DOEACC CCC Study Material Notes Memory Unit Storage Unit

DOEACC CCC Study Material Notes Memory  Unit Storage Unit

DOEACC CCC Study Material Notes Memory  Unit Storage Unit मेमोरी यनिट/स्टोरेज यूनिट इस पोस्ट में ccc के study notes और study material detail में पूर्ण रुप से दर्शाया गया है इस पोस्ट में कम्प्यूटर के भाग डाटा प्रोग्रामिंग स्टोर के बारे में जानकारी दी गई है।
630-07071731 © Masterfile Royalty-Free Model Release: Yes Property Release: No Teenage girl studying

NIELIT DOEACC (Memory Unit/storage Unit) Study Notes

यह कम्प्यूटर का वह भाग है, जिसमें सभी डाटा और प्रोग्राम स्टोर किए जाते हैं। यदि यह भाग न हो, तो कम्प्यूटर को दिया जाने वाला की भी डाटा तुरन्त नष्ट हो जाएगा, इसलिए इस भाग का महत्व स्पष्ट है। मेमोरी मुख्यत: दो प्रकार की होती है- मुख्य मेमोरी तथा सहायक मेमोरी। इनमें मुख्य मेमोरी को सी.पी.यू. का भाग माना जाता है तथा सहायक मेमोरी उससे बाहर चुम्बकीय माध्यमों जैसे हार्ड डिस्क, टेप आदि के रूप होती है। दोनों प्रकार की मेमोरी में लाखों की संख्या में बाइटें होती हैं, जिनमें सभी प्रकार का डाटा और आदेश बाइनरी संख्याओं के रूप में भण्डारित किए जाते हैं। किसी कम्प्यूटर की मुख्य मेमोरी का आकार जितना अधिक होता है, वह उतना ही तेज माना जाता है।

It provides space for storing data and instructions, space for intermediate results and also space for the final results. Memory is of two types- Main Memory and Secondary Memory. Main memory is a part of CPU while secondary memory is information both temporarily and permanently. The following functions are performed by memory units. All the data to be processed and the instruction required for processing (received from input devices). Intermediate results of processing. Final results of processing before these results are released to an output device.

CCC इनपुट युक्तियाँ (Input Decices) Study Notes

यूजर द्धारा दिए गए डाटा तथा निर्देशों को कम्प्यूटर में प्रविष्ट करने के लिए जिन युक्तियों का प्रयोग किया जाता है, उन्हें इनपुट युक्तियाँ कहते हैं। मुख्य इनपुट युक्तियाँ निम्नलिखित हैं Those hardware devices that send data and instructions into computer system are called input devices. Some of the input devices are following- की-बोर्ड (Keyboard)
DOEACC CCC Study Material Notes Memory  Unit Storage Unit

DOEACC CCC Study Material Notes Memory  Unit Storage Unit

यह सबसे महत्वपूर्ण इनपुट युक्ति है। इससे कम्प्यूटर में डाटा या सूचनाएँ इनपुट कराई जाती हैं। यह काफी हद तक टाइपराइटर के समान होता है। इमसें कुँजियों को दबाकर टैक्स्ट (शब्द, संख्याएँ या विशेष प्रकार के चिन्ह) टाइप किए जाते हैं।

It is the most commonly used input device that is used to enter data instructions into the computer. Keyboard has many keys on it, like cursor control keys, function keys, alpnaumeric keys etc.  एण्टर कुँजी (Enter Key) इसे रिटर्न (Return) कुँजी (Key) भी कहा जाता है। यह हमारे द्धारा तैयार किए गए किसी आदेश को कम्प्यूटर में भेजने का कार्य करती है। एम.एस डॉस वातावरण में एण्टर दबाने पर आदेश कम्प्यूटर को भेज दिया जाता है। विण्जोज वातावरण में यह किसी चुने हुए आदेश या आइकन को सक्रिय करने का कार्य करता है। इसका उपयोग डॉक्यूमेण्ट तैयार करते समय नया पैराग्राफ शुरू करने के लिए भी किया जाता है। अल्फाबेट कुँजियाँ (Alphabet Keys) इन कुँजियों से अंग्रेजी अल्फाबेट को अक्षर टाइप किए जाते हैं। किसी अल्फाबेट कुँजी को अकेले दबाने पर छोटा अक्षर टाइप होता है। नम्बर कुँजियाँ (Number Keys) अल्फाबेट कुँजियों से ऊपर की पंक्ति में नम्बर कुँजियाँ होती हैं। इन कुँजियों से 0 से 9 तक के अंक टाइप किए जाते हैं। नम्बर्स टाइप करने  के लिए की बोर्ड में कुँजियों का एक अलग सेट भी होता है, जिसे न्यूमैरिक की-पैड (Numeric Key-pad) कहा जाता है।

एस्केप कुँजी (Escape Keys) इस कुँजी का उपयोग कुछ प्रोग्रामों से बाहर निकलने के लिए किया जाता है। फंक्शन कुँजियाँ (Function Key) F1 से F12 तक की कुंजियों को फंक्शन कुँजी कहते हैं। इनका प्रयोग कम्प्यूटर में परिभाषित विशिष्ट कार्यों के लिए किया जाता है। इनका कार्य चल रहे प्रोग्राम पर भी निर्भर करता है। कर्सर कण्ट्रोल कुँजियाँ (Cursor Control Keys) इन कुँजियों पर तीर के चिन्ह छपे होते हैं। इन कुँजियों से कर्सर को डेस्कटॉप पर कहीं भी ले जाया जा सकता है। किसी तीर की कुँजी को दबाने पर कर्सर उस पर छपे तीर की दिशा में एक स्थान आगे चला जाता है, जैसे- कुँजी को दबाने पर कर्सर एक लाइन नीचे की ओर चला जाएगा और कुँजी को दबाने पर कर्सर एक स्थान दाईं और चल जाएगा। न्यूमैरिक की-पैड (Numeric Key-Pad) यह की-बोर्ड के दाएँ भाग में कुँजियों का एक विशेष समूह होता है, जिससे केवल न्यूमैरिक डेटा तैयार किया जाता है। इस की-पैड का स्वरूप एक साधारण इलेक्ट्रॉनिक केल्कुलेटर की तरह होता है। हम कम्प्यूटर में जो डेटा भरते हैं, उसमें लगभग 90% डेटा न्यूमैरिक होता है। न्यूमैरिक डेटा तैयार करने की सुविधा के लिए यह की-पेड लगाया गया है। इस पर हम केवल एक हाथ से न्यूमैरिक डेटा टाइप कर सकते हैं। इसको एक्टिनेट करने के लिए Num Lock  बटन ON होना चाहिए। कण्ट्रोल कुँजी (Control Key) इस कुँजी का उपयोग कुछ विशिष्ट आदेश देने के लिए अन्य कुँजियों के साथ संयुक्त रूप से किया जाता है। उदाहरण के लिए, विण्डोज वातावरण में कुँजी कण्ट्रोल (Ctrl) के साथ C कुँजी or ctrl + C दबाने पर कोई चुनी हुई वस्तु या सामग्री क्लिप बोर्ड में Copy  हो जाती है। कण्ट्रोल कुँजियों का उपयोग इसी प्रकार विभिन्न शॉर्टकट आदेश देने के लिए किया जाता है। शिफ्ट कुँजियाँ (Shift  Keys) इन कुँजियो का उपयोग टाइप करते समय अक्षरों को बडा टाइप करने के लिए किया जाता है। यदि किसी कुँजी पर दो चिन्ह छपे हैं, तो शिफ्ट के साथ दबाने पर ऊपर का चिन्ह टाइप होता है। की-बोर्ड पर दो शिफ्ट कुँजियाँ होती है। बैक स्पेस कुँजी (Back Space Key) इसे दबाने पर कर्सर से बाईं ओर का टैक्स्ट मिट जाता है। कैप्सलॉक कुँजी (Caps lock Key)  इस कुँजी को एक्टिवेट कर देने पर अपरकेस लोवरकेस में तथा लोवरकेस अपरकेस में टाइप हो जाते हैं। अत: इस कुँजी का प्रभाव केवल अल्फाबेट कुँजियों पर पडता है। अन्य कुँजियाँ (other Keys) ऊपर बताई गी कुँजियों के अलावा की बोर्ड पर कई अन्य कुँजियाँ भी होती हैं जैसे-Pause, Break, print, Screen, Scroll Lock आदि। इनका उपयोग विशेष कार्यों के लिए होता है। आल्ट कुँजी (Alt Key) इस कुँजी का उपयोग कण्ट्रोल कुँजी की तरह कुछ शॉर्टकट आदेशों में किया जाता है।

You may also Like

Like Our Facebook Page for More CCC Question Answers CCC Study Material and Notes in English and Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *