B             34.          C`            35.          D             36.          A             37.          A             38.          B                39.          D             40.          D             41.          C             42.          A             43.          D             44.          C             45.          D             46.                A             47.          C             48.          A             49.          A             50.          D             51.          D             52.          A             53.          B                54.          D             55.          B             56.          D             57.          D             58.          D             59.          D             60.          C             61.                A             62.          D             63.          A             64.          A             65.          C             66.          B             67.          A             68.          A                69.          D             70.          B             71.          C             72.          D             73.          B             74.          D             75.          A             76.                C             77.          C             78.          B             79.          D             80.          A             81.          C             82.          C             83.          D                84.          D             85.          B             86.          A             87.          B             88.          A             89.          A             90.          B             91.                               D             92.          C             93.          B             94.          A             95.          D             96.          C             97.          C             98.                D             99.          D             100.        C

More CCC Question Answer in Hindi

संकेत/व्याख्या

1. (D) अवरोही क्रम में व्यवस्थित करने पर सही क्रम निम्न है-टेराबाइट (TB) → गीगाबाइट (GB) → मेगाबाइट (MB) → किलोबाइट (KB)

2. (A) जब एक से अधिक सेल को एक बार में कॉपी करना हो, तो उसके लिए की बोर्ड पर कंट्रोल की को होल्ड करते हुए माउस से साथ-साथ सेल बार्डर को ड्रैग करते हैं।

3. (C) मल्टीपल यूजर लाइसेंस के द्वारा व्यक्तियों का समूह किसी सॉफ्टवेयर का प्रयोग कर सकता है। इसके द्वारा वह सॉफ्टवेयर कई कंप्यूटरों पर कार्य कर सकता है, जबकि सिंगल यूजर लाइसेंस की स्थिति में सॉफ्टवेयर किसी निर्दिष्ट कंप्यूटर पर ही कार्य करेगा।

4. (A) RAM (Random Access Memory) कंप्यूटर की मैमोरी को प्रदर्शित करता है। यह कंप्यूटर की अस्थायी मैमोरी है।

5. (A) एक्सेल =20*10/4*8 फॉर्मूले का मूल्यांकन करने का उत्तर 400 आएगा। इसमें गणना में गुणा एवं भाग होने पर गणना बाएं से दाएं होती है।

6. (D) चार्ट सोर्स डाटा डायलॉग बॉक्स वर्कशीट सेलों की उस रेंज को स्पेसिफाई या मोडीफाई करता है, जिसमें चार्ट बनाए जाने वाला डाटा होता है।

7. (D) वर्कशीट, सेल, फॉर्मूला आदि पद स्प्रेडशीट (Spreadsheet) सॉफ्टवेयर से सम्बद्ध हैं, जबकि वायरस डिटेक्शन स्प्रेडशीट सॉफ्टवेयर से सम्बद्ध पद नहीं है।

8. (A) मॉनीटर का रेजोल्यूशन जितना अधिक होता है, उसमें स्क्रीन पिक्सल उतने ही अधिक होते हैं।

9. (C) एसेंब्लर लो-लेवल लैंग्वेज को मशीन लैंग्वेज में ट्रांसलेट करता है। यह C और BASIC जैसी हाई-लेवल लैंग्वेजों को ट्रांसलेट नहीं करता है। साथ ही यह प्रोग्राम के एक्जीक्यूशन में शामिल नहीं होता है। 10. (A) किसी विद्यमान डाक्युमेंट में अपेक्षित परिवर्तन एडिटिंग के द्वारा किया जाता है।

11. (A) विंडोज ME में, ME से तात्पर्य Millennium Edition से है। यह ग्राफिकल ऑपरेटिंग सिस्टम सितंबर, 2000 में माइक्रोसॉफ्ट द्वारा रिलीज किया गया था, जो विंडोज 9x सीरीज का आखिरी ऑपरेटिंग सिस्टम था।

12. (B) एक्सेल वर्कशीट में डाटा रो और कॉलम में ऑर्गेनाइज किया जाता है।

13. (D) कंप्यूटर का माउस एक इनपुट डिवाइस है। इनपुट डिवाइसों का प्रयोग कंप्यूटर में डाटा प्रवेश कराने के लिए किया जाता है। की-बोर्ड भी एक इनपुट डिवाइस

14. (C) पहले से चल रहे कंप्यूटर को पुनः चालू करने को रीस्टॉर्ट या वार्म बूटिंग अथवा सॉफ्ट बूटिंग कहते हैं।

15. (C) कंप्यूटर से आउटपुट प्राप्त करने के लिए इनपुट डिवाइस के माध्यम से कंप्यूटर को कमांड दिया जाता है। एक्जीक्यूटिंग (Executing) के तहत से दिए गए कमांड पर अमल या क्रियान्वयन किया जाता है।

16. (B) कॉपीराइट वाले सॉफ्टवेयर की अवैध कॉपी करने को सॉफ्टवेयर पायरेसी कहते । हैं। सॉफ्टवेयर पायरेसी के तहत किसी कंपनी के सॉफ्टवेयर की नकल ब्लैंक का अन्य स्टोरेज डिवाइस में राइट कर बेची

जाती है।

17.(C) कंप्यूटर फाइलें पेपर डाक्युमेंट्स का कंप्यूटर रूप हैं, जिनमें सामान्यतः डाटा होता है और जिन्हें एक स्टोरेज माध्यम में सेव किया जाता है। फाइल एक्सटेंशन फाइल के फार्मेट को बताता है।

18. (D) माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस एक्सेल डाक्युमेंट में प्रत्येक सेल के कॉलम लेबल और रो लेबल के द्वारा उस सेल के सेल एड्रेस को रिफर किया जाता है।

19. (B) एक्सेल में दो सेलों को एक सेल में मिलाने का परिचालन मर्ज सेल्ज कहलाता है।

20. (C) वर्ड डाक्युमेंट के सभी तत्वों को सेलेक्ट कर मॉनीटर पर अपेक्षित रंग में दिखाया जा सकता है। इसके लिए कलर प्रिंटर का होना आवश्यक नहीं है।

21. (A) बूट्सट्रैप लोडर कंप्यूटर का वह घटक है जो कंप्यूटर पर किसी भी कार्य को करने के लिए सर्वप्रथम आवश्यक है। यह कंप्यूटर की बूटिंग प्रक्रिया को संपादित करता है।

22. (A) दिए गए विकल्पों में सबसे छोटा कंप्यूटर नोटबुक है। छोटे आकार के लेपटॉप को नोटबुक कहा जाता है। वर्तमान में तेजी से प्रचलित हो रहे टैबलेट पीसी अब इसका स्थान ले रहे हैं।

23. (D) कंप्यूटर संबंधी गतिविधियों में प्रयुक्त USB का पूर्ण रूप है-Universal Serial ले। यह कंप्यूटर और अन्य इलेक्ट्रॉनिक डिवाइसों के मध्य कनेक्शन, कम्युनिकेशन और पावर सप्लाई हेतु प्रयुक्त केबल्स, कनेक्टर्स और कम्युनिकेशन प्रोटोकाल्स को परिभाषित करता है।

24. (A) डोमेन और संबंधित क्षेत्र इस प्रकार हैं .com – commercial .edu – education .net. – network infrastructure .org – organization

25. (C) यूनिकोड वह उन्नत कंप्यूटर कोडिंग प्रणाली है जिसमें चीनी, यूनानी, हिब्रू एवं जापानी सहित विश्व की अनेक भाषाओं की लिपियों को व्यक्त करने वाले कैरेक्टर शामिल हैं।

26. (D) वायरलेस बिना केबल प्रयुक्त किए हुए नेटवर्क को कनेक्ट करने वाला डिवाइस है। ब्लू टूथ, वाई-फाई आदि वायरलेस प्रणाली के ही स्वरूप हैं।

27. (D) ऑपरेटिंग सिस्टम ऐसा सॉफ्टवेयर है, जो कंप्यूटर को दक्षता से ऑपरेट करने और डाटा का ट्रैक रिकार्ड रखने के लिए स्वयं को नियंत्रित करने में सहायता करता है। विंडोज, लाइनेक्स आदि ऑपरेटिंग सिस्टम के उदाहरण हैं।

28. (C) किसी कंप्यूटर पर किसी भी समय उतनी संख्या में डाक्युमेंट खोले जा सकते हैं, जितने उस कंप्यूटर की मैमोरी द्वारा होल्ड किए जा सकते हैं।

29. (C) नये नाम सहित अथवा नये लोकेशन  पर किसी विद्यमान फाइल को सेव करने के लिए सेव एज का कमांड प्रयोग करना चाहिए। सेव, सेव एण्ड रिप्लेस और न्यू फाइल जैसे कमांड से नये नाम सहित या किसी नयी स्थिति पर फाइल को सेव नहीं किया जा सकता है।

30. (A) PC का पूरा रूप Personal Computer है। सामान्यतः डेस्कटॉप कंप्यूटर को PC कहा जाता है। 31. (B) कंप्यूटर के माध्यम से विभिन्न प्रकार के गेम्स खेले जा सकते हैं। जॉएस्टिक के माध्यम से यूजर आसानी से गेम्स खेल सकते हैं। जॉएस्टिक के माध्यम से यूजर मन चाहे तरीके से गेम्स का संचालन कर पाते हैं।

32. (B) सभी स्टेटमेंट्स को एक सिंगल बैच में कनवर्ट करने का कार्य कंपाइलर प्रोग्राम द्वारा होता है तथा इसके इंस्ट्रक्शन्स परिणामी कलेक्शन्स को एक नई फाइल में .exe में रखा जाता है।

33. (B) शिक्षा संस्थानों के द्वारा अपने डोमेन नाम में सामान्यत: .edu का प्रयोग किया जाता है।

34. (C) एक्सेल, ऑपरेटिंग सिस्टम, पावर पाइंट और प्रिंटर ड्राइवर आदि कंप्यूटर सॉफ्टवेयर हैं, जबकि CPU कंप्यूटर के हार्डवेयर का हिस्सा होता है।

35. (D) एमएस एक्सेल एक इलेक्ट्रॉनिक स्प्रेडशीट प्रोग्राम है, जिसका प्रयोग डाटा को स्टोर करने, ऑर्गेनाइज करने और व्यवस्थित करने में किया जा सकता है।

36. (A) ई-मेल (E-mail) से तात्पर्य इलेक्ट्रॉनिक डाक से होता है। ई-मेल भेजते समय संदेश की विषयवस्तु के बारे में बताने का कार्य सब्जेक्ट (Subject) लाइन करती है।

37. (A) कंप्यूटर द्वारा डाटा को सूचना में संसाधित किया जाता है। कंप्यूटर में कोई भी सूचना डिजिटल डाटा के रूप में होती है।

38. (B) कंप्यूटर द्वारा प्रेजेन्टेशन/स्लाइड शो सामान्यत: पावर पाइंट एप्लिकेशन के प्रयोग से तैयार किए जाते हैं।

39. (D) दिए गए सभी विकल्प विंडोज 10 की विशेषताएँ हैं।

40. (D) मोबाइल फोन की बैटरियों में मुख्यतः लीथियम आयन बैटरी इस्तेमाल की जाती है। इसकी उच्च ऊर्जा घनत्व (High Energy Density) होती है, आकार (size) में छोटी होती है तथा रिचार्ज सर्किल (Recharge cycle) अधिक होती है।

41. (C) सर्वर ऐसा कम्प्यूटर है, जो नेटवर्क से जुड़े (कनेक्टेड) अन्य कम्प्यूटरों को रिसोर्स प्रोवाइड कराता है। क्लाइंट-सर्वर नेटवर्क के अंतर्गत कुछ कम्प्यूटर क्लाइंट और कुछ कम्प्यूटर सर्वर के रूप में कार्य करते हैं। सर्वर बैक-इंड सपोर्ट प्रोवाइड करता है (जैसे सभी डाटाबेस सर्वर साइड पर विद्यमान होते हैं)। यह ई-मेल, वेब पेज, फाइल और/या एप्लिकेशन स्टोर करता है।

42. (A) गीगाबाइट (GB) कम्प्यूटर डाटा स्टोरेज का मापक है, जो लगभग 1 बिलियन बाइट के समान है। अंतर्राष्ट्रीय मानक पद्धति (SI) में गीगाबाइट के प्रीफिक्स गीगा से तात्पर्य 10° से है। इस प्रकार एक गीगाबाइट 1000000000 या 1 बिलियन बाइट के समान है।

43. (D)इंटरनेट एक्सप्लोरर में, एक्सप्लोरर बार में फैवरिट्स ओपन करने के लिए Ctrl + I का प्रयोग किया जाता है। कुछ प्रमुख माइक्रोसॉफ्ट इंटरनेट एक्सप्लोरर नैविगेशन निम्न हैं CTRL + B (ऑर्गनाइज फैवरिट्स डायलॉग बॉक्स ओपन करता है) CTRL + E (सर्च बार ओपन करता है) CTRL + F (फाइंड यूटिलिटी स्टार्ट करता है) CTRL + H (हिस्ट्री बार ओपन करता है) CTRL + I (फैवरिट बार ओपन करता है) CTRL + L (ओपन डायलॉग बॉक्स ओपन करता है CTRL+ O (CTRL + L के समान ओपन डायलॉग बॉक्स ओपन करता है) CTRL + P (प्रिंट डायलॉग बॉक्स ओपन करता है) CTRL + R (करेंट वेब पेज को अपडेट करता है CTRL +W (करेंट विंडो क्लोज करता है  

44. (C) मॉडेम (मॉडयलेटर-डिमॉडय लेटर) एक डिवाइस है, जो डिजिटल इन्फॉर्मेशन को इनकोड करने के लिए सिग्नल्स मॉड्युलेट करता है और टांसमिटेड इन्फॉर्मेशन को डिकोड करने के लिए सिग्नल्स डिमॉडयलेट करता है। इसका मुख्य उद्देश्य सिग्नल उत्पन्न करना है जिसे आसानी से सम्प्रेषित किया जा सके और ओरिजनल डिजिटल डाटा को पुन: उत्पन्न करने के लिए डिकोड किया जा सके।

45. (D) टेलीकम्यूनिकेशंस और कम्प्यूटर नेटवर्क के अंतर्गत मल्टीप्लेक्सिग एक विधि है, जिसके अंतर्गत एक साझे माध्यम की सहायता से बहुविध ऐनालॉग मेसेज सिग्नलों या डिजिटल डाटा स्ट्रीम्स को एक सिग्नल में संयोजित (कम्बाइंड) किया जाता है। इसका उद्देश्य एक्सपेन्सिव रिसोर्स को शेयर करना हैं। कम्यनिकेशन चैनल (जैसे केबिल) के द्वारा मल्टीप्ले- क्सड सिग्नल को सम्प्रेषित (ट्रांसमिटेड) किया

जाता है।

46. (A) फाइल ट्रांसफर प्रोटोकॉल (FTP) एक स्टैंडर्ड नेटवर्क प्रोटोकॉल है। TCP आधारित नेटवर्क (जैसे इंटरनेट) के माध्यम से कम्प्यूटर फाइलों को, एक हॉस्ट से दूसरे हॉस्ट को हस्तांतरित करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। एफटीपी (FTP) क्लाइंट-सर्वर आर्कि- टेक्चर पर निर्मित है। यह क्लाइंट और सर्वर के मध्य विशेष कंट्रोल और डाटा कनेक्शंस का प्रयोग करता है।

47. (C) गणित और डिजिटल इलेक्ट्रॉनिक्स में बाइनरी नम्बर वह नम्बर है, जिसे बाइनरी न्यूमेरिक सिस्टम या 2 अंकों पर आधारित संख्या पद्धति में व्यक्त किया जाता है, जो सामान्यत: दो विभिन्न संख्यात्मक प्रतीकों विशेषत: 0 (शून्य) और 1 (एक) का प्रतिनिधित्व करता है। अत: 123 बाइनरी नम्बर नहीं है।

48. (A) रैम (रैन्डम एक्सेस मैमोरी) डाटा और एप्लिकेशन प्रोग्राम इंस्ट्रक्शंस को अस्थायी रूप से होल्ड करने वाला उपकरण और ऑपरेटिंग सिस्टम है। रैम को चिप कैरियर में संवेष्टित किया जा सकता है, जोकि सिस्टम बोर्ड के साथ तारबद्ध (वायर्ड) होता है या इसे स्मॉल बोर्ड पर लोकेट किया जा सकता है जो सिस्टम बोर्ड में प्लग होता है। रैम डाटा प्रोसेसिंग के लिए प्रोग्राम इंस्ट्रक्शंस का वेट करता है, रैम डाटा प्रोसेस्ड (संसाधित) होने का वेट करते हुए रॉ डाटा होल्ड करता है। अत: इसे माइकोप्रोसेसर का ‘वेटिंग रूम’ भी कहते हैं।

49. (A) मल्टीमीडिया वह मीडिया है, जो यूजर को सूचित करने या यूजर का मनोरंजन करने के लिए इन्फॉर्मेशन कन्टेन्ट और इन्फॉर्मेशन प्रोसेसिंग (जैसे-टेक्स्ट, ऑडियो, ग्राफिक्स, एनिमेशन, वीडियो और इंटर-एक्टिविटी) के विविध रूपों का प्रयोग करता है। मल्टीमीडिया से तात्पर्य उस कम्प्यूटर इन्फॉर्मेशन से है जो परंपरागत मीडिया (टेक्स्ट और ग्राफिक्स) की तुलना में ऑडियो, ग्राफिक्स, इमेज, वीडियो और

एनिमेशन का प्रतिनिधित्व करता है।

50. (D) परम (PARAM) सेंटर फॉर डेवलपमेंट ऑफ एडवांस्ड कम्प्यूटिंग, पुणे, भारत, द्वारा विनिर्दिष्ट और निर्मित सुपरकम्प्यूटरों की एक सीरीज है। PARAM युवा II इस सीरीज की नवीनतम । मशीन है। 1991 में प्रतिष्ठापित परम (PARAM) 8000 को भारत का प्रथम सुपरकम्प्यूटर माना जाता है।

51. (D) ऑफिस एप्लिकेशन (जैसे वर्ड, एक्सल इत्यादि) में सेलेक्टेड डाटा को कट करके एक स्थान से दूसरे स्थान पर पेस्ट करने के लिए कट एड पेस्ट कमांड का प्रयोग किया जाता है। सेलेक्टेड टेक्स्ट/इमेज को कट करने के लिए Ctrl + X का प्रयोग किया जाता है। Ctrl + V की सहायता से कट किए गए टेक्स्ट/इमेज को क्लिपबोर्ड पर पेस्ट किया जाता है।

52. (A) होम पेज या इंडेक्स पेज किसी वेबसाइट का प्रारंभिक या मेन वेब पेज है। सामान्यत: यह वेबसाइट का प्रथम पेज है, जिसे विजिटर वेबसाइट के सर्च इंजन के माध्यम से चलाता है और देखता है। यह विजिटर्स का ध्यान आकर्षित करने के लिए। लेंडिंग पेज के रूप में भी कार्य करता है। वेबसाइट पर अन्य पेजों का संचालन सरल बनाने के लिए होम पेज का प्रयोग किया जाता है।

53. (B) इंट्रानेट किसी संगठन का इंटरनल प्राइवेट नेटवर्क है जो वेब और इंटरनेट के मानकों और आधारभूत संरचना का प्रयोग करता है। यह केवल संगठन के कर्मचारियों के लिए सुलभ है। इंट्रानेट अपने साधारण रूप में लोकल एरिया नेटनर्क (LANS) और वाइड एरिया नेटवर्क (WANs) की टेक्नोलॉजी के साथ स्थापित किया जाता है।

54. (D) टेराबाइट (TB) डिजिटल इन्फॉर्मेशन के लिए बाइट यूनिट का गुणक है जोकि 1 ट्रिलियन बाइट के समान है। एक गीगाबाइट (GB) 1000000000 बाइट्स या 1 बिलियन बाइट्स के समान है। एक मेगाबाइट एक मिलियन बाइट्स के समान । है, जबकि एक किलोबाइट (KB) 1000 बाइट के समान है। इस प्रकार टेराबाइट सबसे बड़ी यूनिट है।

55. (B) कम्प्यूटर में यूजर द्वारा इंटरफेस के दौरान कर्सर एक इंडिकेटर की तरह है। कम्प्यूटर मॉनीटर या अन्य डिस्प्ले डिवाइस पर यूजर इंटरएक्शन के लिए करेंट पोजिशन दर्शाने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है, जो प्वाइंटिंग डिवाइस या टेक्स्ट इनपुट से इनपुट करने पर प्रतिक्रिया करेगा। माउस कर्सर को प्वाइंटर भी कहते हैं। यह प्रयोग में प्वाइंटिंग स्टिक के समान है।

56. (D) माउस, कीबोर्ड, मॉनीटर, प्रिंटर और स्कैनर पेरिफेरल डिवाइसों के उदाहरण हैं, जो अभिलाक्षणिकता (फंक्शनअलिटी) संलग्न करने के लिए कम्प्यूटर सिस्टम से कनेक्ट होते हैं। पेरिफेरल डिवाइस कई प्रकार के होते हैं, लेकिन इन्हें सामान्यतः । तीन भागों में वर्गीकृत किया जाता है1. इनपुट डिवाइस, जैसे माउस और कीबोर्ड, 2. आउटपुट डिवाइस, जैसे मॉनीटर और प्रिंटर, 3. स्टोरेज डिवाइस,

जैसे हार्ड ड्राइव या फ्लैश ड्राइव।

57. (D) ई-मेल अड्रेस सामान्यत: लोअर केस में होते हैं। इसका कारण यह है कि वे केस सेंसिटिव होते हैं। ई-मेल अड्रेस का डोमेन नेम वाला पार्ट केस इन्सेंसिटिव होता है। (अर्थात् केस अधिक महत्त्वपूर्ण नहीं होता है) जबकि लोकल मेलबॉक्स पार्ट केस सेंसिटिव होता है।

58. (D) सेकेंडरी स्टोरेज या एक्सटरनल स्टोरेज एक नॉन-वॉलैटाइल स्टोरेज है जो प्रत्यक्षतः कम्प्यूटर के सीपीयू के प्रत्यक्ष नियंत्रण में नहीं है या प्रत्यक्षतः एप्लिकेशन के साथ इंटरएक्ट नहीं करता। कंज्यूमर सिस्टम्स में सेकेंडरी मैमोरी डिवाइसों का प्रयोग किया जाता है। सेकेंडरी मैमोरी डिवाइस के सर्वाधिक सामान्य रूपों में फ्लैश मैमोरी, ऑप्टिकल डिस्क्ल, मैग्नेटिक डिस्क्स और मैग्नेटिक टेप को शामिल किया जाता है। रैम प्राइमरी मैमोरी का रूप है, जोकि वॉलैटाइल है।

59. (D) नॉन-वॉलैटाइल स्टोरेज एक कम्प्यूटर मैमोरी है, जो पॉवर ऑफ हो जाने के बाद भी स्टोर्ड इन्फॉर्मेशन रिट्रीव कर सकता है। नॉन-वॉलैटाइल मैमोरी के उदाहरणों में रीड-ओनली मैमोरी, फ्लैश मैमोरी, F-RAM (यह मैग्नेटिक कम्प्यूटर स्टोरेज डिवाइस फ्लॉपी डिस्क और मैग्नेटिक टेप इत्यादि प्रकार की मैमोरी है) और ऑप्टिकल डिस्क्स इत्यादि को शामिल किया जाता है। हाइपर टेक्स्ट

60. (C) एचटीएमएल से तात्पर्य हाडपार मार्कअप लैन्गुएज से है। यह मार्कअप लैन्गुएज है, जिसका प्रयोग पेज क्रिएट करने के लिए किया जाता वेब ब्राउजर्स HTML फाइलों को रीडर सकते हैं और फाइलों को विजिल ऑडिबल वेब पेजों में प्रस्तुत कर सकते है। HTML इलीमेंट्स सभी वेबसाइटों बिल्डिंग ब्लॉकों का निर्माण करते हैं।

61. (A) EPROM से तात्पर्य इरेजेल प्रोग्रामेबल रीड-ओनली मैमोरी से हो मैमोरी चिप का एक प्रकार है, जो पॉवर सप्लाई के स्विच ऑफ हो जाने पर अपना डाटा सुरक्षित रखता है। अन्य शर में यह नॉन-वॉलैटाइल है।

62. (D) MS-Word में डॉक्युमेंट का इंड मव करने के लिए Ctrl + End का प्रयोग किया जाता है। यह कीबोर्ड शॉर्टकट कर्सर को डॉक्युमेंट के इंड में मूव करता है। Ctrl + Home : कर्सर को डॉक्युमेंट के आरंभिक बिन्दु पर मूव करता है। Ctrl + Spacebar : हाइलाइटेड टेक्स्ट को डिफॉल्ट फॉन्ट में रिसेट करता है।

63. (A) एसएमटीपी (SMTP) से तात्पर्य सिम्पल मेल ट्रांसफर प्रोटोकॉल से है। यह इलेक्ट्रॉनिक मेल (ई-मेल) ट्रांसमिशन के लिए इंटरनेट मानक है। इसे सर्वप्रथम 1982 में RFC 821 द्वारा परिभाषित किया गया था। इसे अंतिम बार 2008 में SMTP के विस्तृत संस्करण RFC 5321 द्वारा अपडेट किया गया था। इस प्रोटोकॉल को पूरे विश्व में, बड़े पैमाने पर यूज किया जाता है।

64. (A) कम्प्यूटर प्रोग्राम या इलेक्ट्रॉनिक हार्डवेयर के अंतर्गत डिबगिंग त्रुटियों या बग्स की संख्या का पता लगाने और कम करने की एक क्रमबद्ध प्रक्रिया है। डिबगिंग प्रक्रिया आशा के अनुरूप कार्य करती है। डिबगिंग प्रक्रिया साधारण त्रुटियों का पता लगाने के साथ-साथ डाटा कलेक्शन, एनालाइसिस और शेड्यूलिंग अपडेट्स जैसे विस्तृत और भारी-भरकम कार्यों को भी निष्पादित करता है।

65. (C) MS-Word में, डॉक्युमेंट फॉर्मेटिंग करते समय कर्सर के ठीक बायीं ओर स्थित लेटर को डिलीट करने के लिए बैकस्पेस का प्रयोग किया जाता है। इस कीबोर्ड की को प्रेस करने पर कर्सर के बायीं ओर का कैरेक्टर डिलीट हो जाता है।

66. (B) MS-Word में, रीडू या रिपीट करने के लिए Ctrl + Y का प्रयोग किया जाता है। इसके अतिरिक्त अंतिम कार्य को रीडू करने के लिए F3 फंक्शन की (Key) का भी प्रयोग किया जा सकता है। इसके विपरीत, किसी कार्य को अनडू करने के लिए Ctrl +z या F2 फंक्शन की (Key) का प्रयोग किया जाता है।

67. (A) प्रिन्टर्स डिवाइस प्रिन्टर्स और स्क्रीन्स आउटपट इस हैं। किसी भी इनपुट डिवाइस के द्वारा कम्प्यूटर में की गई डाटा एंटी की पोसेसिंग का रिजल्ट देखने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। स्क्रीन जैसे लिक्विड क्रिस्टल डिस्प्ले (LCD), थिन फिल्म जिस्टर (TFT), कैथोड रे ट्यूब (CRT) दत्यादि सर्वाधिक सामान्य आउटपट डिवाइस हैं। कम्प्यूटरों के साथ प्रयोग होने वाला प्रिंटर भी एक सामान्य प्रकार का आउटपुट डिवाइस है।

68. (A) वीओआईपी (VOIP) से तात्पर्य वॉइस ओवर इंटरनेट प्रोटोकॉल से है। यह इंटरनेट प्रोटोकॉल (IP) नेटवर्क्स (जैसे इंटरनेट) के द्वारा वॉइस कम्यूनिकेशंस और मल्टीमीडिया सेशंस की डिलीवरी के लिए प्रौद्योगिकी का समूह और क्रमबद्ध प्रणाली है। VOIP से संबंधित अन्य सामान्य परिदानों में IP टेलीफोनी, इंटरनेट टेलीफोनी, ब्रॉडबैंड टेलीफोनी और ब्रॉडबैड फोन सर्विस शामिल हैं।

69. (D) माइक्रोप्रोसेसर एक मल्टीपर्पस, प्रोग्रामेबल डिवाइस है, जो इनपुट के रूप में डिजिटल डाटा ग्रहण करता है, अपनी मैमोरी में स्टोर्ड इंस्ट्रक्शंस के अनुसार प्रोसेस करता है और आउटपुट के रूप में रिजल्ट प्रोवाइड करता है। इंटरनल मैमोरी समाहित होने के कारण यह सिक्वेंशियल डिजिटल लॉजिक का एक उदाहरण है। यह कम्प्यूटर के सीपीयू के कार्यों को एक एकीकृत सर्किट (IC) पर समाविष्ट करता है।

70. (B) बीआईओएस (BIOS) अर्थात् बेसिक इनपुट/आउटपुट सिस्टम का मूल उद्देश्य प्रारंभिक स्तर पर हार्डवेयर घटकों को टेस्ट करना और मास मैमोरी डिवाइस से ऑपरेटिंग सिस्टम या बूट लोडर को लोड करना है। BIOS सॉफ्टवेयर पर्सनल कम्प्यूटर (PC) में निर्मित है। यह पहला । सॉफ्टवेयर है, जो पॉवर ऑन होने पर PC द्वारा संचालित (या रन) होता है।

71. (C) EULA का विस्तारित रूप इंड यूजर लाइसेंस एग्रीमेंट है। यह सॉफ्टवेयर। एप्लिकेशन के ऑथर या पब्लिशर और उस एप्लिकेशन के यूजर के मध्य एक वैध अनुबंध है। EULA अनुबंध के अंतर्गत दिया । जाने वाला लाइसेंस क्रेता के स्वचालित अधिकारों, जिसमें प्रथम बिक्री का सिद्धांत शामिल है, के अतिरिक्त उन सभी परिस्थितियों का वर्णन करता है जिसके। अंतर्गत लाइसेंस का प्रयोग किया जा सकता है।

72. (D) CDMA का विस्तारित रूप कोड डिविजन मल्टीपल एक्सेस है। यह मल्टीप्लेक्सिंग का एक रूप है, जो उपलब्ध बैंडबिड्थ का प्रयोग करते हुए ट्रांसमिशन चैनल को नियंत्रित (या अधिकृत) करने के लिए बहुसंख्यक संकेतों (सिग्नल्स) की सुविधा प्रदान करता है। सीडीएमए (CDMA) से तात्पर्य सेकेंड-जनरेशन (2G) और तीसरी जनरेशन (3G) के वायरलेस कम्यूनिकेशंस में प्रयुक्त होने वाले कई प्रोटोकॉलों में से किसी भी प्रोटोकॉल से है।

73. (B) W3C से तात्पर्य वर्ल्ड वाइड वेब कंसोर्टियम से है। यह एक अंतर्राष्ट्रीय कम्युनिटी है, जो वेब की दीर्घकालीन वृद्धि सुनिश्चित करने के लिए मुक्त मानदंडों को विकसित करता है। टिम बर्नर्स-ली द्वारा स्थापित W3C वर्तमान में वर्ल्ड वाइड वेब के लिए प्रमुख अंतर्राष्ट्रीय मानदंड संगठन है।

74. (D) एमआईसीआर (MICR) से तात्पर्य मैग्नेटिक इंक कैरेक्टर रिकॉग्निशन से है। यह कैरेक्टर की पहचान करने वाली तकनीक है, जिसका प्रयोग मुख्य रूप से बैंकिंग उद्योग द्वारा चेकों और अन्य दस्तावेजों की निकासी प्रक्रिया सरल बनाने के लिए किया जाता है।

75. (A) कम्प्यूटर चिप को माइक्रोचिप भी कहते हैं। यह पैकेज्ड कम्प्यूटर सर्किटरी (इसे सामान्यत: इंटिग्रेटेड सर्किट कहते हैं) की इकाई है, जिसे बहुत छोटे पैमाने पर सिलिकॉन जैसे धातु से निर्मित किया गया है। संभवत: इंटेल द्वारा निर्मित पेन्टियम माइक्रोप्रोसेसर्स को सर्वश्रेष्ठ माइक्रोचिप माना जाता है।

76. (C) फाइबर ऑप्टिक्स विश्वसनीय कम्यूनिकेशनल चैनल है, जिसके द्वारा कुछ या बिना किसी एरर के, डाटा की अत्यधिक मात्रा को 100Gbps से अधिक तेज गति से सम्प्रेषित (ट्रांसमिटेड) किया जा सकता है। यह डाटा ट्रांसमिशन की थोड़ी महँगी, लेकिन विश्वसनीय प्रक्रिया है। फाइबर ऑप्टिक्स डाटा ट्रांसमिट करते समय लेजर बीम्स का प्रयोग करता है, लेजर बीम्स प्रकाशीय आवेगों का प्रयोग करता है, जो क्लिअर फ्लेक्सिबल ट्यूबिंग के द्वारा गति करते हैं।

77. (C) कम्पाइलर एक कम्प्यूटर प्रोग्राम (या प्रोग्रामों का समूह) है, जो सोर्स कोड को हाई-लेवल प्रोग्रामिंग लैन्गुएज से लोअर लेवल लैन्गुएज (जैसे असेम्बली लैगुएज या मशीन कोड) में परिवर्तित करता है। सोर्स कोड को परिवर्तित करने का सर्वाधिक प्रमुख कारण एक्जिक्यूटेबल प्रोग्राम क्रिएट करना है।

78. (B) गणित और कम्प्यूटर में 16 आधार अंकों के साथ हेक्साडेसिमल एक स्थितीय संख्यात्मक पद्धति (पोजिशनल न्यूमेरल सिस्टम) है। यह 16 विशेष प्रतीक चिह्नों 03 का प्रयोग करता है, यह शून्य से नौ तक की संख्या निरूपित करने के लिए प्राय: 0-9 प्रतीकों चिह्नों और दस से पन्द्रह तक की संख्या निरूपित करने के लिए A, B, C, D, E, F (या वैकल्पिक रूप से a, b, c,d,e, f) प्रतीक चिह्नों का प्रयोग करता है। प्रोग्रामर्स और कम्प्यूटर सिस्टम डिजाइनर्स द्वारा व्यापक स्तर पर हेक्सा- डेसिमल न्यूमेरल सिस्टम का प्रयोग किया जाता है। यह सिंगल हेक्साडेसिमल 16 अलग-अलग मानों को दिखा सकता है। 79. (D) पिंग (पैकेट इंटरनेट ग्रॉपर) एक कम्प्यूटर नेटवर्क एडमिनिस्ट्रेशन सॉफ्टवेयर यूटिलिटी है। मूलत: हॉस्ट द्वारा किसी निर्दिष्ट कम्प्यूटर को मेसेज भेजने और वापस हॉस्ट को मेसेज प्राप्त होने में लगने वाले समय को मापने तथा इंटरनेट प्रोटोकॉल (IP) नेटवर्क पर हॉस्ट की रीचेबिलिटी की जाँच करने के लिए पिंग (Ping) का प्रयोग किया जाता है। इंटरनेट और नेटवर्को की जाँच करने और रेंज मापने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है।

80. (A) बूट प्रोसेस के दौरान, ऑपरेटिंग सिस्टम की एक कॉपी रैम में अंतरित (ट्रांसफर्ड) हो जाती है, जहाँ कम्प्यूटर को इनपुट, आउटपुट या स्टोरेज आपरेशन का आवश्यकता होने पर इसे आसानी से ऐक्सेस किया जा सकता है। ऑपरेटिंग सिस्टम के लोड होने और बूट प्रोसेस के कम्पलीट (या पूर्ण) होने पर कम्प्यूटर कमांड्स लेने के लिए तैयार रहता है।

81. (C) इंट्रानेट्स या एक्सट्रानेट्स (एक कम्प्यूटर नेटवर्क है, जो संगठन के इंट्रानेट के बाहर से नियंत्रित पहुँच की अनुमति प्रदान करता है) में प्रॉक्सी सर्वर्स का प्रयोग कम्प्यूटरों को प्रत्यक्षत: इंटरनेट से कनेक्ट नहीं किया जाता। इन्हें प्रॉक्सी सर्वर्स के माध्यम से इंटरनेट से कनेक्ट किया जाता है। क्लाइंट्स प्रॉक्सी सर्वर से रिक्वेस्ट करते हैं, प्रॉक्सी सर्वर क्लाइंट कम्प्यूटर्स की रिक्वेस्ट्स पर आधारित रिमोट सर्वर से कॉन्टेक्ट करता है। प्रॉक्सी सर्वर, जैसा कि नाम से पता चलता है, सभी कम्प्यूटरों को इंट्रानेट या एक्सट्रानेट से जोड़ने का कार्य करता है।

82. (C) इलेक्ट्रॉनिक हार्डवेयर के भाग या कम्प्यूटर प्रोग्राम में आई खराबी या त्रुटियों (बग्स) का पता लगाने और उन्हें सुव्यवस्थित रीति से सही करने की प्रक्रिया डीबगिंग कहलाती है। यह प्रक्रिया इस प्रकार कार्य करती है जैसा कि इससे अपेक्षा की जाती है। डीबगिंग सामान्य त्रुटियों का पता लगाने से लेकर डाटा कलेक्शन अनालाइसिस और शेड्यूलिंग अपडेट जैसे बड़े और भारी कार्यों को भी निष्पादित करता है।

83. (D) प्रोग्रामिंग लैन्गुएज शब्दावली और व्याकरण नियमों का एक समूह है। विशेष कार्यों के निष्पादन हेतु कम्प्यूटरों को इंस्ट्रक्शन देने के लिए प्रोग्रामिंग लैन्गुएज यूज की जाती है। BASIC, C, C++, COBOL, FORTRAN, Ada, Pascal, Java इत्यादि प्रोग्रामिंग लैन्गुएज के उदाहरणों में शामिल हैं। MS-Excel एक स्प्रेडशीट एप्लिकेशन है जिसे माइक्रोसॉफ्ट द्वारा माइक्रोसॉफ्ट विंडोज, Mac OS और ios के लिए विकसित किया गया है।

84. (D) इंटिग्रेटेड सर्किट (IC) सिलिकॉन जैसे सेमीकंडक्टिग पदार्थ (मैटेरियल) की चिप या सिंगल क्रिस्टल की सतह पर आरोपित या विसरित विद्युत परिपथों (इलेक्ट्रॉनिक सर्किट्स) और घटकों का एक माइक्रोस्कोपिक अरे (सूक्ष्मदर्शीय वस्तुओं का बड़ा संग्रह) है। सिलिकॉन के एक भाग के बाहरी हिस्से पर सभी घटकों, परिपथों और मूल सामग्री (पदार्थ) के एक साथ एकीकृत होने के कारण इसे इंटिग्रेटेड सर्किट कहा जाता है।

85. (B) सॉफ्टवेयर पाइरेसी से तात्पर्य अनाधिकृत रूप से सॉफ्टवेयर की कॉपी, वितरण और प्रयोग से है। यह प्रणाली पूर्णत: कॉमर्शियल सॉफ्टवेयर पर लागू होती है।

86. (A) वेब ब्राउजर के लिए प्रयोग होने वाला शब्द ब्राउजर एक सॉफ्टवेयर एप्लिकेशन है। वर्ल्ड वाइड वेब पर वेब पेज, इमेज, वीडियो सहित अन्य कन्टेन्ट लोकेट करने, रिट्रीव करने और डिस्प्ले करने के लिए इसका प्रयोग किया जाता है। फायरफॉक्स, गूगल क्रोम, इंटरनेट एक्सप्लोरर, ओपेरा और सफारी अन्य प्रमुख वेब ब्राउजर्स हैं।

87. (B) स्कैनर एक इनपुट डिवाइस है, जो डॉक्युमेंट्स जैसे टेक्स्ट पेज और फोटोग्राफ को स्कैन करता है। जब किसी डॉक्युमेंट को स्कैन किया जाता है, तो डॉक्युमेंट को डिजिटल फॉर्मेट में परिवर्तित कर दिया जाता है। यह डॉक्युमेंट का इलेक्ट्रॉनिक वर्जन क्रिएट करता है, जिसे कम्प्यूटर पर देखा जा सकता है और एडिट किया जा सकता है।

88. (A) कम्प्यूटर नेटवर्किंग डिवाइसेज यूनिट्स (इकाईयाँ) हैं, जो कम्प्यूटर नेटवर्क में डाटा पहुँचाने का माध्यम हैं। ये नटवर्क इक्विप्मेंट भी कहलाते हैं। इसमें हब्स, ब्रिज्स, स्विचेज, रूटर्स, गेटवेज, नेटवर्क इंटरफेस कार्ड, ISDN (इंटिग्रेटेड सर्विसेज डिजिटल नेटवर्क) अडैप्टर्स, मॉडेम्स, फायरवॉल्स, प्रॉक्सीज इत्यादि शामिल हैं। लिनक्स एक कम्प्यूटर ऑपरेटिंग सिस्टम है

89. (A) कम्प्यूटर सिस्टम की अभिलाक्षणिकता (फंक्शनलिटी) में वृद्धि करने के लिए। कम्प्यूटर सिस्टम को पेरिफेरल डिवाइस से। कनेक्ट किया जाता है। माउस, कीबोर्ड, मॉनीटर प्रिन्टर और स्कैनर इत्यादि

पेरिफेरल डिवाइस के उदाहरण हैं।

90. (B) सेव ऐज कमांड अधिकांश एप्लिकेशनों के फाइल मैन्यू में विद्यमान होता है, जो करेंट डॉक्युमेंट या इमेज की कॉपी क्रिएट । करता है। यह रेगुलर सेव’ कमांड से पूर्णतः । भिन्न है, जो डाटा को मूलत: उसी फाइल या । फोल्डर में स्टोर करता है, जहाँ इसे क्रिएट किया गया था। ‘Save As’ यूजर को किसी दूसरे फोल्डर या लोकेशन में फाइल की कॉपी करने और किसी अन्य नाम से सेव करने की अनमति देता है।

91. (D) बाइनरी संख्या मलत: 2 अंकों पर  आधारित विभिन्न संयोजन वाली संख्याओं के रूप में 0 और 1 का प्रतिनिधित्व करती है. इन्हें ऑफ या ऑन भी कहते हैं। 81 बाइनरी डिजिट्स (बिट्स) की एक स्ट्रिंग। संभावित 256 संख्याओं को निरूपित कर सकती है और विभिन्न प्रकार के सिम्बल्स (प्रतीक चिहनों), अक्षरों या निर्देशों के अनुकूल कार्य कर सकती है।

92. (C) ऑप्टिकल-स्टोरेज टेक्नोलॉजी के अंतर्गत लेजर बीम, डिस्क की सतह पर सूक्ष्म छिद्रों के रूप में निरूपित कॉन्सेन्ट्रिक ट्रैक्स में, डिजिटल डाटा को लेजर, ऑप्टिकले या डिस्क रूप में इनकोड करती है। छिद्रों (पिट्स) से निकलने वाली प्रतिबिम्बित प्रकाश की तीव्रता को विद्युत संकेतों (इलेक्ट्रिक सिग्नल्स) में परिवर्तित करते हुए इन छिद्रों (पिट्स) को ‘रीड’ करने के लिए कम क्षमता (लो पॉवर) की लेजर स्कैनर यूज की जाती है। यह टेक्नोलॉजी कॉम्पैक्ट डिस्क; CD-ROM | (कॉम्पैक्ट डिस्क रीड-ओनली मैमोरी); WORM (राइट-वन्स रीड मैनी), इत्यादि में प्रयोग की जाती है।

93. (B) सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट (CPU) किसी भी कम्प्यूटर सिस्टम का ब्रेन (मस्तिष्क) है। इसमें कम्प्यूटर सिस्टम की कंट्रोल यूनिट और अरिथमेटिक लॉजिक यूनिट शामिल है। कम्प्यूटर सिस्टम में सभी प्रमुख कैल्क्युलेशंस और कॉम्पैरिजन्स सीपीयू (CPD द्वारा निष्पादित होते हैं। यह सभी इंटरनल और एक्सटर्नल डिवाइसों को नियंत्रित करता है।

94. (A) DOCX एक्सटेंशन वाली फाइल, वर्ड। माइक्रोसॉफ्ट ऑफिस ओपन XML फॉर्मेट में बनी डॉक्युमेंट फाइल है। माइक्रोसॉफ्ट वर्ड के पुराने वर्जनों में DOC फाइल एक्सटेंशन यूज किया जाता है।

95.(D) कम्प्यूटर के क्षेत्र में बैंडविडय तात्पर्य डाटा अमाउंट से है, जिसे एक निश्चित समय में प्रसारित किया जा सकता है। यह विशेष रूप से अवेलेबलकंज्यम्ड इन्फॉर्मेशन कैपेसिटी को बिट प्रति सेकंड में व्यक्त करने वाले मापीय गणजों की बिट-दर (bit-rate) है। डिजिटल डिवाइसों के लिए बैंडविड्थ को सामान्यत: बिट्स प्रति सेकण्ड (bps) या बाइट्स प्रति सेकंड में व्यक्त किया जाता है।

96. (C) डिजिटल इन्फॉर्मेशन के लिए टेराबाइट (TB) बाइट यूनिट का एक गुणज है। यूनिटों का निम्न-उच्चक्रम इस प्रकार है : 8 बिट्स = 1 बाइट; 1024 बाइट्स = 1 किलोबाइट; 1024 किलोबाइट्स = 1 मेगाबाइट; 1024 मेगाबाइट्स = 1 गीगाबाइट; 1024 गीगाबाइट्स = 1 टेराबाइट।

97. (C) कम्प्यूटर के क्षेत्र में फायरवॉल हार्डवेयर और/या सॉफ्टवेयर का एक भाग है, जो बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन के अनुरूप कार्य करने, और सिक्युरिटी पॉलिसी द्वारा वर्जित कुछ कम्युनिकेशंस को नेटवर्क इनवायरमेंट में कार्य करने से रोकता है। फायरवॉल का मुख्य कार्य ट्रस्ट के विभिन्न जोनों के मध्य

ट्रैफिक कंट्रोल करना है।

98. (D) सामान्यत: मॉनिटर्स को विजुअल डिस्प्ले यूनिट (VDU) कहा जाता है। यह कम्प्यूटर का मुख्य आउटपुट डिवाइस है। VDU छोटे-छोटे (टिनी) डॉट्स, जिन्हें पिक्सल्स (Pixels) कहते हैं, आयताकार रूप में व्यवस्थित होते हैं। इसकी सहायता से इमेज बनाता है। चित्र की स्पष्टता पिक्सल्स (Pixels) की संख्या पर निर्भर करती है।

99. (D) टेक्स्ट को समूह (ब्लॉक) में एक लोकेशन से दूसरे लोकेशन में मूव करने के लिए कट एंड पेस्ट कमांड का प्रयोग किया जाता है। जब हम अपने डॉक्युमेंट के थोड़े से टेक्स्ट को एक स्थान से दूसरे स्थान पर मूव करना चाहते हैं, तो कट कमांड का प्रयोग किया जाता है, पेस्ट कमांड हमारे द्वारा कट किए गए टेक्स्ट के स्थान पर, कर्सर की उपस्थिति वाले स्थान पर, टेक्स्ट डिपॉजिट करता है।

100. (C) CRM से तात्पर्य कस्टमर रिलेशनशिप मैनेजमेंट से है, यह एक सिस्टम है, जो वर्तमान और भविष्य के उपभोक्ताओं के साथ कम्पनी की पारस्परिक क्रियाओं (इंटर-एक्शंस) का प्रबंध करता है। यह प्राय: ऑर्गेनाइज, ऑटोमेट, सिन्क्रोनाइज सेल्स, मार्केटिंग, कस्टमर सर्विस और टेक्निकल सपोर्ट के लिए तकनीक यूज करता है।

More CCC Question Answer in Hindi

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *