NIELIT DOEACC CCC Monitor Study Material Notes in Hindi English

NIELIT DOEACC CCC Monitor Study Material Notes in Hindi English

NIELIT DOEACC CCC Monitor Study Material Notes in Hindi English मॉनीटर (Monitor) इस पोस्ट में CCC से सम्बन्धित सभी महत्वपूर्ण Topic के Notes, study material विस्तृत रूप सें दिए गए हैं। मॉनीटर, कैथोड रे ट्यूब, एल सी डी, एल ई डी, प्रिण्टर्स, इम्पैक्ट प्रिण्टर, डॉट मैट्रिक्स प्रिण्टर्स, इत्यादि आउटपुट युक्तिओं के बारे में हमारी पोस्ट में पूर्ण जानकारी दी गई हैं।

NIELIT DOEACC CCC Monitor Study Material Notes in Hindi English

NIELIT DOEACC CCC Monitor Study Material Notes in Hindi English

मॉनीटर को विजुअल डिस्प्ले यूनिट भी कहा जाता है। यह सीपीयू से प्राप्त परिणाम को सॉफ्ट कॉपी के रूप में प्रदर्शित करता है।

यह सर्वाधिक लोकप्रिय आउटपुट युक्ति है तथा इस पर दिखने वाले चित्र छोटे-छोटे बिन्दुओं से मिलकर बने होते हैं। इन बिन्दुओं को पिक्सल कहा जाता है। मॉनीटर पर चित्र की स्पष्टता स्क्रीन दिखने वाले रेजुल्यूशन, डॉट पिच तथा रिफ्रेश रेट पर निर्भर करती है।

A monitor (also called as VDU-Visual Display Unit) is the most commonly used output device. It is an electronic visual device used to display in pictorial form. There are many type of monitors.

कुछ प्रमुख प्रयोग में आने वाले मॉनीटर निम्नलिखित हैं

1.कैथोड रे ट्यूब (Cathode Ray Tube-CRT) यह एक आयताकार बॉक्स की तरह दिखने वाला मॉनीटर होता है। इसे डेस्कटॉप कम्प्यूटर के साथ आउटपुट देखने के लिए प्रयोग करते हैं। यह आकार में बड़ा तथा भारी होता है।

NIELIT DOEACC CCC Cathode Ray Tube-CRT Material Notes in Hindi English

NIELIT DOEACC CCC Cathode Ray Tube-CRT Material Notes in Hindi English

It works in the same way as a television. It contains an electron gun at the back of the glass tube. This gun fires electrons in a group of phosphor dots. Which is coatd inside the screen. When electrons strike the phosphor dots. They glow to give the colors.

  1. एल सी डी (Liquid Crystal display-LCD) यह एक प्रकार की अधिक प्रयोग में आने वाली आटपुट युक्ति है। यह CRT की अपेक्षा काफी हल्की, किन्तु महँगी आउटपुट युक्ति है। इसका प्रयोग लैपटॉप में, नोटबुक में पर्सनल कम्प्यूटर में, डिजिटल घड़ियों आदि मे किया जाता है। LCD में दो प्लेट होती हैं।

    NIELIT DOEACC CCC Liquid Crystal Display-LCD Study Material Notes in Hindi English

    NIELIT DOEACC CCC Liquid Crystal Display-LCD Study Material Notes in Hindi English

इन प्लेटों के बीच में एक विशेष प्रकार का द्रव (Liquid) भरा जाता है। जब प्लेट के पीछे से प्रकाश निकलता है, तो प्लेट्स के अन्दर के द्रव एलाइऩ (Align) होकर चमकते हैं, जिससे चित्र दिखाई देने लगता है।

These screens are used in laptops and notebook size PCs. A special type of liquid is sandwiched between two plates. It is a thin, flat and light weight screen made up of any number of colors or monochrome pixels arranged in front of a light source.

  1. एल ई डी (Liquid/Light Emitted Diode-LED) यह मॉनीटर आजकल घरों में टेलीविजन की तरह प्रयोग किया जाता है। इसके अन्दर छोटे-छोटे LEDs (Light Emitted Diodes) लगे होते हैं। जब विद्दुत धारा इन LEDs से गुजरती है, तो ये चमकने लगते हैं और चित्र LED के स्क्रीन पर दिखाई देने लगता है।

It is an electronic device that emits light when electrical current is passed thought it. It usually produces red light, but now-a-days LEDs can produce RGB (Red, Green and Blue) light and white light also.

4.3-D मॉनीटर (3-D Monitor) इसे 3-डायमेन्शन मॉनीटर भी कहते है। इसके द्धारा प्राप्त आउटपुट 3 डायमेन्शन में दिखाई देता है, जोकि अन्य माध्यमो से अधिक सजीव नजर आता है।

This kind of monitors convey depth perception of the image to the viewer. When 3-D images are made interactive, user feels involved with the scene and this experience is called virtual reality.

CCC प्रिण्टर्स (Printers) Study Material and Notes

यह एक ऐसी आउटपुट युक्ति है, जिसके द्धारा कम्प्यूटर से प्राप्त डाटा या सूचना को किसी कागज पर प्रिण्ट किया जाता है। आउटपुट के इस रूप को हार्ड कॉपी कहते हैं।

प्रिण्टर द्धारा ब्लैक और हाइट (Black and White) के साथ-साथ कलर में भी डॉक्यूमेण्ट को प्रिण्ट किया जा सकता है।

प्रिण्टर्स की गति को कैरेक्टर प्रति/सेकेण्ट, लाइन मिनट या पेज मिनट में नापी जाती है। इसके अतिरिक्त प्रिण्टर की क्वालिटी डॉट्स/इंच में नापी जाती है।

A printer is an output device that produces a hard copy of the output. These are the primary output devives used to prepare permanent documents. The speed of printers are generally rated either by pages/minutes or by characters/ Second.

प्रिण्टर दो प्रकार के होते हैं

  1. इम्पैक्ट प्रिण्टर
  2. नॉन इम्पैक्ट प्रिण्टर

1.इम्पैक्ट प्रिण्टर यह प्रिण्टर टाइपराइटर की तरह कार्य करता है। इसमें अक्षर छापने के लिए छोटे-छोटे पिन या हैमर्स होते हैं। इन पिनो पर अक्षर बने होते हैं। ये पिन स्याही से लगे हुए रीबन ओर उसके बाद पेपर पर प्रहार करते है, जिससे अक्षर पेपर पर छप जाते हैं।

इम्पैक्ट प्रिण्टर एक बार में एक कैरेक्टर या एक लाइन प्रिण्ट कर सकता है। ये प्रिण्टर दूसरे प्रिण्टर्स की तुलना में सस्ते होते हैं और प्रिण्टिंग के दौरान आवाज अधिक करते हैं, इसलिए इनका प्रयोग कम होता है।

These printers work like impact printers. These printers have pins or hammers. These printers can print only one letter or line at a time. These printers are cheap in comparison to other printers and make noise while printing.

इम्पैक्ट प्रिण्टर चार प्रकार के होते हैं-

  • (Dot Matrix Printers) डॉट मैट्रिक्स प्रिण्टर्स () डॉट मैट्रिक्स प्रिण्टर में पिनों की एक पंक्ति होती हैं जो कागज के ऊपरी सिरे पर रीबन पर प्रार करते हैं तो डॉट्स (dots)के रूप में कागज पर पड़ता है, जिससे अक्षर या चित्र छप जाते है।

इस प्रकार के प्रिण्टर को पिन प्रिण्टर भी कहते है। डॉट मैट्रिक्स प्रिण्टर एक बार में एक ही कैरेक्टर प्रिण्ट करता है। ये प्रिण्टर धीमे तथा आवाज करने वाले होते हैं।

The term dot-matrix refers to the process of placing dots to form an image. It uses print heads to shoot ink or strike an ink ribbon to place hundreds to thousands of little dots to form text or images.

It prints one character at a time. These printers are show and noisy that are not commonly used for personal computers.

 

You may also Like

Like Our Facebook Page for More CCC Question Answers

CCC Study Material and Notes in English and Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *