SSC CGL TIER 1 Peripheral Nervous System Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Peripheral Nervous System Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Peripheral Nervous System Study Material In Hindi

परिधीय तन्त्रिका तन्त्र (Peripheral Nervous System Or PNS)

SSC CGL TIER 1 Peripheral Nervous System Study Material In Hindi
SSC CGL TIER 1 Peripheral Nervous System Study Material In Hindi

यह 12 जोड़ी कपाल तन्त्रिकाओं (Cranial Nerves) तथा 31 जोड़ी मेरु तन्त्रिकाओं (Spinal Nerves) का बना होता है।

मनुष्य में 31 जोड़ी मेरु तन्त्रिकाएँ निम्न प्रकार से होती हैं

ग्रीवा — 8 जोड़ी

वक्षीय — 12 जोड़ी

लुम्बर — 5 जोड़ी

सेक्रल — 5 जोड़ी

कॉक्सीजियल — तन्त्रिकाएँ 1 जोड़ी

Autonomous Nervous System Study Material In Hindi

स्वायत्त तन्त्रिका तन्त्र

यह अनुकम्पी तथा परानुकम्पी तन्त्रिका तन्त्र में बाँटा होता है।

  • अनुकम्पी तथा परानुकम्पी तन्त्रिका तन्त्र एक दूसरे के विपरीत कार्य करते हैं तथा शरीर की सभी क्रियाओं की गतियों पर नियन्त्रण रखते हैं।
  • अनुकम्पी तन्त्रिका तन्त्र ह्रदय की धड़कन, आँसू, ग्रन्थियों के स्त्रावण, एड्रिनल ग्रन्थि के स्त्रावण, इन्सुलिन के स्त्रावण को बढ़ता है, जबकि परानुकम्पी तन्त्रिका तन्त्र इनके स्त्रावण को रोकता है।
  • अनुकम्पी तन्त्रिका तन्त्र आपातकाल तथा तनाव की स्थितियों में कार्य करता है, जबकि परानुकम्पी तन्त्रिका तन्त्र शान्ति तथा विश्राम की स्थितियों में कार्य करता है।

  • तन्त्रिका आवेग का संचरण एक न्यूरॉन के एक्सॉन से दूसरे न्यूरॉन के डेन्ड्राइट पर एक ही दिशा में होता है।
  • तन्त्रिका आवेग के संचरण में Na+, K+ तथा Ca+2 की भूमिका होती है।
  • यह सुप्त कला विभव (-80 mV) से क्रियात्मक विभव (+20 mV) का होता है।
  • मानव मस्तिष्क में 1010 से 1011 न्यूरॉन होते हैं।
  • परकिन्सन के रोग में न्यूरॉट्रान्समीटर डोपामीन का स्त्रावण कम होता है।
  • इलैक्ट्रोएन्सिफैलोग्राफ (EEG) मस्तिष्क के विभिन्न भागों की विद्युतीय सक्रियता की रिकॉर्डिंग है।
  • चीनी के मीठे स्वाद से मस्तिष्क द्वारा एण्डोरफिन का स्त्रावण प्रेरित होता है, इससे मस्तिष्क शान्त होता है।
  • एल्कोहॉल के प्रयोग से अनुमस्तिष्क प्रभावित होता है, अत: पेशियों की क्रियाओं में समन्वय नहीं हो पाता और इसी के कारण शराबी लडखड़ा कर चलता है।

संवेदी अंग

  • संवेदी तन्त्रिकाएँ उद्दीपनों को मस्तिष्क तक पहुँचाती हैं तथा आवश्यकतानुसार चालक तन्त्रिका तन्तुओं द्वारा इन्हें प्रतिक्रियाओं के रुप में अपवाहक अंगों को भेज दिया जाता है।
  • मनुष्य के प्रमुख संवेदी अंग कान, आँख, नाक, त्वचा तथा जीभ हैं।

SSC CGL Study Material Sample Model Solved Practice Question Paper with Answers

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

Leave a Comment

Your email address will not be published.