SSC CGL TIER 1 Seasons Of India Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Seasons Of India Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Seasons Of India Study Material In Hindi

भारत की ऋतुएँ

भारतीय मौसम विभाग ने भारत की वार्षिक जलवायु की अवस्थाओं के आधार पर वर्ष को चार ऋतुओं में बाँटा है

  1. शीत ऋतु ग्रीष्म ऋतु   3. वर्षा ऋतु   4. शरद् ऋतु।

इसमें शीत ऋतु एवं ग्रीष्म ऋतु में उत्तर–पूर्वी मानसून का आगमन होता है तथा वर्षा ऋतु एवं शरद ऋतु में पश्चिमी मानसून का आगमन होता है।

Traditional Seasons Of India For SSC CGL TIER 1

भारत की परम्परागत ऋतुएँ

भारतीय परम्परा के अनुसार वर्षों को द्वीमासिक छ: ऋतुओं में बाँटा जाता है। उत्तरी और मध्य भारत में लोगों द्वारा अपनाए जाने वाले इस ऋतु–चक्र का आधार, उनका अपना अनुभव और मौसम के घटक का प्राचीन काल से चला आया ज्ञान है, लेकिन ऋतुओं की यह व्यवस्था दक्षिण भारत की ऋतुओं से मेल नहीं खाती, जहाँ ऋतुओं में थोड़ी भिन्नता पाई जाती है।

ऋतु

भारतीय कैलेण्डर के अनुसार

अंग्रेजी कैलेण्डर के अनुसार

बसन्तचैत्र–बैसाखमार्च–अप्रैल
ग्रीष्मज्येष्ठ–आषाढ़मई–जून
वर्षाश्रावण–भाद्रपदजुलाई–अगस्त
शरदआश्विन–कार्तिकसितम्बर–अक्टूबर
हेमन्तमार्गशीष–पौषनवम्बर–दिसम्बर
शिशिरमाघ–फाल्गुनजनवरी–फरवरी

Know Power Points For SSC CGL TIER 1

पावर प्वॉइन्ट्स

  • भारत में मानसून के द्वारा होने वाली वर्षा का 80% भाग पर्वतीय वर्षा के रुप में होता है।
  • विश्व में सबसे अधिक वर्षा मासिनराम (मेघालय) में होती हैं।
  • भारत में सबसे कम वर्षा लेह में होती है।
  • ऊपरी अधोमण्डल में तीव्रगामी वायुधारा को जेट प्रवाह कहते हैं।
  • भारत में जनवरी माह में (शीत ऋतु) जेट स्ट्रीम की स्थिति हिमालय के दक्षिण की ओर पश्चिम से पूर्व दिशा की ओर होती है।
  • पश्चिमी विक्षोभों द्वारा भारत से पूर्व दिशा की ओर होती है।
  • भारत का कोरोमण्डल तट (तमिलनाडु) लौटते हुए मानसून द्वारा शीत ऋतु में वर्षा प्राप्त करता है।
  • प्रत्यावर्तित मानसून बंगाल की खाड़ी से आर्द्रता ग्रहण करता है।
  • जेट प्रवाह की पश्चिमी शाखा भारत में शीतकालीन चक्रवात लाने में सहायक होती है।
  • हिमालय पर्वत श्रेणी देश में महाद्वीपीय जलवायु की स्थितियाँ उत्पन्न करता है।
  • पंजाब में मानसून ठहरने की अवधि देश में सबसे कम पाई जाती है।
  • मेघालय में सर्वाधिक वर्षा का कारण बंगाल की खाड़ी की अधिक आर्द्र हवाओँ का यहाँ सीधा टकराना एवं गारो, खासी एवं जयन्तिया पहाड़ियों की कीपनुमा आकृति का होना है।
  • जम्मू–कश्मीर एवं तमिलनाडु के कुछ भागों में वर्षा ऋतु में वर्षा नहीं होती है।
  • उत्तर–पूर्वी भारत में मानसून की अनियमितता सबसे कम पाई जाती है।

SSC CGL Study Material Sample Model Solved Practice Question Paper with Answers

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

Leave a Comment

Your email address will not be published.