68500 Assistant Teacher Bharti Science Exam Question Answer in Hindi

68500 Assistant Teacher Bharti Science Exam Question Answer in Hindi

68500 Assistant Teacher Bharti Science Exam Question Answer in Hindi

विज्ञान (Science) 

68500 Assistant Teacher Bharti Science Exam Question Answer in Hindi
68500 Assistant Teacher Bharti Science Exam Question Answer in Hindi

प्रश्न – घरेलू उपकरणों में प्रयुक्त पांच शुद्ध धातुओं के नाम बताइए।

उत्तर – घरेलु उपकरणों में प्रयुक्त पांच शुद्ध धातुएं हैं- तांबा, लोहा, एल्युमीनियम, चांदी तथा सोना।

प्रश्न – किन्हीं दो धातुओं के नाम लिखिए जिन्हें अत्यधिक शुद्धता की आवश्यकता हैं।

उत्तर – टाइटेनियम और जर्मेनियम को अत्यधिक शुद्धता की आवश्यकता है।

प्रश्न – अपररुपता को परिभाषित करें?

उत्तर – किसी तत्व के प्रकृति में एक से अधिक रुप में पाए जाते हैं जिन्हें उस तत्व का अपररुप कहते हैं। भौतिक रुप से वे भिन्न हो सकते हैं, परंतु उनके रासायनिक गुण समान होते हैं। ऐसे तत्वों का सबसे अच्छा उदाहरण है, कार्बन जो दो रुपों में पाया जाता है- हीरा एवं ग्रेफाइट। इस परिघटना को अपरुपता कहते हैं।

प्रश्न – हीरे के कुछ प्रमुख गुणों को लिखिए?

उत्तर –

गुणहीरा
देखने मेंपारदर्शक
कठोरताबहुत कठोर
ऊष्मीय चालकताबहुत उच्च

प्रश्न – ग्रेफाइट के कुछ गुणों को लिखिए।

उत्तर –

गुणग्रेफाइट
देखने मेंकाला चमकदार
कठोरतामुलायम
ऊष्मीय चालकतामध्यम (अच्छी)

 

प्रश्न – पॉलीएस्टर किस प्रकार के उद्योग में काम आता है?

उत्तर – पॉलीएस्टर अनेक प्रकार का कपड़ा बनाने तथा हॉज पाइप आदि बनाने में प्रयुक्त किया जाता है।

प्रश्न – प्लास्टिक किसे कहते हैं?

उत्तर – प्लास्टिक ऐसे बहुलक हैं, जिन्हें आसानी से किसी भी आकार में ढाला जा सकता है। एथीन के एक अथवा अधिक हाइड्रोजन परमाणुओं को प्रतिस्थापित करने से प्राप्त मोनोमर (मूल इकाई) का बहुलकीकरण करके प्लास्टिक प्राप्त किए जाते हैं। इसे गर्म करने पर किसी भी इच्छित आकार में ढाला जा सकता है। ठंडा होने पर यह ढाले गए आकार को बनाए रखता है। इस प्रकार के प्लास्टिक का उपयोग पीवीसी पाइप बनाने तथा पॉलीस्टाइन फोम आदि बनाने में किया जाता है।

प्रश्न – रबड़ क्या है?

उत्तर – रबड़ प्रकृति में पाए जाने वाला एक बहुलक है, जिसे रबड़ के वृक्ष से लैटेक्स के रुप में प्राप्त किया जाता है।

प्रश्न – ग्लिसरॉल क्या है?

उत्तर – ग्लिसरॉल एक एल्कोहॉल है, जिसमें तीन हाइड्रॉक्सिल ग्रुप होते हैं तथ वसा अम्लों में कार्बन परमाणुओं की बहुत-सी श्रृंखला होती है।

प्रश्न – साबुनीकरण किसे कहते हैं?

उत्तर – जब तेल या वसा को सोडियम हाहड्रॉक्साइड के घोल में गर्म किया जाता है, तो उसके अणु विघटित होकर संबद्ध वसा अम्ल या ग्लिसरॉल को सोडियम लवण बनाते हैं। इस प्रक्रिया को साबुनीकरण कहते हैं।

प्रश्न – हीरा तथा ग्रेफाइट के भौतिक गुणों की विवेचना करें।

उत्तर – हीरा अत्यंत कठोर होता है, जबकि ग्रेफाइट इतना मुलायम होता है कि कागज पर निशान छोड़ता है। यह इसलिए होता है, क्योंकि हीरे में मजबूत सह-संयोजक बंध होते हैं तथा इसमें कार्बन परमाणु चतुष्फलकीय व्यवस्था में व्यवस्थित होते हैं जबकि ग्रेफाइट की संरचना षटकोणीय परतों से बनी होती है, जो कमजोर बंधों द्वारा जुड़ी रहती है। अत: ये परतें एक-दूसरे के ऊपर आसानी से फिसल सकती है। अथवा जो ग्रेफाइट को चिकना बनाती हैं। हीरे में चारों इलेक्ट्रॉन C-C बंध बंधित रहते हैं तथा कोई भी इलेक्ट्रॉन स्वतंत्र नहीं होता है। इस कारण हीरा विद्युत का कुचालक होता है जबकि ग्रेफाइट में स्वतंत्र इलेक्ट्रॉन घूमते हैं, जो विद्युत को आसानी से आने-जाने देते हैं।

प्रश्न – कार्बनिक यौगिक प्रकृति में प्रचुर मात्रा में क्यों पाए जाते हैं?

उत्तर – प्रकृति में पाए जाने वाले अधिकरतर जैविक पदार्थों में कार्बन पाया जाता है। कार्बनिक यौगिकों में मजबूत कार्बन-कार्बन बंध उपस्थित होते हैं, जो जुड़कर लंबी श्रृंखलाएं बनाते हैं। इस गुण को श्रृंखलन कहते हैं। प्रकृति में कार्बनिक यौगिकों की प्रचुरता का एक मुख्य कारण इनमें श्रृंखला को गुण है। समावयवता गुण के कारण भी हाइड्रोकार्बन प्रकृति में प्रचुरता में मिलते हैं।

प्रश्न – हाइड्रोकार्बन की परिभाषा लिखिए।

उत्तर – वे यौगिक जो केवल कार्बन तथा हाइड्रोजन से मिलकर बने होते हैं, हाइड्रोकार्बन कहलाते हैं। कार्बन परमाणु आपस में संयोग करके लंबी श्रृंखलाएं बना सकते हैं। जब कार्बन परमाणु हाइड्रोजन के साथ संयोग करते हैं, तो हाइड्रोकार्बन बनते हैं।

प्रश्न – सजातीय श्रेणी को समझाइए।

उत्तर – हाइड्रोजनीकरण द्वारा असंतृप्त हाइड्रोकार्बन संतृप्त हाइड्रोकार्बन में बदल जाते हैं। संतृप्त हाइड्रोकार्बन वि-हाइड्रोजनीकरण द्वारा अस्थायी असंतृप्त हाइड्रोकार्बनों बदल जाते हैं। दोनों प्रकार के हाइड्रोकार्बन सजातीय श्रेणी बनाते हैं।

प्रश्न – क्रियात्मक समूह क्या है? समझाइए।

उत्तर – एकल, द्वि अथवा त्रि-कार्बन कार्बन बंध की उपस्थिति के कारण विभिन्न हाइड्रोकार्बनों के गुणों में भिन्नता होती है। इसके अतिरिक्त कार्बनिक यौगिक विशेष प्रकार की क्रियाशीलता प्रदर्शित करते हैं। ये परमाणु समूह क्रियात्मक समूह कहलाते हैं।

प्रश्न – मानव निर्मित कार्बनिक यौगिकों का हमारे दैनिक जीवन में क्या महत्व है?

उत्तर – मानव जीवन में प्रतिदिन उपयोग में आने वाले अधिकांश पदार्थ जैसे साबुन, सफाई करने वाले अपमार्जक, सूती अथवा रेशमी कपड़े सभी कार्बनिक यौगिकों से बने हैं। फसल पैदा करने से लेकर बीमारियों की रोकथाम तक मनुष्य कार्बनिक यौगिकों पर निर्भर रहता है। लकड़ी, रबड़, कागज भी कार्बनिक यौगिक ही हैं। रॉकेट इंजनों में ठोस ईंधन के रुप में भी मानव निर्मित कार्बनिक यौगिकों का उपयोग किया जाता है।

प्रश्न – बिजली का उपयोग आप किन कार्यों में करते हैं?

उत्तर – बिजली का उपयोग प्रकाश एवं ऊर्जा के रुप में किया जाता है।

प्रश्न – बल किस प्रकार की भौतिक राशि है?

उत्तर – बल एक सदिश राशि है।

प्रश्न – प्रत्यास्थता की सीमा किसे कहते हैं?

उत्तर – “प्रत्यास्थ सीमा के अंतर्गत किसी प्रत्यास्थ पिंड की आकृति में हुए परिवर्तन का परिणाम उस पर लगाए बल के समानुपाती होता है” यह प्रत्यास्थता सीमा कहा जाता है।

प्रश्न – घर्षण बल क्या है?

उत्तर – जब किसी वस्तु की सतह को दूसरी वस्तु की सतह के संपर्क में रखकर गतिशील किया जाता है (अर्थात दो वस्तुओं को परस्पर रगड़ा जाता है) तब एक बल, अस्तित्व में आ जाता है, जिसे घर्षण बल कहते हैं।

प्रश्न – न्यूटन के गति का प्रथम नियम स्पष्ट कीजिए?

उत्तर – न्यूटन के गति का पहला नियम है कि, यदि किसी वस्तु पर कोई बाह्र बल जब तक आरोपित नहीं किया जाएगा तब तक वह अपनी विराम अवस्था को बनाए रखती है अथवा एकसमान चाल से सरल-रेखीय गति की अवस्था को बनाए रखती है।

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

Leave a Comment

Your email address will not be published.