68500 Assistant Teacher Bharti Hamaari Sanskrtik Viraasat Social Study Question Paper in Hindi

68500 Assistant Teacher Bharti Hamaari Sanskrtik Viraasat Social Study Question Paper in Hindi

68500 Assistant Teacher Bharti Hamaari Sanskrtik Viraasat Social Study Question Paper in Hindi

हमारी सांस्कृतिक विरासत

68500 Assistant Teacher Bharti Hamaari Sanskrtik Viraasat Social Study Question Paper in Hindi
68500 Assistant Teacher Bharti Hamaari Sanskrtik Viraasat Social Study Question Paper in Hindi

प्रश्न – कुषाण काल में उत्तर-पश्चिमी सीमा पर किस कला का विकास हुआ?

उत्तर – गांधार कला।

प्रश्न – गांधार कला किस विदेशी कला से प्रभावित थी?

उत्तर – यूनानी और रोमन।

प्रश्न – ‘गांधार कला’ बौद्ध धर्म की किस शाखा से प्रभावित थी?

उत्तर – महायान शाखा से।

प्रश्न – गांधार कला का विषय किससे सम्बन्धित है?

उत्तर – बुद्ध के जीवन की घटनाओं व जातक कथाओं से।

प्रश्न – गांधार कला की ही भांति भारत में ईसा की प्रारम्भिक शताब्दियों में किस अन्य कला का विकास हुआ?

उत्तर – मथुरा कला का।

प्रश्न – मथुरा कला में किसकी मूर्तियों का निर्माण किया गया?

उत्तर – बुद्ध और बोधिसत्व की।

प्रश्न – गुफा स्थापत्य कला के अन्तर्गत किन स्मारकों का निर्माण किया गया?

उत्तर – चैत्य, विहार, मंडप, रथ और गुफा मंदिर।

प्रश्न – त्रिमूर्ति के दर्शन किस गुफा के स्थापत्य में होते हैं?

उत्तर – एलीफैण्टा।

ध्यान दें-

गुफा स्थापत्य कला भारतीय स्थापत्य कला का एक प्रमुख प्रकार है। ईसा पूर्व दूसरी शताब्दी से लेकर दसवीं शताब्दी तक के समय में एक हजार से अधिक गुफायें निर्मित की गईं। इनमें अधिकतर बौद्ध गुफायें हैं। कुछ जैन और हिंदू गुफायें भी हैं। अजंता, एलोरा, एलीफैण्टा और महाबलीपुरम के रथ मंदिर इस कला के प्रमुख उदाहरण हैं।

प्रश्न – अजंता में कुल कितनी गुफायें हैं?

उत्तर – 29।

प्रश्न – एलोरा में गुफाओं की कुल कितनी संख्या है?

उत्तर – 34।

प्रश्न – कांची के कैलाश मंदिर का निर्माण किस वंश के द्वारा कराया गया?

उत्तर – पल्लव वंश द्वारा।

प्रश्न – एलोरा के कैलाश मंदिर का निर्माण किसने करवाया?

उत्तर – कृष्ण प्रथम (राष्ट्रकूट शासक) ने।

प्रश्न – ‘गंगावतरण’ सम्बन्धी शानदार फलक स्थापत्य कला का उत्तम नमूना कहां से प्राप्त हुआ है?

उत्तर – ‘महाबलीपुरम’ से।

प्रश्न – महाबलीपुरम के रथ मंदिरों का नाम किसके नाम पर रखा गया है?

उत्तर – पांडवों के नाम पर।

प्रश्न – मंदिर स्थापत्य कला का प्रारम्भ किस काल में हुआ?

उत्तर – गुप्त काल में।

प्रश्न – वृहदीश्वर मंदिर का निर्माण किस चोल शासक के काल में करवाया गया?

उत्तर – राजराज चोल के।

प्रश्न – पाण्डय शासकों के काल में मंदिर वास्तु की किस शैली का प्रारम्भ हुआ?

उत्तर – ‘गोपुरम’ शैली का।

प्रश्न – होयसल शासकों ने किन स्थानों पर प्रसिद्ध मंदिरों का निर्माण करवाया?

उत्तर – हलेबिड और बेलूर में।

प्रश्न – सूर्य को समर्पित प्रसिद्ध सूर्य मंदिर उड़ीसा में किस स्थान पर निर्मित है?

उत्तर – कोणार्क में।

प्रश्न – यह सूर्य मंदिर किस अन्य नाम से जाना जाता है?

उत्तर – ब्लैक पैगोडा।

प्रश्न – होयसल मंदिर किन विशेषताओं के लिये प्रसिद्ध हैं?

उत्तर – नक्काशी वाले स्तम्भ, फलक और सुंदर मूर्तिकला के लिए।

प्रश्न – आबू पर्वत (अर्बुदाचल) पर किसने सफेद संगमरमर के मंदिरों का निर्माण करवाया?

उत्तर – सोलंकी वंश (गुजरात) ने।

प्रश्न – सोलंकी शासकों ने किस धर्म से सम्बन्धित मंदिरों का निर्माण करवाया?

उत्तर – जैन धर्म से।

प्रश्न – महाबलीपुरम का समुद्र तटीय मंदिर (शोर मंदिर) किस वंश के शासकों ने बनवाया?

उत्तर – पल्लव वंश के।

प्रश्न – मध्यकालीन स्थापत्य कला शैली की प्रमुख विशेषताएं कौन सी हैं?

उत्तर – मीनारें, मेहराब, गुंबद और ज्यामितीय अलंकरण।

प्रश्न – कुव्वत उल इस्लाम मस्जिद का निर्माण किसने करवाया था?

उत्तर – कुतुबुद्दीन ऐबक ने।

प्रश्न – दिल्ली में अलाई दरवाजे को किस मध्यकालीन सुल्तान ने निर्मित करवाया?

उत्तर – अलाउद्दीन खिलजी ने।

प्रश्न – कन्नड़ साहित्य के तीन प्रमुख लेखक कौन थे?

उत्तर – पम्प, पोन्न, रन्न।

प्रश्न – तमिल रामायण किसके द्वारा लिखी गई?

उत्तर – कम्बन।

ध्यान दें-

प्रारम्भिक मध्यकाल में उत्तरी भारत की साहित्य भाषा संस्कृत थी। कल्हण की राजतरंगिणी और सोमदेव का कथासरित्सागर कश्मीर में लिखी गई कृतियां है। इस काल में अपभ्रंश में भी रचनाएं लिखी गईं। जयदेव ने उच्चकोटि की गीत गोविन्द नामक काव्यकति की रचना की। विल्हण ने अपने आश्रयदाता चालुक्य नरेश विक्रमादित्य का जीवन चरित विक्रमांकदेव चरित नाम से लिखा। आलवार और नयनार संतों ने तमिल में गीतों की रचना की। रामायण और महाभारत का अनुवाद तेलगू भाषा में हुआ।

प्रश्न – भक्ति आन्दोलन ने उत्तर-भारत में किन भाषाओं के विकास में सहयोग दिया?

उत्तर – हिन्दी और क्षेत्रीय भाषाओं के।

प्रश्न – अवधी में किसने रामचरित मानस की रचना की?

उत्तर – तुलसीदास ने।

प्रश्न – कबीर ने किस भाषा में अपने दोहे लिखे?

उत्तर – सधुक्कड़ी भाषा (खिचड़ी भाषा) में।

प्रश्न – अवधी भाषा में पद्मावत की रचना किसने की?

उत्तर – मलिक मुहम्मद जायसी ने।

प्रश्न – अकबरनामा और आइने अकबरी का रचयिता कौन था?

उत्तर – अबुल फजल।

प्रश्न – भारतीय संगीत की प्राचीन परम्परा की जानकारी किससे मिलती है?

उत्तर – सामवेद से।

प्रश्न – संगीत, नृत्य और नाटक का प्राचीनतम ग्रंथ कौन सा है?

उत्तर – भरतमुनि का नाट्यशास्त्र।

प्रश्न – रागों की धारणाओं पर चर्चा करने वाले ग्रन्थ ‘बृहद्देशीय’ का प्रणयन किसने किया था?

उत्तर – मतंग ने।

ध्यान दें-

भारत में संगीत की भांति नृत्य में भी शास्त्रीय और लोक नृत्य दोनों ही मिलते हैं। शिव का प्रतिरुप नटराज भारतीयों के जीवन में नृत्य के महत्तव का परिचायक है। धर्म और नृत्य में घनिष्ठ सम्बन्ध था। संगीत की भांति नृत्य भी पूजा का एक प्रकार था। भारत के प्रसिद्ध नृत्यों में कथकली, भरतनाट्यम, कुचीपुड़ी, कत्थक, ओडिसी, मोहिनीअट्टम और मणिपुरी प्रमुख हैं।

प्रश्न – तेरहवीं सदी में संगीत रत्नाकर नामक ग्रन्थ की रचना किसने की थी?

उत्तर – सारंगदेव ने।

प्रश्न – संगीत रत्नाकर में कितने रागों का वर्णन मिलता है?

उत्तर – 256 रागों का।

प्रश्न – कंठ और वाद्य संगीत की दो शास्त्रीय शैलियां कौन सी हैं?

उत्तर – कर्नाटक शैली और हिंदुस्तानी शैली।

ध्यान दें-

आर्यों का वैदिक धर्म अनुष्ठानिक था जिसमें विभिन्न देवी देवताओं को भौतिक लाभ की प्राप्ति के लिये बलि चढ़ाई जाती थी। इस कर्मकाण्ड के विरुद्ध जैन व बौद्ध धर्म ने अहिंसा का पाठ पढ़ाया। मध्यकाल में इस्लाम और ईसाई धर्म भी भारत पहुंचे। भक्ति और सूफी आन्दोलन लोकप्रिय हुये। भारत में दर्शन की दो प्रमुख शाखायें-आदर्शवादी और भौतिकवादी थीं।

प्रश्न – गणित पर भास्कर की पुस्तक का नाम क्या है?

उत्तर – लीलावती।

प्रश्न – चरक और सुश्रुत संहिताएं किस काल की हैं?

उत्तर – द्वितीय शताब्दी ईस्वी की।

प्रश्न – प्राचीन भारत में दर्शन की 6 पद्धतियां कौन-सी थीं?

उत्तर – सांख्य, योग, न्याय, वैशेषिक, मीमांसा, वेदांत।

प्रश्न – गणित के क्षेत्र में भारतीयों की तीन प्रमुख उपलब्धियां कौन-सी थीं?

उत्तर – शून्य का प्रयोग, अंकन पद्धति और दशमलव पद्धति।

प्रश्न – राष्ट्र क्या होता है?

उत्तर – लोगों का एक समुदाय जो क्षेत्र के साझा बंधनों से जुड़ा होता हैं।

प्रश्न – भारत में संविधान का निर्माण किसके द्वारा किया गया?

उत्तर – संविधान सभा द्वारा।

प्रश्न – भारत किस प्रकार का देश है?

उत्तर – पंथनिरपेक्ष राज्य।

प्रश्न – भारत को मजबूत राष्ट्र बनाने के लिये क्या आवश्यक है?

उत्तर – राष्ट्रीय एकीकरण और समस्याओं का निराकरण।

प्रश्न – देश की राष्ट्रीय एकता में बाधक तत्व कौन से हैं?

उत्तर – भाषावाद, क्षेत्रीय असमानता, आतंकवाद।

प्रश्न – राष्ट्रीय एकीकरण के लिये क्या आवश्यक है?

उत्तर – निरक्षरता, सामाजिक असमानता, आर्थिक पिछड़ापन, प्रांतवाद (क्षेत्रवाद), साम्प्रदायिकता, जातिवाद व धर्मान्धता की समस्याओं पर नियंत्रण।

ध्यान दें-

वह राज्य जिसकी अपनी एक निश्चित भौगोलिक सीमा, एक राष्ट्रीय भाषा, समान कानून संहिता तथा विशेष जीवन शैली होती है, राष्ट्र राज्य कहलाता है। ब्रिटिश शासन ने दो प्रकार से राष्ट्रवाद के विकास में सहायता की। भारत पहली बार एक राजनीतिक और आर्थिक सत्ता बना। धीरे-धीरे एक कानून पद्धति और एक समान प्रशासन के अधीन उसे लाया गया। इन दोनों तत्वों ने इसे संगठित राष्ट्रीय भावना में बदल दिया। इसी भावना ने भारत को आजादी दिलायी।

प्रश्न – लोकतंत्र का क्या अर्थ है?

उत्तर – आम जन का शासन तंत्र।

प्रश्न – लोकतंत्र लोगों को क्या प्रदान करता है?

उत्तर – मत देने का अधिकार।

प्रश्न – भारतीय परिस्थितियों में पंथनिरपेक्षता का क्या तात्पर्य हैं?

उत्तर – सभी धर्मों के लिये समान सम्मान।

प्रश्न – समाजवाद क्या आदर्श प्रस्तुत करता है?

उत्तर – सभी वर्ग के लोगों के लिये राष्ट्रीय आय का समान वितरण।

प्रश्न – सामाजिक समानता के मध्य सबसे बड़ी बाधा कौन सी हैं?

उत्तर – जाति।

प्रश्न – जातिवाद समाज में क्या उत्पन्न करता है?

उत्तर – ऊँच-नीच की भावना।

प्रश्न – आर्थिक समानता के लिये क्या आवश्यक हैं?

उत्तर – उत्पादन साधनों के विकेन्द्रीकरण पर बल।

प्रश्न – करारोपण से क्या खत्म करने की कोशिश सरकार द्वारा की जाती है?

उत्तर – आर्थिक असमानता।

प्रश्न – जातिवाद की समस्या से मुक्ति किन साधनों के प्रयोग द्वारा पाई जा सकती है?

उत्तर – कानून व शिक्षा।

प्रश्न – भारत कैसा राष्ट्र है?

उत्तर – विविधताओं से युक्त।

प्रश्न – भारत में किन धर्मों का उदय हुआ?

उत्तर – हिन्दू, बौद्ध, जैन एवं सिक्ख धर्म।

प्रश्न – विविधता वाले देश के लिये सर्वाधिक आवश्यक तत्व कौन सा हैं?

उत्तर – राष्ट्रीय एकता।

ध्यान दें-

भारत एक विविधतापूर्ण देश है। भाषा, संस्कृति, धर्म आदि के आधार पर यहां अनेक प्रकार के विभाजन हैं लेकिन फिर भी एक साझी संस्कृति की रचना हुई है। हिन्दू-मुस्लिम, बौद्ध, जैन, ईसाई आदि धर्मों के लोगों ने किसी भी बाहरी आक्रमण या खतरे के अवसर पर अटूट एकता का प्रदर्शन किया है।

प्रश्न – समाजवाद, पंथनिरपेक्षता और समानता के सिद्धान्तों का उल्लेख संविधान के किस भाग में किया गया है?

उत्तर – प्रस्तावना में।

प्रश्न – उत्पादन के साधनों का विकेन्द्रीकरण जिसके द्वारा किया जा सकता है?

उत्तर – नियोजन पद्धति द्वारा।

प्रश्न – राष्ट्र क्या है?

उत्तर – एक समुदाय जो उस क्षेत्र के सामान्य बंधनों से बंधा होता है जिसमें लोग रहते हैं, भिन्न-भिन्न भाषायें बोलते हैं, जिनका साझा इतिहास होता है। इसके साथ ही उनमें एकत्व की भावना भी होती है।

प्रश्न – उत्पादन और उपभोग के लिये किन वस्तुओं की आवश्यकता पड़ती हैं?

उत्तर – भौतिक वस्तुओं की।

प्रश्न – वह ढांचा जिसमें किसी देश के आर्थिक क्रियाकलापों का वर्णन किया जाता है, कहलाता है?

उत्तर – अर्थव्यवस्था।

ध्यान दें-

वह ढांचा जिसमें किसी देश के आर्थिक क्रियाकलापों का वर्णन किया जाता है, अर्थव्यवस्था कहलाता है। ये आर्थिक क्रियाकलाप लोगों के उन कार्यकलापों से जुड़े होते हैं जो यह निर्धारित करते हैं कि देश में किन वस्तुओं का उत्पादन किया जाएगा। परिवहन, भंडारण, विपणन, बैंकिंग और बीमा जैसी सेवायें किस प्रकार प्रदान की जाएंगी। इन आर्थिक वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादक और उपभोक्ता व्यक्ति, फर्म (कम्पनियां) निजी संस्थाएं और सरकार होती हैं। सरकार न केवल इन वस्तुओं और सेवाओं की उत्पादक है बल्कि अपने नियम और विनियमों के माध्यम से ढांचे पर नियंत्रण भी रखती है।

प्रश्न – किसी देश की अर्थव्यवस्था अपने यहां वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन के लिये विभिन्न संसाधनों का प्रयोग करती हैं। ये हैं-

उत्तर – प्राकृतिक संसाधन एवं मानव संसाधन।

प्रश्न – तापीय विद्युत किससे पैदा की जाती है?

उत्तर – कोयले से।

प्रश्न – बैंकों का राष्ट्रीयकरण सर्वप्रथम कब किया गया?

उत्तर – 1969 में।

प्रश्न – भारतीय अर्थव्यवस्था किस प्रकार की अर्थव्यवस्था है?

उत्तर – मिश्रित अर्थव्यवस्था।

प्रश्न – वह अर्थव्यवस्था जिसमें उत्पादन के साधनों का स्वामित्व निजी हाथों में होता है, कहलाती है?

उत्तर – पूंजीवादी अर्थव्यवस्था।

प्रश्न – समाजवादी अर्थव्यवस्था में नियंत्रण किसके द्वारा किया जाता है?

उत्तर – राज्य द्वारा।

प्रश्न – निजी एवं सार्वजनिक क्षेत्र द्वारा मिलकर स्थापित की जाने वाली अर्थव्यवस्था कौन सी होती है?

उत्तर – मिश्रित अर्थव्यवस्था।

प्रश्न – भारतीय अर्थव्यवस्था की प्रमुख विशेषताएं कौन सी हैं?

उत्तर – मिश्रित अर्थव्यवस्था, संघीय अर्थव्यवस्था, विकासशील अर्थव्यवस्था।

प्रश्न – व्यवसायों और आर्थिक क्रियाकलापों के आधार पर अर्थव्यवस्था को कितने क्षेत्रों में विभाजित किया जाता हैं?

उत्तर – तीन- प्राथमिक, द्वितीयक व तृतीयक क्षेत्र में।

प्रश्न – प्राथमिक क्षेत्र में कौन से क्रियाकलाप आते हैं?

उत्तर – कृषि, वानिकी, उत्खनन, खनन आदि।

प्रश्न – द्वितीय क्षेत्र किससे सम्बन्धित हैं?

उत्तर – औद्योगिक वस्तुओं के उत्पादन से।

ध्यान दें-

पूंजीवादी अर्थव्यवस्था में उत्पादन साधनों का स्वामित्व निजी हाथों में होता है। वस्तुओं की कीमतों का निर्धारण मांग और पूर्ति के कारकों द्वारा किया जाता है। संयुक्त राज्य अमेरिका और ब्रिटेन पूंजीवादी अर्थव्यवस्थाओं वाले देश हैं। समाजवादी अर्थव्यवस्था का नियंत्रण राज्य द्वारा किया जाता हैं। इसमें प्रतियोगी कीमत तंत्र किसी प्रकार की भूमिका नहीं निभाता है। चीन और विश्व के कुछ अन्य देशों यही व्यवस्था कार्य कर रही है। भारत मिश्रित अर्थव्यवस्था वाला देश है। यहां निजी और सार्वजनिक दोनों क्षेत्रों की आर्थिक क्रिया कलापों में भागीदारी है। अर्थात राज्य या कोई अन्य पक्ष अकेले कोई पूर्ण कार्य नहीं करता है। विकसित अर्थव्यवस्थाओं के पास आधुनिक प्रौद्योगिकी पर आधारित अत्यन्त व्यापक औद्योगिक क्षेत्र होता है। अमेरिका, ब्रिटेन, जापान आदि विकसित अर्थव्यवस्थाओं वाले देश हैं। विकासशील देशों की अर्थव्यवस्थाएं कृषि और ग्रामीण क्षेत्रों द्वारा प्रभावित होती हैं। यहां घोर निर्धनता और प्रति व्यक्ति आय निम्न होती है। भारत, पाकिस्तान, इण्डोनेशिया और ब्राजील इस श्रेणी में आते हैं।

प्रश्न – तृतीयक क्षेत्र में कौन सा आर्थिक क्रियाकलाप शामिल हैं?

उत्तर – परिवहन, बैंकिंग, बीमा व अन्य सेवाएं।

प्रश्न – उच्चतर ऊर्जा उपभोग से अर्थव्यवस्था के सम्बन्ध में क्या पता चलता हैं?

उत्तर – अर्थव्यवस्था का आधुनिकीकरण।

प्रश्न – अर्थव्यवस्था के विकास के संकेतक कौन से हैं?

उत्तर – ऊर्जा का उपभोग स्तर, प्रति व्यक्ति सकल राष्ट्रीय उत्पाद, प्रति व्यक्ति भोजन की मात्रा, जीवन अवधि, उपभोक्ताओं के अधिकार, शिक्षा।

ध्यान दें-

आर्थिक विकास का स्तर केवल सकल राष्ट्रीय उत्पादन (GNP) द्वारा ही नहीं माना जा सकता है। शिक्षा, स्वास्थ्य, जीवन संभाविता, प्रति व्यक्ति भोजन की मात्रा, शिक्षा, उपभोक्ताओं के अधिकार आदि से आर्थिक विकास का स्तर मापने में मदद मिलती हैं।

प्रश्न – उपभोक्ता अधिकारों के संरक्षण के लिये एकाधिकार एवं अवरोध व्यापारिक अधिकार आयोग कब स्थापित किया गया है?

उत्तर – 1970 में।

प्रश्न – उपभोक्ता कौशलों का विकास किसके द्वारा किया गया हैं?

उत्तर – शिक्षा द्वारा।

प्रश्न – भारत प्रतिव्यक्ति विकास की दृष्टि से कैसा देश है?

उत्तर – पिछड़ा।

प्रश्न – भारतीय अर्थव्यवस्था को सुधारने की एक महत्वपूर्ण विधि कौन सी है?

उत्तर – संसाधनों का सर्वोत्तम संभावित प्रयोग।

प्रश्न – अर्थव्यवस्था के सुधार की तकनीक क्या हैं?

उत्तर – सभी क्षेत्रों का विकास।

ध्यान दें-

भारतीय अर्थव्यवस्था में कीमत तंत्र और केंद्रीय योजना तंत्र दोनों का ही साथ-साथ प्रयोग किया जाता है। इसका कारण मिश्रित अर्थव्यवस्था की हमारी प्रणाली में सार्वजनिक क्षेत्र और निजी क्षेत्र का एक साथ मौजूद होना है। सार्वजनिक हितों और समाज के कल्याण हेतु सार्वजनिक क्षेत्र में योजना आयोग द्वारा निर्णय लिए जाते हैं। निजी क्षेत्र के लिए निर्णय कीमत तंत्र के आधार पर किए जाते हैं। परन्तु कीमत तंत्र पूरी तरह स्वतंत्र नहीं है। यह देश की योजना के सामान्य ढांचे के अन्तर्गत काम करता है।

प्रश्न – सशक्त पूंजी आधार प्राप्त करने के लिये क्या किया जाना आवश्यक है?

उत्तर – संसाधनों को उपभोग से निवेश की ओर मोड़ना।

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

Leave a Comment

Your email address will not be published.