M1 R4 Basic Elements of the Opening Screen of Windows XP Study Material

M1 R4 Basic Elements of the Opening Screen of Windows XP Study Material

M1 R4 Basic Elements of the Opening Screen of Windows XP Study Material : इस पोस्ट में आपकों मिलेगी विडोज XP (Basic Elements of the Opening Screen of Windows XP)  और इससे जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे डेस्कटॉप, आइकन और उनके प्रकार, सिस्टम आइकन, टास्क बार, विंड़ो के ऐलीमेट्स, आदि के विषये में महत्वपूर्ण जानकारी।

 

विडोज़ XP  की  ओपनिंग स्क्रीन के बेसिक ऐलीमेंट्स

डेस्कटॉप  (M1 R4 Basic Elements of the Opening Screen of Windows XP Study Material)

डेस्कटॉप वीडियों स्क्रीन का कार्य क्षेत्र है, जहाँ आप कार्य करते हैं। इसे डेस्कटॉप इसलिए कहा जाता है क्योंकि जिस प्रकार आप अपने डेस्क के टॉप का प्रयोग करते हैं उसी प्रकार विंडोज पूरी स्क्रीन का प्रयोग करता है। विंडोज पर कार्य करते वक्त आप डेस्कटॉप पर आइटमों को मूव करा सकते हैं, उन्हें वापस ला सकते हैं एवं अपने नई दैनिक कार्य भी कर सकते हैं।

M1 R4 आइकन और उनके प्रकार Study Material Notes in Hindi

आइकन एक ग्राफिक्स ऑब्जेक्ट बहै जो आपके मॉनीटर पर फाइल या प्रोग्राम को दर्शाती है। निचले सेक्शनों में विभिन्न प्रकार के आइकनों के बारे में बताया जा रहा है।

M1 R4 सिस्टम आइकन Study Material in Hindi

सिस्टम आइकन स्क्रीन के बाई ओर दिखाई देते हैं। इन्हें विड़ोंज द्वारा इन्स्टॉलेशन के वक्त ही ऑटोमैटिक तरीके से बना दिया जाता है। पाँच सिस्टम आइकनों के बारे में निम्न टेबल में बताया जा रहा है।
सिस्टम आइकनकार्य
माई कम्प्यूटर (My Computer)यह आइकन आपके कम्प्यूटर से कनेक्टेड रिसोर्सेज को ब्राउज करता है
माई डॉक्यूमेंट्स (My Documents)यह आइकन एक फोल्डर को दर्शाता है जिसका प्रयोग कई प्रोग्रामों के लिए एक डीफॉल्ट लोकेशन की तरह, डॉक्यूमेंट को स्टार्ट करने के रलिए किया जाता है
इंटरनेट एक्सप्लोरर (Internet Explorer)यह आइकन इंटरनेट एक्सप्लोरर को स्टार्ट करता है।
नेटवर्क नेबरहुड (Network Neighborhood)यह आइकन विंडोज एक्सप्लोरर विंडो को खोलता है और आपके वर्क ग्रुप के सभी कम्प्यूटरों या सर्वरों का नाम प्रदर्शित करता हैं।
रीसायकल बिन (Recycle Bin)यह आयकन उस फोल्डर या फाइल को अस्थाई रूप से स्टोर करता है जिन्हें आप डिलीट कर चुके होते हैं।

M1 R4 शार्टकट आइकन Study Material Notes in Hindi

ये वो आइकन होते हैं जिनके निचले बाएं कोने में एक ऐरों (arrow) बना होती है। शार्टकट आइकन आपके सिस्टम के कुछ ऑब्जेक्ट्स जैसे एक प्रोग्राम, एक डॉक्यूमेंट या एक प्रिंटर आदि के लिए आसान ऐक्सेस प्रदान करते हैं। शार्टकट आइकनों में केवल ऑब्जेक्ट लोकेशन के बारे सूचना होती है, ऑब्जेक्ट के बारे में नहीं।

M1 R4 प्रोग्राम, फोल्डर एवं डॉक्यूमेंट आइकन Study Material in Hindi

ये नॉन सिस्टम आइकन हैं जिनके ऐरों नहीं होता है और ये जिस ऑब्जेक्ट के लिए बने होते हैं उसकी ही वास्तव में व्याख्या करते हैं।यदि आप इस प्रकार के किसी भी आयकन को डिलीट करते हैं तो ऑब्जेक्ट खुद ही हार्ड डिस्क में से डिलीट हो जाएगा अत: कृपया सावधान रहें।माई कम्प्यूटर आयकन: माई कम्प्यूटर आयकन आपके पीसी से जुड़े सभी रिसोर्सेज को ब्राउज करने की अनुमति देता है। जब प माई कम्प्यूटर आयकन पर क्लिक करते हैं तो चित्र 3.2 में दिखाए गए अनुसार एक विंडो साने आती है। कम्प्यूटर की सूचना तीन भागों में बँटी होती है:इस कम्प्यूटर पर स्टोर की गई फाइल्स: इसमें यूजर और कम्प्यूटर के बीच शेयर की जाने वाली फाइल्स एवं फोल्डर डिस्प्ले होते हैं।हार्ड डिस्क ड्राइव: इसमें कम्प्यूटर की हार्ड डिस्क ड्राइव डिस्प्ले होती है।रिमूव की जाने वाली स्टोरेज डिविसेज: सीडीरॉम, फ्लॉपी डिस्क, ज़िप ड्राइव आदि डिस्प्ले होती हैं।रीसायकल बिन: जब आप फाइल्स एवं फोल्डर्स को हार्ड ड्राइव से डिलीट करते हैं तो ये वास्तव में डिलीट नहीं होते हैं बल्कि रीसायकल बिन में ट्रांसफर हो जाते हैं। रीसायकल बिन आयकन डेस्कटॉप पर दिखाई देता है और यह एक वेस्ट पेपर बास्केट की तरह का दिखता है। जब आप इस आयकन को खोलते हैं, एक रीसायकल बिन विंडों खुलती है जिसमें आप के द्वारा डिलीट की गई वो सभी फाइल्स और फोल्डर दिखाई देते है जो रीसायकल बिन को पिछली बार खाली किए जाने के बाद इसमें डाली गई है। इस तरह रीसायकल बिन भी एक फोल्डर की तरफ ही कार्य करता है।फोल्डर की तरह रीसायकल बिन एक सिंगल ड्राइव पर स्थित नहीं होती है। आप के कम्प्यूटर की प्रत्येक ड्रिव में अपना रीसायकल बिन फोल्डर होता है एवं जब भी आप रीसायकल बन को खोलते है तो इसके सभी फाइल एवं फोल्डर्स के कंटेट्स दिखाई देते हैं।

M1 R4 टास्क बार Study Material Notes in Hindi

टास्क बार को स्क्रीन के किनारे अथवा नीचे देखा जा सकता हैनिम्न टेबल में टास्क बार के विभिन्न भागों का वर्णन किया गया है।
टास्कबार के ऐलीमेंट्सकार्य
स्टार्ट बटनयह टास्कबार के बाई ओर होता है। इसे क्लिक करते ही स्टर्ट मेन्यू सामने आ जाता है जैसा चित्र में दिखाया गया है
टूल बारटूलबार, संबंधित आइकनों के एक सैट को दर्शाता है। जब क्लिक किया जाता है तो ये बटन या आयकन कुछ निश्चित फंक्शनों या टास्क को ऐक्टिवेट करते हैं। उदाहरण के लिए क्विक लाँच टूलबार, इंटरनेट एक्सप्लोरर तथा क्विक लाँच टूलबार, इंटरनेट एक्सप्लोरर तथा आउटलुक ऐक्सप्रेस को लाँच करने के आयकन प्रदान करता है।
टास्क बटनटास्क बटन, टास्कबार के बीचों बीच स्थित होते हैं। प्रत्येक बटन उस प्रोग्राम के लिए दिखाई देता है जिसे आप स्टार्ट कर चके हैं या ड़ॉक्यूमेंट जिसे आप खोल चुके हैं। आप इन बटनों पर क्लिक करके एक प्रोग्राम अथवा फोल्डर से दूसरे में जा सकते हैं।
नोटिपिकेरशन एरियाटास्क्बार के दाई ओर एक नोटिफिकेशन एरिया होता है जिसमें विंडोज आप के सिस्टम के स्टेटस के बारे में सूचना देता है। इसमें टाइम दिखाई देता है और साथ ही कुछ शार्टकट होते है जो वॉल्यूम कंट्रोल जैसे प्रोग्रामों के लिए क्लिक ऐक्ससे प्रदान करता है। अन्य शार्टकट अस्थाई रूप से दिखाई देते हैं। उदाहरण के लिए प्रिंटर आयकन तब दिखाई देता है जब एक डॉक्यूमेंट को प्रिंटर पर भेज दिया जाता है और जब प्रिंटिग पूरी हो जाती है तो यह आयकन गायब हो जाता है

M1 R4 विंडो के ऐलीमेंटस Study Material in Hindi

अधिकांश विंडोज में निम्न ऐलीमेटस होते हैं जिन्हें चित्र 3.5 में देखा जा सकता है।बार्डरचार किनारों को जो विंडों की परिधि बानते हैं, बॉर्डर कहा जाता है। बॉर्डर द्वार विंडो का साइज बदले जाने की सुविधा मिलती है।टाइटल बारविंडो के ऊपरी बॉर्डर के ठीक नीचे टाइटल बार होता है इसमें प्रोग्राम या डॉक्यूमेंट का नाम डिस्प्ले होता है उदाहरण के लिए वर्ड पैड का टाइटल बार एडिट के जा रहे डॉक्यूमेंट के नाम कगो डिस्पेले करता है। इसका प्रयोग विंडों को मूव कराने के लिए भी किया जाता है।कंट्रोल बॉक्सटाइटल बार के बाई ओर दिखाई देने वाले छोटे आयकनों को कंट्रोल बॉक्स कहते हैं। कंट्रोल बॉक्स दो कार्य करता है। ये है:जब भी आप कंट्र्ल बार को क्लिक करते हैं तो य्ह चित्र 3.5 के अनुसार कंट्रोल मेन्यू को खोलता है। ज्यादातर प्रोग्रामों में कंट्रोल मेन्यू के कमांड, विंडों के साइज को कंट्रोल करने की अनुमति देते हैं। लेकिन कुछ प्रोग्रामों के कंट्रोल करने की अनुमति देते हैं। लेकिन कुछ प्रोग्रामों के कंट्रोल मेन्यू में कुछ स्पेशल आइटम होते है।जब आप कंट्रोल बॉक्स पर डबल क्लिक करते हैं, तो एक डॉक्यूमेंट बंद हो जाता है अथवा प्रोग्राम टर्मिनेट हो जाता है और विंडों बंद हो जाती है।(Alt) + (-)  को एक साथ दबाने से ऐक्टिव डॉक्यूमेट विंडों का कंट्रोल बॉक्स खुल जाता है। (Alt)+ (Spacebar) दबाने से ऐक्टिव ऐप्लीकेशन विंडो का कंट्रोल बॉक्स खुलता है।क्लोचज बटनटाइटल बार के दाई ओर क वर्ग के भीतर एक X बना होता है जिसे क्लोज बटन कहते हैं। इस क्लिक करने पर एक डॉक्यूमेंट या फोल्डर बंद हो जाता है अथवा एक प्रोग्रम टर्मिनेट हो जाता है।

M1 R4 मिनिमाइज़, मैक्सीमाइज और रिस्टोर बटन Study Material Notes in Hindi 

टाइटल बार के दाई ओर कोने में तीन छोटे बटन होते हैं जिनमें कुछ ग्राफिक्स होते हैं। ये ही मिनिमाइज मैक्सीमाइज और रिस्टोर एवं क्लोज बटन होते हैं। ये तानों कंट्रोल बटन होते हैं जिससे आप विंडो के साइज को तैयजी से बदल सकते हैं अथवा विंडों को बंद कर सकते हैं।मिनिमाइज बटन पर क्ल करते ही विंडो छोटे बटन के रूप टास्कबार पर दिखी पड़ने लगती है। एक बार विंडों को मिनिमाइज कर देने के बाद यह डेस्कटॉप पर स्पेस नहीं लेती है लेकिन इसका प्रोग्राम लगातार चलता रहता है।मैक्सीमाइज बटन पर क्लिक करते ही विंडोज पूरे डेस्कटॉप पर फैल जाती है । जब विंडों मैक्सीमाइज हो जाती है तो मिनिमाइज दिखाई देने लगते हैं।

M1 R4 स्क्रॉल बार, स्क्रॉल बॉक्स और स्क्राल बटन Study Material Notes in Hindi

यदि विंडो अपने कंटेट्स को दिखाने के लिए पर्याप्त नहीं हैं तो इसके दाएँ किनारे पर एक वर्टिकल स्क्रॉल बार दिखाई देता है। इसी तरह यदि विंडो की चोड़ाई पर्याप्त नहीं है तो एक हॉरीज़ॉटल स्क्रॉल बार विंडों के नीचे दिखाई देता है।स्क्रॉल बार, माउस की सहायता से पूरी विंडों में नेवीगेट करने का आसान तरीका प्रदान करते हैं। ये विंडों के कंटेट्स के बारे में उपयोगी सूचना भी प्रदान करते है।स्क्रॉल में एक छोटा आयाताकार बॉक्स होता है। जिसे स्क्रॉल बॉक्स कहते हैं। स्क्रॉल बार में इस बॉक्स की पोजीशन से आप को यह पता चलता है कि आप विंडो में कहाँ है। यदि स्क्रॉल बॉक्स, स्क्रॉल बार के एकदम ऊपर है तो इसका अर्थ है, कि आप डॉक्यूमेंट में सबसे ऊपर हैं।स्क्रॉल बटन, वर्टिकट स्क्रॉल बार के ऊपर और नीचे किनारे पर तथा हॉरीजाँटल स्क्रॉल बार में बाएं तथा दाएँ किनारे पर दिखाई पड़ते हैं।

M1 R4 मेन्यू बार Study Material in Hindi

टाइटल बार के नीचे दिए गए शबदों की लाइन से मेन्यू बार बनता है। मेन्यू बार केवल ऐप्लीकेशन विंडो में दिखता है, डॉक्यूमेंट विंडों में नहीं। मेन्यू बार का प्रत्येक शब्द एक मेन्यू को दर्शाता है जो इस पर क्लिक करने से खुलता है मेन्यू के नाम हर प्रोग्राम में अलग अलग हो सकते हैं लेकिन कुछ कॉमन हैडिंग्स भी होते हैं जैसे फाइल, एडिट, विंडो एवं हेल्प।मेन्यू कमांड्स को चुननामेन्यू कमांड्स को चुनने के दो स्टेप्स हैं।
  • क्लिक करके इसे खोलो।
  • मेन्यू में से आवश्यक कमांड को सिलेक्ट करों
  • मेन्यूम को खोलने के लिए यह करों
मेन्यू के नाम पर माउस से क्लिक करों या की बोर्ड द्वारा Alt key  के साथ, मेन्यू के मान में जो अक्षर अंरलाइन किया है जैसे  File   मेन्यू में  F, Edit E आदि को दबाएँ। अर्थात Edit मेन्यू खोलने के लिए (Alt) + E keys  को एक सास दबाना होगा। एक बार जब मेन्यू खुल जाता है, आप मेन्यू कमांड को निम्न तरीके से सिलेक्ट कर सकते हैं: कमांड नाम में अडर लिन किए गए अक्षर को टाइप करके (उदाहरण को  T  के Cut के लिए )

M1 R4 एक कमांड नाम पर क्लिक करके Study Material in Hindi

ऐरों या  ऐरो key को दबा कर पहले मन चाहें कमांड को हाईलाइट करों फिर  Enter key  तबाओंकिसी कमांड को सिलेक्ट के बिना मेन्यु को बंद करने के लिए  ESC key दबाओं अथवा मेन्यू को बाहर कहीं भी क्लिंक कर दो।शार्टकट मेन्यूमाउस का राइट बटन दबाते हीं, अभी अभी सिलेक्ट की गई ऑब्जेक्ट या जिसे माउस पॉइंट कर रहा है, से संबंधित एक छोटा मेन्यू सामने आता है। इसे शॉर्टकट मेन्यू या पॉपअप मेन्यू कहा जाता है। उदाहरण के लिए यदि आप टास्क बार पर राइट क्लिक करते हैं तो आप को केवल टास्क बार से संबंधित कमांड ही मिलेंगे।डायलॉग बॉक्सजब आप इलिप्सिस (Ellipsis(…..))  के साथ वाले कमांड सिलेक्ट करते हैं तो एक डायलॉग बाक्स सामने आता है। यह आपकी स्क्रीन पर तब दिखाई देता है जब आप के द्वारा इस्तेमाल किए जा रहें विंडोज या सके ऐप्लीकेशन प्रोग्राम कमंड को ऐक्जीक्यूट करने के लिए अधिक सूचना की जरूरत पड़ती है।डायलॉग बॉक्स टैब्स (Tabs): कुछ डायलॉग बॉक्स में कई ऑप्शन पेज होते हैं आप अपनी पसंद के अनुसार पेज को डायलॉग बॉक्स के ऊपर बने इसके आयकन पर क्लिक करके सिलेक्ट कर सकते हैं की बोर्ड की Ctrl + tab keys एक साथ दबाकर आप ऑप्शन पेजों में आना जाना कर सकते हैं।

M1 R4 डॉयलॉग बॉक्स ऐलीमेंटों के बीच मूव करना Study Material in Hindi

अक्सर, डायलॉग बॉक्स में कई सेक्शन होते हैं जैसे 3.8  में देखा जा सकता है। आप इन सेक्शनों में तीन तरीकों से मूव कर सकते हैं।आप जिस सेक्शन को बदलना चाहते हैं उस पर क्लिक करोंकी बोर्ड की  tab key दबाकर आप इन्हें सिलेक्ट कर रसकते हैं।जिसमें आप जाना चाहते हैं इसके लिए Alt  key के साथ उस सेक्शन का अंचडरलाइन किया गया अक्षर दबाएँ।डायलॉग बॉक्स में सूचना एंटर करनाडायलॉग बॉक्स में 7 अलग प्रकार के सेक्शन होते हैं जिनमें आपकों सूचना को एंटर करने की आवश्यकता पड़ती है। ये 8 सेक्शन है:
  • टेक्स्ट बॉक्स
  • चैक्स बॉक्स
  • ऑप्शन बटन
  • कमांड बटन
  • लिस्ट बॉक्स
  • स्लाइडर्स
  • स्पिनर्स
टैक्स्ट बॉक्स टेक्स्ट बॉक्स को एडिट बॉक्स भी कहते हैं एवं इसी बॉक्स में आप कोई भी सूचना टाइप करते हैं टेक्स्ट बॉक्स में सूचना एंटर करने के लिए इस पर क्लिक करें। इन्सर्शन पॉइंट टेक्स्ट बॉक्स में दिखाई देगा। इन्सर्शन पॉइंट उस जगह की ओर इशारा करता है जहाँ आप के द्वारा टाइप किए गए कैरेक्टर दिखाई देंगे।

M1 R4 Basic Elements of the Opening Screen of Windows XP Study Material

यदि टेक्सट बॉक्स खाली है तो इन्सर्शन पॉइंट बॉक्स के बाई ओर दिखाई देता है।यदि टैक्स्ट बॉक्स में पहले ही मौजूद है तो इन्सर्शन पॉइंट उस जगह दिखता है जहाँ आपने माउस से क्लिक किया है।चैक बॉक्स: चैक बॉक्स छोटे वर्गाकार बाक्स होते हैं डाय़लॉग बॉक्स के रसभी चैक बॉक्स एक दूसरे से स्वतंत्र होते हैं। चैक बॉक्स के आटम को सिलेक्ट करने के लिए बॉक्स पर क्लिक करें अथवा बॉक्स के पास के टेक्स्ट में कहीं भी क्लिक करें और इसी तरह डीसिलेक्ट करने के लिए भी, यही प्रक्रिया दाहराएँ। जब क चैक बॉक्स को सिलेक्ट कर लिया जाता है तो बॉक्स के बीच में X डिस्प्ले होता है। कुछ चैक बॉक्सों में तीन स्टेट्स चैक्ड अनचैक्ड एवं पार्टली चैक्ड होती हैं एक ग्रे (काले की जगह) चैक मार्क का अर्थ हैं इसके लिए कुछ निश्चित शर्ते लागू होती है एवं कुछ सिलेक्शन ऐप्लाई नहीं होते हैं।ऑप्शन बटन: इन्हें रेडियों बटन भी कहा जाता है और ये म्यूचुअली ऐक्सक्लूसिव ऑप्शन का एक सैट प्रस्तुत करते हैं। ऑप्शन बटन हमेशा दो या अधिक के ग्रुप में होते हैं और आम तौर पर गोल या डायमंड शेप में होते हैं। आप ग्रुप में से कोई भी एक ऑप्शन चुन सकते हैं पर उसे ज्यादा नहीं। ऑप्शनों को चुनने के लिए बटन पर बटन के पास के टेक्स्ट में कहीं पर भी क्लिक करो।कमांड बटन: कमांड बटन भी ऑप्शन बटन की तरह ही होते हैं और इनका प्रयोग कमांड को तुरंत ऐक्जीक्यूट करने के लिए किया जाता है। ये गोलाकार या वर्गाकार न होकर आयताकार होते  है। OK बटन इसका एक उदाहरण है जो प्रत्येक डायलॉग बॉक्स में पाया जाता है।लिस्ट बॉक्स: एक लिस्ट बॉक्स ऑप्शन, आइटमों या ऑप्शनों की एक सूची (लिस्ट) प्रस्तुत करता है जिसमें से आप सिलेक्ट कर सकते हैं। एक लिस्ट बॉक्स में से सिलेक्ट करने के लिए माउस का प्रयोग करके इस पर क्लिक करें या की बोर्ड की सहायता से मन चाहें ऑप्शन को हार्इलाइट करके Enter key दबा कर इसे सिलेक्ट करें।स्लाइडर: स्लाइडर एक स्लाइडिंग कंट्रोल की तहर कार्य करता है। इसके एक दिशा में बढ़ने मसे वैक्यू को बढ़ाने या घटाने के लिए प्रयोग किया जाता है। वैक्यू को बढ़ाने या घनाने के लिए प्रयोग किया  जाता है।स्पिनर: यह ऐरोज़ का यह एक जोड़ा होता है जो क टेक्स्ट बॉक्स में वैक्यू को बढ़ाने या घटाने के लिए प्रयोग किया जाता है । वैल्यू बढ़ाने के लिए   अप ऐरो को क्लिक करें और घटाने के लिए   डाउन ऐरों का।Life Our Facebook PageSee Also : O Level Study Material Notes Sample Model Practice Question Papers with Answers

Leave a Comment

Your email address will not be published.