M1 R4 Accessories Essentials de Windows Study Material in Hindi

M1 R4 Accessories Essentials de Windows Study Material in Hindi

M1 R4 Accessories Essentials de Windows Study Material in Hindi : इस पोस्ट में आपकों मिलेगी आवश्यक विंडोज ऐक्सेसरीज (Accessories Essentials de Windows) और इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे शॉर्टकट् (Shortcuts) आदि के विषये में महत्वपूर्ण जानकारी।

M1 R4 Accessories Essentials de Windows Study Material in Hindi
M1 R4 Accessories Essentials de Windows Study Material in Hindi

 

M1 R4 आवश्यक विंडोज ऐक्सेसरीज (Accessories Essentials de Windows)  Study Material Notes in Hindi

M1 R4 शॉर्टकट् Study Material in Hindi

शॉर्टकट एक छोटी फाइल है जो एक प्रोग्राम, डॉक्यूमेंट, फोल्डर या इंटर्नेट ऐड्रेस से जुड़ी होती है। इस फाइल को एक आयकन द्वारा दर्शाया जाता है जिसमें एक ऐरों इसके निचले बाएँ कोने पर होता है।

शॉर्टकट एक फाइल या फोल्डर से जुड़ा होता है चाहें वह फाइल फोल्डर कहीं भी स्थित हों जैसे लोकन हार्डडिस्क, सीडी रॉम ड्राइव या फ्लॉपीडिस्क पर।

M1 R4 एक शॉर्टकट बनाना Study Material Notes in Hindi

एक शॉर्टकट को निम्न तरीके से बनाया जा सकता है:

  • कट एवं पेस्ट का इस्तेमाल करके या
  • क्रिएट शॉर्टकट विज्रार्ड का इस्तेमाल करके।

शॉर्टकट एवं पॉइंटर है जो खुद ऑब्जेक्ट न होकर, केवल ऑब्जेक्ट को दर्शाने के लिए बनाया जाता है। इसका अर्थ है कि आप शॉर्टकट को बना सकते हैं या डिलीट कर सकते हैं लेकिन इससे ऑब्जेक्ट या फाइल जिसके लिए यह बनाया गया है, उसको कोई फर्क नहीं पड़ता है।

कॉपी एवं पेस्ट द्वारा शॉर्टकट बनाने के लिए:

  1. उस आइटम पर राइट क्लिक करों जिसके लिए आप शॉर्ट कट बनाना चाहते हैं।
  2. कॉन्टेक्स्ट मेन्यू से कॉपी चनों
  3. अब डेस्कटॉप पर राइट क्लिक करके, कॉन्टेक्स्ट मेन्यू में से पेस्ट को चुनों

क्रिएट शॉर्टकट विज़ार्ड से शॉर्टकट बनाने के लिए:

  1. डेस्कटॉप पर राइट क्लिक करो, कॉन्टेक्स्ट मेन्यू में से न्यू और शॉर्टकट को चुनो।
  2. क्रिएट विज़ार्ड की तरह साने दिखाई देगा।
  3. ब्राउज़ बटन पर क्लिक करों। ब्राउज़ फॉर फोल्डर डायलॉग बाक्स में उस आइटम को ढूँढों जिसके लिए आप शॉर्टकट बनाना चाहते हैं।
  4. OK बटन पर क्लिक करो। इसके बाद विजार्ड वापस इसके पहले डायलॉग बाक्स में लौट आता है जिसमें Type the location of the item वाला बॉक्स भरा होता है।
  5. Next पर क्लिक करों। शॉर्टकट के लिए एक नाम टाइप करों Finish पर क्लिक करों एवं आपका शॉर्टकट आपके सामने होगा।

M1 R4 एक शॉर्टकट को रीनेम करना Study Material Notes in Hindi

जब आप एक शॉर्टकट बनाते हैं, विंडोज इसे एक डिफॉल्ट नाम दे देता है जो उस ऑब्जेक्ट के अनुसार होता है।

इस शॉर्टकट नाम को बदलने के लिए:

  1. शॉर्टकट पर राइट क्लिक करों
  2. कॉन्टेक्स्ट मेन्यू में से Rename चुनों
  3. आप जो नाम चाहते हैं उसे टाइप करो।

एक शॉर्टकट को डिलीट करना

एक शॉर्टकट को डिलीट करने के लिए:

आयकन को सिलेक्ट करके (Del) key दबाओं। या डिलीट किए जाने वाले शॉर्टकट पर राइट क्लिक करके फिर कॉन्टेक्स्ट मेन्यू में से डिलीट को चुनों।

विंडोज डिलीशन से पहले आप से कन्फर्मेशन चाहता है।

M1 R4 आवश्यक विंडोज ऐक्सेसरीज Study Material Notes in Hindi

विंडोज के ऐक्सेसरीज समूह में कुछ यूटिलिटी सॉफ्टवेयर पैकेज होते हैं जैसे: सिस्टम टूल्स, एंटरटेनमेंट, कैलकुलेटर, फैक्स, नोटपैड, वर्डपैड आदि।

M1 R4 सिस्टम टूल्स Study Material Notes in Hindi

ऐक्सेसरीज का सिस्टम टूल्स ऑप्शन कम्प्यूटर सिस्टम की व्यवस्था के लिए टूल्स का एक सैट प्रदान करता है। इसमें डिस्क डीफ्रैग्रमेंटट, डिस्क क्लीनअप, बेकअप, शिड्यूलिंग आदि होते हैं।

डिस्क डीफ्रैग्मेंटर (Disk Defragmenter)

डिस्क डीफ्रैग्मेंटर, कम्प्यूटर हार्डडिस्क में विभाजित फाइल्स एवं फोल्डर्स को इकटठा करता है, ताकि प्रत्येक फाइल को वॉल्यूम पर एक सिंगल एवं सटी हुई जगह मिल सके। इसके परिणाम स्वरूप, आपका सिस्टम फाइल्स एवं फोल्डर्स को अधिक कुशलता से ऐक्सेस कर सकता है एवं नई फाइल्स/ फाल्डर्स को प्रभावी ढंग से सेव करता है। फाइल्स एवं फोल्डर्स को इकट्ठा करने से डिस्क डीफ्रैग्मेंटर, वॉल्यूम की खाली जगह को भी इकटठका करके, ऩई फाइल्स के विभाजन की संभावना को कम करता है।

डिस्क डीफ्रैग्मेंटर को खोलने के लिए:

  1. स्टार्ट बटन को क्लिक करो। ऑल प्रोग्राम को चुनो। ऐक्सेसरीज को हाईलाईट करो, सिस्टम टूल्स को हाइलाइट करों और इसके बाद डिस्क डीफ्रैग्मेंटर को चुनों। डिस्क डीफ्रैग्मेंटर अनुसार खुलेगा।

डीफ्रैग्मेंटेशन को स्टार्ट करने के लिए डीफ्रैग्मेंट बटन पर क्लिक करो।

डिस्क क्लीनअप

डिस्क क्लीनअप का प्रयोग आप अपनी हार्ड डिस्क में जगह खाली करने के लिए कर सकते हैं। इससे आप अस्थाई इंटरनेट फाइल्स, इन्स्टॉल किए गए कंपोनेंट्स और प्रोग्राम जिन्हें आप काफी दिनों से इस्तेमाल नहीं कर रहे हैं, हटा सकते हैं एवं इसके साथ साथ रीसायकल बिन को भी खाली कर सकते हैं।

डिस्क क्लीनअप को खोलने के लिए:

  1. स्टार्ट बटन पर क्लिक करो, ऑल प्रोग्राम को हाईलाइट करो, ऐक्सेसरीज को हाईलाइट करो, ऑल प्रोग्राम को हाईलाइट करो, ऐक्सेसरीज को हाईलाइट करो, सिस्टम टूल्स को हाईलाइट करों और इसके बाद डिस्क क्लीनअप को चुनो।
  2. जिस ड्राइव को आप साफ करना चाहते हैं, उसे चुनकर OK पर क्लिक करो।

डिस्क क्लीनअप, आपकी हार्ड ड्राइव में खाली जगह बनाने मे आपकी मदद करता है। यह आपकी ड्राइव में खोज कर अस्थाई फाइल्स, केश फाइल्स एवं अनावश्यक प्रोग्राम फाइल्स जिन्हें आप सुरक्षित तरीके से डिलीट कर सकते हैं, उन्हें दिखाता है। आप इनमें से सभी या कुछ फाइल्स को डिलीट करने के लिए डिस्क क्लीनअप को निर्देश दे सकते हैं।

टास्क शिड्यूलर

यह एक टूल है जो डिस्क पर टास्क को शिड्यूल करने (जैसे डिस्क डीफ्रैग्मेंटर) में आप को सक्षम बनाता है। इन कार्यों को आपकी सुविधा अनुसार नियमित रूप से रन करने में यह आप की मदद करता है। टास्क शिड्यूलर, विंडोज के हर बार स्टार्ट होने पर ही स्टार्ट हो जाता है और बैक ग्राउंड में चलता रहा है।

एक शिड्यूलर टास्क को मॉडिफाई करने के लिए:

  1. स्टार्ट बटन पर क्लिक करो, ऑल प्रोग्राम्स को चुनों, ऐक्सेसरीज को हाईलाइट करो, ऐक्सेसरीज को हाईलाइट करो, सिस्टम टूल्स को हाईलाइट करों और इसके बाद डिस्क क्लीनअप को चुनों।
  2. जिस ड्राइव को आप साफ करना चाहते है, उसे चुनकर OK पर क्लिक करो।
  3. डिस्क क्लीनअप, आपकी हार्ड ड्राइव में खाली जगह बनाने में आपकी मदद करता है। यह आपकी ड्राइव में खोज कर अस्थाई फाइल्स, कैश फाइल्स एवं अनावश्यक प्रोग्राम फाइल्स जिन्हे आप सुरक्षित तरीके से डिलीट कर सकते हैं, उन्हें दिखाता है। आप इनमें से सभी या कुछ फाइल्स को डिलीट करने के लिए डिस्क क्लीनअप को निर्देश दे सकते हैं।

टास्क शिड्यूलर (Task Schedular)

  1. यह एक टूल है जो डिस्क पर टास्क को शिड्यूल करने (जैसे डिस्क डीफ्रैग्मेंटर) में आप को सक्षम बनाता है। इन कार्यों को आपकी सुविधा अनुसार नियमित रूप से रन करने में यह आप की मदद करता है। टास्क शिड्यूलर, विंडोज के हर बार स्टार्ट होने पर ही स्टार्ट हो जाता है और बैक ग्राउंड में चलता रहा है।
  2. एक शिड्यूलर टास्क को मॉडिफाई करने लिए:
  3. स्टार्ट बटन पर क्लिक करो, ऑल प्रोग्राम्स को चुनों, ऐक्सेसरीज को हाईलाइट करो, सिस्टम टूल्स को हाइलाइट करो, अब शिड्यूल्ड टास्क को चुनो।

उस टास्क पर राइट क्लिक करों जिसे आप मॉडिफाई करना चाहते हैं और फिर प्रॉपर्टीज पर क्लिक करो।

आप जिस प्रोग्राम को रन करना चाहते हैं, उसे बदलने के लिए, रन बॉक्स में टास्क के पाथ को टाइप करके, ब्राउज पर क्लिक करो। टास्क के शिड्यूल को बदलने के लिए, शिड्यूल टैब पर क्लिक करो। टास्क लिए सैटिंग्स को कस्टमाइज करने के लिए, सैटिंग्स टैब पर क्लिक करो।

आपके सैटिंग ऐप्लाई किए जाने के बाद आप प्रोग्राम को शिड्यूल टास्क विंडो में देखेगें

M1 R4 मनोरंजन  (Entertainment) Study Material in Hindi

विंडोज मीडिया प्लेयर, साउंड रिकॉर्डर, वॉल्यूम कंट्रोल आदि एंटरटेनमेंट टूल्स होते हैं जो आप को ऑडियो, विडियों या ऐनमेशन फाइल्स को प्ले करने की सुविधा देते हैं। साथ ही ये आप को मल्टीमीडिया हार्डवेयर करने की सुविधा देते हैं। साथ ही ये आप को मल्टीमीडिया हार्डवेयर डिवाइसिस की सैटिंग्स कंट्रोल करने की अनुमति देते हैं। साउंड सुनने के लिए जब भी आप मीडिया प्लेयर का प्रयोग करते हैं, तो आप के कम्प्यूटर में साउंड कार्य इन्स्टॉल होना आवश्यक है।

साउंड फाइल्स की रिकॉर्डिग

आप मीडिया प्लेयर या साउंड रिकॉर्डर का प्रयोग करके साउंड फाइल्स को प्ले कर सकते हैं तथा ऑडियों एवं वीडियों सीडी चलने के लिए सीडी प्लेयर का उपयोग कर सकते हैं।

साउंड रिकॉर्डिग

स्टार्ट बटन पर क्लिक करो, ऑन प्रोग्राम्स को चुनो, ऐक्सेसरीज को हाई लाइट करो, एंटरटेनमेंट को हाई लाइट करो और इसके बाद साउंड रिकॉर्डर को चुनो। साउंड रिकॉर्डर विंडों की तरह दिखाई देगी।

मीडिया प्लेयर से साउंड फाइलों को प्ले करना

मीडिया प्लेयर को खोलने के लिए, स्टार्ट बटन पर क्लिक करो, ऑन प्रोग्राम्स को चुनों, ऐक्सेसरीज को हाईलाइट करो, ऐटरटेनमेंट को हाईलाइट करो, इसके बाद मीडिया प्लेयर को चुनों। विंडो मीडिया प्लेयर के अनुसार दिखाई देगा।

एक साउंड फाइल को प्ले करने के लिए:

  1. फाइल (File) मेन्यू को क्लिक करों और ओपन (Open) को चुनों या (Ctrl) + (O) key को एक साथ दबाओं। ओपन डायलॉग बॉक्स सामने आएगा।
  2. इस डायलॉग बॉक्स में, फाइल की लोकेशन स्पेसिफाई (Specify) करो फाइल ऑफ टाइप बॉक्स, में से उस फाइल को चुनों जिसे आप प्ले करना चाहते हैं और इसके बाद ओपन पर क्लिक करके फाइल को खोलो।
  3. निचले बाएँ कोने में स्थित प्ले बटन पर क्लिक करों जिससे साउंड प्ले होगी।
  4. स्पॉप बटन पर क्लिक करने से साउंड प्लेइंग स्टॉप हो जाएगी।
  5. यदि आप साउंड फाइल को अंत से शुरू में मूव कराना चाहते हैं तो आप को प्रीवियस बटन दबाना होगा।
  6. यदि आप साउंड फाइल को शुरू से अंत में लाना चाहते हैं तो आपका नेक्स्ट बटन पर क्लिक करना होगा।

M1 R4 कैलकुलेटर (Calculator) Study Material in Hindi

विंडोज XP में उपलब्ध कैलकुलेटर कैलकुलेशन (गणना) करने के लिए उपयोगी है जब भी आप किसी अन्य विंडों में काम कर रहे होते है के लिए उपयोगी है जब भी आप किसी अन्य विंडों में काम कर रहे होते हैं।कैलकुलेटर के दो ऑप्शन होते हैं, स्टैडर्ड कैलकुलेटर एवं साइंटिफिक कैलकुलेटर। स्टैडर्ड कैलकुलेटर वो होता है जो सरल ऐरिथमैटिक करता है साइटिफिक कै3लकुलेटर का प्रयोग साइंटिस्ट, इंजीनियर एवं चार्टेड अकाउंटेट द्वारा अधिक जटिल गणनाएँ करने के लिए किया जाता है।

M1 R4 कैलकुलेटर का इस्तेमाल करने के लिए: Study Material Notes in Hindi

  1. स्टार्ट बटन पर क्लिक करो, ऑन प्रोग्राम को चुनों, एकेसेसरीज को हाईलाइट करों और इसके बाद कैलकुलेटर को चनों।
  2. कैलकुलेटर प्रोग्राम स्टैंडर्ड व्यू में खुलता है। साइटिफिक कैलकुलेटर का प्रयोग करने के लिए व्यू मेन्यू खोल कर साइंटिफिक को चुनना होता है।

स्टैंडर्ड कैल्कुलेटर का प्रयोग जोड़ने, घटाने, गुणा करने एवं भाग करने के लिए होता है। आप इससे स्केवैययर रूट पर्सेटेज एवं मल्टिप्लेकेटिव इन्वर्स भी निकाल सकते हैं।

साइंटिफिक कैलकुलेटर, स्टैडर्ड कैलकुलेटर से काफी बड़ा होते हैं एवं अधिक शक्तिशाली होते हैं। इसमें कई फंक्शन होते हैं जिनका प्रयोग अधिक ऐडवांस्ड साइंटिफिक कैलकुलेशन में किया जाता है।

M1 R4 नोट पैड Study Material Notes in Hindi

नोट पैड भी  एक्सेसरीज ग्रुप का ही एक प्रोडक्ट है। इसका प्रयोग नोट्स ई-मेल मैसेज आदि लिखने में किया जाता है। यह सभी टेक्स्ट डाटा का स्टोर करने एवं ऐडिट करने में सहायक है।

नोट पैड को स्टार्ट करने के लिए:

स्टार्ट बटन पर क्लिक करों, ऑल प्रोग्राम्स को चुनों, ऐक्सेसरीज को हाईलाइट करों और फिर नोट पैड को चनो। नोट पैड विंडो दिखाई देगी।

नोट पैड में न्यू फाइल को खोलने के लिए, फाइल मेन्यू पर क्लिक करके न्यू को चनो।

एक बनी हुई फाइल को खोलने के लिए फाइल मेन्यू को खोलकर ओपन चुनो। ओपन डायलॉग बॉक्स में, आप जिस फाइल को खोलना चाहते हैं, उसका नाम और लोकेशन टाइप करो। ओपन पर क्लिक करो।

नोट पैड से आप .BAT, .SYS, .INI एवं  .TXT ऐक्सटेंशन वाली फाइल्स खोल सकते हैं कारण ये सभी फाइल्स ASCII कोड में होती है।

नोट पैड फाइल्स को बंद करने के लिए:

नोट पैड ऐप्लीकेशन को बंद करों

नोट पैड ऐप्लीकेशन को बद करने के लिए फाइल मेन्यू पर क्लिक करके एक्जिट को चुनों या (Alt)+ F4 key को एक सा दबाओ।

M1 R4 पेंट (Paint ) Study Material in Hindi

MS पेंट एक ग्राफिकल प्रोग्राम है जिसका प्रयोग पिक्चर आदि बनाने में किया जा सकता है। यह एक बिटमैप्ड प्रोग्राम है। यह पिक्चर को बिंदुओं से बनाता है कम्प्यूटर की स्क्रीन ढेर सारी छोटी छोटी बिंदुओं में बँटी होती हैं इन्हें पिक्चर ऐलीमेंट्स या पिक्सेल कहते हैं। ये आप के द्वारा भी कंट्रोल किए जा सकते हैं।

एक बिट बिजली के स्विच की तरह होता है जिसे या तो  ON अथवा OFF किया जा सकता है। अत: एक ड्रॉइंग डॉट मैट्रिक्स से बनती है जिन्हें ऑन या ऑफ किया गया होता है

MS पेंट को स्टार्ट करना

पेंट प्रोग्राम को स्टार्ट करने के लिए:

स्टार्ट बटन को क्लिक करें, ऑन प्रोग्राम्स को चुनो, ऐक्सेसरीज को हाईलाइट करो और इसमें से पेंट को चुनो। पेंट एक नई फाइल के साथ खुलेगा

MS पेंट में ड्रॉइंग बनाने की प्रक्रिया

पेंट में ड्रॉइंग बनाने की सामान्य प्रक्रिया इस प्रकार है:

ड्राइंग टूल को सिलेक्ट करो: प्रत्येक ड्राइंग टूल एक विशेष प्रकार को ऑब्जेक्ट के लिए प्रयोग होता है। स्क्रीन के बाई तरफ के टूलबॉक्स में ड्रॉइंग टूल्स होते हैं। जिस टूल को आप इस्तेमाल करना चाहते हैं उसे सिलेक्ट करे।

लाइन साइज़ बॉक्स में से लाइन की चौड़ाई को चुनो: जितनी चौड़ी लाइन आप रखना चाहते हैं, उस पर क्लिक करके उसे चुनों

एक फोरग्राउंड कलर चुनो: फोरग्राउंड कलर का प्रयोग विभिन्न आकृतियों एवं टेक्स्ट के लाइन बार्डर के लिए होता है। एक फोरग्राउंड कलर चुनने के लिए, कलर पैटर्न पैलेट में से उपयुक्त कलर बॉक्स पर पॉइंट करके माउस के बाएँ बटन से क्लिक करो।

एक बैकग्राउंड कलर चनों: बैकग्राउंड कलर का प्रयोग आकृतियों के भीतर एवं टेक्स्ट फ्रेम के बैकग्राउंड में रंग भरने के लिए होता है। यहाँ आप इरेजर का प्रयोग भी कर सकते हैं।

बैकग्राउंड कलर चुनने के लिए, माउस से पैलेट में उपयुक्त बॉक्स को पॉइंट करके माउस के राइट बटन से क्लिक करो।

M1 R4 वर्ड पैड (Word Pad) Study Material Notes in Hindi

वर्ड पैड एक वर्ड प्रोसेसर होता है जो विंडोज XP में इन बिल्ट होता है। इसमें MS वर्ड से कम वर्ड प्रोसेसिंग की सुविधाएं होती हैं।

वर्ड पैड को स्टार्ट करने के लिए:

स्टार्ट बटन पर क्लिक करो, ऑन प्रोग्राम्स को चुनो, ऐक्सेसरीज को हाईलाइट करो एवं इसमें से वर्ड पैड को चनो।

वर्ड पैड को ओपनिंग स्क्रीन दिखाई देगी। इस में वर्ड पैड स्क्रीन  के विभिन्न ऐलीमेंटों को दिखाया गया है। वर्ड पैड से आप एक डॉक्यूमेंट को खोल कर उसे एडिट भी कर सकते हैं।

वर्ड पैड में MS वर्ड की तरह ऐडवांस्ड सुविधाएँ नहीं होती हैं लेकिन इसमें कई ऐसे फ़ॉर्मेटिंग टूल्स होते हैं जिनकी जरूरत आपकों लेटर, मेनों आदि बनाते समय पड़ती हैं।

गेम्स विंडोज में निम्न गेम्स होते हैं:

फ्रीसेल (Free Cell): फ्रीलेल का उददेश्य सभी कार्ड्स (ताश के पत्तों) को होम सेल में मूव करान और फ्रीसेल को प्लेस होल्डर की तरह से इस्तेमाल करना। जीतने के लिए आपकों होम सेल पर कॉर्ड्स की चार ढेरियाँ बनानी होती हैं, प्रत्येक सूट (Suit) के लिए एक, और इन्हें क्रमानुसार सजाना होता है, नीचे से ऊपर की ओर (Ace to King ) गेम के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप हेल्प फाइल पढ़ सकते हैं।

माई स्वीपर (Minesweeper): माइनस्वीपर गेम का उददेश्य है सभी माइनों (mines) को जल्दी से जल्दी खोज निकालना बिना किसी को पलटे हुए

सॉलिटेयर ( Solitaire): सॉलिटेयर का उददेश्य है डेक के सभी कार्ड्स का इस्तेमाल करके चार सूट की ढेरियाँ छोटे से बड़े क्रम में बनाओं जो Ace  से शुरू होती हों।

स्पेस कैडेट 3D पिनबॉल: इस गेम का मुख्य उददेश्य होता है एक बॉल को बंपर, टार्गेट और फ्लैग पर जोर से टक्कर मारना और उससे पॉइंट या अंक बनाना होता है। यह गेम रैंक के आधार पर नौं भागों में बँटा होता है। कौडेट सबसे चीचे की और फ्लीट ऐडमिरल सबसे ऊपर की रैक होती है। अगली रैंक तक पहुँचने के लिए इसमें बनी मिशन की सीरीज को पूरा करना पड़ता है। जैसे जैसे आप आगे बढ़ते हैं आपकों नया और कठिन मिशन मिलता जाता है। उच्च रैंक और अधिक पॉइंट वाला व्यक्ति जीतता है। अपनी क्षमता के अनुसार प्रत्येक गेम को तीन बॉल औ कैडेट रैंक से शुरू कर सकते हैं और जैसा आप खेले उसके अनुसार आपको अतिरिक्त बॉल और ऊँचाई मिलती जाती है।

M1 R4 इमेजिंग (Imaging) Study Material Notes in Hindi

विभिन्न प्रकार के ग्राफिक डॉगक्यूमेंट्स को खोलकर अथवा एक स्कैनर या डिजिटल कैमरे से स्कैन की गई इमेजेस को सीधे इमेजिंग में भेजकर आप इमेजिंग का प्रयोग इमेजेस को लोड करने के लिए कर सकते हैं। आप इमेजेस को ई-मेल, प्रिंट अथवा ऐनोटेट भी कर सकते हैं।

इमेजिंग के प्रयोग को स्टार्ट करने के लिए:

स्टार्ट बटन को क्लिक करो, ऑल प्रोग्राम मेन्यू आइटम को हाइलाइट करो, ऐक्ससरीज़ ग्रुप को चुनों और इमेजिंग को चुनो।

इमेंजिंग प्रोग्राम की तरह खुल जाता है।

फैक्स (Fax) आपके कम्प्यूटर में उपलब्ध फैक्स की पूरी सुविधा का आप प्रयोग कर सकते हैं। आप फैक्स सैटिंग्स को कन्फिगर (Configure) कर सकते हैं, फैक्स संदेशों को भेज सकते हैं व प्राप्त कर सकते हैं, फैक्स की गतिविधि पर नज़र रख सकते हैं एवं पहले से स्टोर किए गए फैक्सों को ऐक्सेस कर सकते हैं। कम्प्यूटर से जुड़ी एक लोकल फैक्स डिविस से या एक रिमोट फैक्स डिवाइस जो किसी नेटवर्क पर होती है, से आप फैक्स भेज/ प्राप्त कर सकते हैं।

फैक्स को डीफ़ॉल्ट से विंडोज सैटअप के दौरान/ इन्स्टॉल नहीं किया जाता है।

फैक्स कंपोनेंट को इन्स्टॉल करने के लिए:

कंट्रोल पैनल में  Add या Remove प्रोग्राम पर क्लिक करो।

जो डायलॉग खुलता है उसमें  Add/Remove विंडों कंपोनेंट पर क्लिक करो।

विंडोज कंपोनेंट विजार्ड में फैक्स सर्विसेज चैकबॉक्स को सिलेक्ट करो। इसके बाद स्क्रीन पर आने वाले सभी निर्देशनों का पालन करो।

इन्टॉलेशन के बाद फैक्स को खोलने के लिए: स्टार्ट मेन्यू पर क्लिक करो, ऑल प्रोग्राम को हाईलाइट करों, ऐक्सेसरीज को हाईलाइट करो, कम्यूनिकेशन को हाईलाइट करके फैक्स कंसोल पर क्लिक करो।

Life Our Facebook Page

See Also : O Level Study Material Notes Sample Model Practice Question Papers with Answers

Leave a Comment

Your email address will not be published.