CTET UPTET 2018 Prefixes Suffixes Study Material in Hindi

CTET UPTET 2018 Prefixes Suffixes Study Material in Hindi

CTET UPTET 2018 Prefixes Suffixes Study Material in Hindi

उपसर्ग एवं प्रत्यय (Prefixes And Suffixes)

CTET UPTET 2018 Prefixes Suffixes Study Material in Hindi
CTET UPTET 2018 Prefixes Suffixes Study Material in Hindi

उपसर्ग  (Prefixes)

जो शब्दांश किसी शब्द के पहले जुड़कर उसके अर्थ को परिवर्तित कर देता है, उसे उपसर्ग कहते हैं; जैसे—अन् + आदर = अनादर, दुर् + दिन = दुर्दिन, अभि + मान = अभिमान, अव + गुण = अवगुण।

यहाँ कुछ शब्द और उनमें प्रयुक्त उपसर्गों की सूची दी जा रही है

शब्दउपसर्ग
अत्यन्तअति
अत्याचारअति
अधिकारअधि
अध्यक्षअधि
अध्यादेशअधि
अध्ययनअधि
अनुचरअनु
अन्वयअनु
अपयशअप
अपव्ययअप
अभिमुखअभि
अभ्यासअभि
अभिसारअभि
अवकाशअव
 आरम्भ
आहार
उन्नतिउत्
निर्जीवनिर्
निर्वाहनिर्
निष्कामनिस्
निष्कलंकनिस्
निस्तेजनिस्
निष्कपटनिस्
पराजयपरा
पराक्रमपरा
पर्याप्तपरि
परिजनपरि
पर्यटकपरि
प्रबलप्र
प्रतापप्र
प्रसिद्धप्र
प्रस्तावप्र
प्रत्यक्षप्रति
प्रतिकारप्रति
सदाचारसत्
पुरातनपुरा
अनमोलअन
परलोकपर
कुकर्मकु
कुपुत्रकु
अहिंसा
अकाल
पुनर्विवाहपुनर्
पुनर्कथनपुनर्
अंतर्मुखीअंतर्
स्वदेशस्व
प्राक्कथनप्राक्
प्रागैतिहासिकप्राक्
सहमतिसह
अनपढ़अन
भरपूरभर
उज्जवलउत्

प्रत्यय (Prefixes)

प्रत्यय उस शब्दांश को कहते हैं, जो किसी शब्द के अन्त में जुड़कर भिन्न अर्थ प्रकट करता है। यह मूल शब्द के अर्थ को विशिष्ट बना देता है; जैसे— कवि + त्व = कवित्व, गरीब + ई = गरीबी, हर्ष + इत = हर्षित, श्री + मान = श्रीमान् इत्यादि।

यहाँ कुछ शब्द और उनमें प्रयुक्त प्रत्ययों की सूची दी जा रही है

शब्दप्रत्यय
रटन्तअन्त
छाया
लड़ाईआई
उठानआन
मिलापआप
बचावआव
मिलावटआवट
घुमक्कड़अक्कड़
तैराकआक
पालनहारहार
बंधन
गायकअक
पवनअन
भिक्षु
सूचनाअनै
दयालुआलु
स्मरणीयअनीय
चाँदयीनी
उपजाऊआऊ
पंजाबी
पंडिताइनआइन
धोबिनइन
लड़की
देवरानीआनी
लघुताता
आवश्यकताता
कौशल

CTET UPTET 2018 Prefixes Suffixes Notes Study Material in Hindi

  • उपसर्ग कोई सार्थक शब्द नहीं होते, किन्तु वे जिस शब्द से जुड़ते हैं उसमें एक विशेषता अवश्य ला देते हैं।
  • उदाहरण के तौर पर ‘हार’ शब्द में ‘आ’ उपसर्ग जुड़ने से ‘आहार’; ‘वि’ उपसर्ग जुड़ने से ‘विहान’ तथा ‘प्र’ उपसर्ग जुड़ने से ‘प्रहार’ शब्द बनता है।
  • प्रत्यय से शब्दों का विस्तार होता है। ‘सुन्दर’ विशेषण शब्द है, लेकिन जब इसमें ‘ता’ प्रत्यय लगता है तो ‘सुन्दरता’ भाववाचक संज्ञा बन जाती है। ‘बुद्धि’ संज्ञा है, जिसमें ‘मान’ प्रत्यय लगाने से ‘बुद्धिमान’ तथा ‘हीन’ प्रत्यय लगाने से ‘बुद्धिहीन’ जैसे विशेषण पद बनते हैं।

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

Leave a Comment

Your email address will not be published.