CCC Notes Concept of Data Processing Study Material

CCC Notes Concept of Data Processing Study Material

CCC Notes Concept of Data Processing Study Material

CCC Notes Concept of Data Processing Study Material : डाटा प्रोसेसिंग की अवधारणा ( Concept of Data Processing) इस पोस्ट में डाटा प्रोसेसिंग की अवधारणा के बारे में details में बताया गया है। कम्प्यूटर  में दिया जाने वाला डाटा  इनपुट कहलाता है जिस पर कम्प्यूटर के द्धारा प्रोसेसिंग की जाती है, जिससे डाटा को इन्फॉर्मेशन में बदला जाता है। कम्प्यूटर डाटा की पूर्ण जानकारी इस पोस्ट में दी गई हैं।

CCC Notes Concept of Data Processing Study Material
CCC Notes Concept of Data Processing Study Material

कम्प्यूटर में दिया जाने वाला डाटा इनपुट कहलाता है जिस पर कम्प्यूटर के द्धारा प्रोसेसिंग की जाती है, जिससे डाटा को इन्फॉर्मेशन में बदला जाता है। इसे ही आउटपुट कहा जाता है।

The data given to the computer is called input, on which processing is done and then it converts data into the information. Data processing is a technique in which data or information is taken and after processing, the output is given. डाटा (data) आँकड़ो या आँकड़ों के समूह को डाटा कहा जाता है। प्रोसेसिंग डाटा को यूजर के द्धारा दिए गए निर्देशों के अनुसार व्यवस्थित करने की प्रक्रिया को प्रोसेसिंग कहते हैं। इनफॉर्मेशन डाटा पर प्रोसेसिंग के बाद इनफॉर्मेशन (सूचना) प्राप्त होती है। इनफॉर्फेशन इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड कम्युनिकेशन टेक्नोलॉजी (Information Electronics and Communication technology (IECT) IECT  विभिन्न सेक्टरों मे होत है जैसे इसका इस्तेमाल बिजनेस में, घर पर, संस्थाओं में, मेडिकल विज्ञान मे, इन्जीनियरिंग विभाग में एवं इंफ्रास्ट्रक्चर फिल्ड मे आर्किटेक्चर या ड्राइंग तैयार करने के लिए होता है। जबकि कम्प्युनिकेशन तकनीक का तात्पर्य संजार व्यवस्था से है, जिसमें एक व्यक्ति का दूसरे व्यक्ति से संपर्क या कम्युनिकेशन की जा सकती है। कम्युनिकेशन तकनीक के इण्टरनेट रेडियो, टेलीविजन एवं सेटेलाइट इत्यादि।

जहाँ कम्प्यूटर टेक्नोलॉजी आज के समय मे सामान्यतौर पर काफी प्रचलित है तथा सेल फोन, इंटरनेट, रेडियो टेलीविजन आदि में प्रयोग की जाती है। वहीं कम्युनीकेशन का अर्थ है- मैसेजिंग या एक व्यक्ति का दूसरे व्यक्ति से संपर्क। IECT (Information Electronics and Communication Technology) is used in various fields like in the field of Information technology. Area of information technology is in every sector, now-a –days there is a great demand to be automated e.g.,  in business, at hone, at organizations, in medical sciences, in engineering applications, in drawing/architect of infrastructure ad many more. Whereas Communication technology is very common and known and used by most of people now – a –days e.g., Cell phones, Internet, Radio, Television and satellite etc. The term communication is referred to as messaging or contacting one person to another.

CCC DOEACC Concept ई-गवर्नेन्स (E-Governance) Study Material Notes Hindi 

ई-गवर्नेन्स मॉडर्न सूचना और संचार तकनीक जैसे इन्टरनेट, लोकल एरिया नेटवकर्स, मोबाइल्स आदि का एक एप्लीकेशन है, जो सरकार द्धारा इन्हें अधिक प्रभावी बनाने, कुशलता बढ़ाने, सर्विस डिलीवरी को कारगर बनाने एवं डेमोक्रेसी को प्रमोट करने के लिए तैयार किया गया है। ई-गवर्नमेण्ट के प्राइमरी डिलीवरी मॉडल्स को निम्नलिखित रुप से विभाजित किया जा सकता है।

This is one of the most efficient and successful medium between government and people. Every person easily connect  with government through e-governance and know about status of land, applications, domicile certificate , income certificate. Status of scholarship, status of government functionaries working in his village/block/district, Government  Orders etc. The primary delivery models of e-Government can be divided into: Government-to-Citizen/Consumer (G2C) इस मॉडल के अन्तर्गत कन्ज्यूमर रिलेशन मैनेजमेण्ट के साथ बिजनेस कॉन्सेप्ट की स्ट्रेटजी तैयार की गई है। G2C model applies the strategy of customer relationship management (CRM) with business concept. By managing their relationship with citizen, government can provide the needed products and services and fulfill the needs of customer/citizen. Government-to-business (G2B) इस मॉडल के अन्तर्गत सरकार एवं जनता के मध्य इन्फॉर्मेशन उपलब्ध कराने एवं बिजनेस के सम्बन्ध में सलाह देने की ऑनलाइन इण्टरेक्शन व्यवस्था है। It is the online non-commercial interaction between government and people to provide business information and also advise about e- business. Government-to-Government (G2G) इसके अन्तर्गत सरकारी विभाग/अथॉरिटी द्धारा अन्य सरकार/विभागों से गैर – व्यावसायिक सम्बन्ध स्थापित किया जाता है। It is the online non-commercial interaction between Government Departments/ Authorities and other Government/ Departments. Government-to-Employs (G2E) यह सरकार एवं कर्मचारी के मध्य महत्वपूर्ण एवं प्रभावी ऑनलाइन इण्टरेक्शन है। This is the best and effective way of online interaction between government and employees.

More

Like Our Facebook Page for More CCC Question Answers

Back to Index -(CCC Study Material / Notes in Hindi and English)

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *