SSC CGL TIER 1 Mineral Salts Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Mineral Salts Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Mineral Salts Study Material In Hindi

खनिज लवण

SSC CGL TIER 1 Mineral Salts Study Material In Hindi
SSC CGL TIER 1 Mineral Salts Study Material In Hindi
  • ये शरीर के ऊतकों के निर्माण के लिए कच्चा पदार्थ, एन्जाइम तथा विटामिन के आवश्यक अंग हैं।
  • ये हमारे शरीर का लगभग 6.1% भाग बनाते हैं।

Essential Minerals Study Material In Hindi 

आवश्यक खनिज

खनिज तत्व

आवश्यक मात्रा तथा स्त्रोतमहत्व

कमी के प्रभाव

कैल्सियम (Calcium-Ca)900 मिग्रा; दूध, पनीर, हरी सब्जियाँ, फलियाँ, अनाज।दाँतों और हड्डियों की रचना; रुधिर-स्कन्दन तन्त्रिकओं एवं पेशियों के कार्य।दाँत व हड्डियाँ दुर्बल, शरीर-वृद्धि कुंठित; टिटैनी।
फॉस्फोरस (Phosphorus-P)900 मिग्रा; दूध, मांस, अनाजदाँतों और हड्डियों की रचना; अम्ल-क्षार सन्तुलन; ATP, DNA, RNA आदि का घटक।दाँत व हड्डियाँ दुर्बल, शरीर की वृद्धि एवं कार्यिकी कुंठित।
गन्धक (Sulpur-S)अज्ञात; अण्डे, माँस, पनीर, मछली, सेम।कई अमीनो अम्लों तथा कुछ हॉर्मोन्स एवं विटामिनों का घटक।प्रोटीन्स की कमी तथा प्रोटीन उपापचय की गड़बड़ियाँ।
पौटेशियम (Potassium-K)2-ग्राम; मांस, दूध, अनाज, फल, सब्जियाँ।अम्ल-क्षार सन्तुलन; जल-सन्तुलन तन्त्रिकाओं की कार्यिकी।निम्न रक्तचाप, पेशियों की दुर्बलता; अंगघात की आशंका।
क्लोरीन (Chlorin-Cl)3.2 ग्राम; खाने वाला नमकअम्ल क्षार सन्तुलन;  जठर रस का घटकभूख की कमी; पेशियों की ऐंठन।
सोडियम (Sodium-Na)1.5 ग्राम खाने वाला नमकअम्ल क्षार सन्तुलन जलन सन्तुलन तन्त्रिकाओं की कार्यिकीनिम्न रक्तचाप, भूख की कमी, पेशियों की ऐंठन
मैग्नीशियम (Magnesium-Mg)350 मिग्रा; अनाज, हरी सब्जियाँग्लाइकोलाइसिस तथा ATP पर आश्रित कई उपापचयी अभिक्रियाओं के एन्जाइमों का सहघटकउपापचयी अभिक्रियाओं की अनियमिताओं से विविध तन्त्रों की, मुख्यतया तन्त्रिका तन्त्र की कार्यिकी प्रभावित।
जिंक (Zinc-Zn)15 मिग्रा; अनाज, दूध, अण्डे, मांस, समुद्री भोजन।जल-अपघटन अर्थात् पाचन एन्जाइमों सहित अनेक (लगभग 80) एन्जाइमों का सहघटक।कुंठित वृद्धि, रक्तक्षीणता, खुरदरी त्वचा, दुर्बल सुरक्षा-तन्त्र, जनन-क्षमता की क्षय
लौह (Iron-Fe)12 मिग्रा; मांस, अण्डे, फलियाँ, अनाज, हरी सब्जियाँ।हीमोग्लोबिन तथा साइटोक्रोम एन्जाइमों का घटक।हीमोग्लोबिन की कमी से रक्तक्षीणता (anaemia) , दुर्बलता, शरीर का सुरक्षा-तन्त्र दुर्बल।
फ्लोरीन (Fluorine-F)2.5 मिग्रा; पीने वाला जल, चाय, समुद्री भोजनहड्डियों और दाँतों का रख-रखाव।दाँतों का दुर्बलता; आधिक्य से फलोरोसिस (flourosis) रोग जिसमें दाँत चितकबरे हो जाते हैं।
आयोडीन (Iodine-I)150 µg; दूध, समुद्री भोजन, नमक।थाइरॉक्सिन हॉर्मोन का महत्वपूर्ण घटकघेंघा, जड़मानवता।
ताँबा (Copper-Cu)2.0 मिग्रा; मांस, मेवा, फलियाँ, हरी सब्जियाँ,साइटोक्रोम ऑक्सिडेस एन्जाइम का सहघटक, लौह उपापचय तथा संयोजी ऊतकों और रुधिर वाहिनियों के विकास हेतु आवश्यक।रक्तक्षीणता, संयोजी ऊतकों और रुधिर वाहिनियों की दुर्बलता।
मैंगनीज (Manganese-Mn)3.5 मिग्रा; मेवा, अनाज, हरी सब्जियाँ, चाय, फल।यूरिया-संश्लेषण तथा फॉस्फेट समूह के स्थानान्तरण से सम्बन्धित अभिक्रियाओं के कुछ एन्जाइमों का सहघटक।उपास्थि, अस्थि तथा संयोजी ऊतकों की वृद्धि में अनियमितता।
कोबाल्ट (Cobalt-Co)अज्ञात; दूध, पनीर, मांस।विटामिन-B12 का महत्वपूर्ण घटक।रक्तक्षीणता।

Know Water Study Material In Hindi

जल

  • मानव शरीर में लगभग 65-75% जल होता है।
  • इसकी कमी से निर्जलीकरण हो जाता है
  • इसके मुख्य स्त्रोत तरल भोजन और पीने का जल है।
  • यह पाचन, परिवहन एवं उत्सर्जन में सहायक है।
  • यह पसीने एवं वाष्सन द्वारा शरीर का ताप नियन्त्रित करता है।

Know Roughage SSC CGL TIER 1

 मोटा चारा

  • यह शरीर को जल को नियन्त्रित करता है, तथा आहारनाल के मार्ग को साफ रखता है।
  • इसका मुख्य स्त्रोत सलाद, अनाजों की बाह्रा परत सब्जियाँ एवं दलिया है।
  • यह कुछ भोज्य पदार्थों में पाया जाने वाला तन्तुमय पदार्थ है।

SSC CGL Study Material Sample Model Solved Practice Question Paper with Answers

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

Leave a Comment

Your email address will not be published.