SSC CGL TIER 1 Van der Waals’ Attraction Forces Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Van der Waals’ Attraction Forces Study Material In Hindi

SSC CGL TIER 1 Van der Waals’ Attraction Forces Study Material In Hindi

वाण्डरवाल्स आकर्षण बल

SSC CGL TIER 1 Van der Waals’ Attraction Forces Study Material In Hindi
SSC CGL TIER 1 Van der Waals’ Attraction Forces Study Material In Hindi
  • यह अणुओं के बीच लगने वाला आकर्षण या प्रतिकर्षण का बल है। यह सहसंयोजक तथा आयनिक बन्ध से भिन्न बल है।
  • सामान्य रासायनिक बन्धों की तुलना में यह दुर्बल होता है।
  • घरेलु छिपकली-जो केवल एक खुर की सहायता से काँच की सतह पर लटक सकती है—सीधी (खड़ी) सतह पर भी बिना गिरे चढ़ जाती है। इसका कारण सतह तथा सूक्ष्म उभारों, जो गद्दीदार पाद में उपस्थित रोएँ के समान सीटी को घेरे रखते हैं, के बीच लगने वाला वाण्डरवाल्स बल है।

Types Of Chemical Reactions Study Material In Hindi

रासायनिक अभिक्रियाओं के प्रकार

रासायनिक अभिक्रियाएँ निम्न प्रकार की होती हैं

  1. ऊष्माक्षेपी अभिक्रियाएँ (Exothermic Reactions) ये वे अभिक्रियाएँ हैं, जिनमें ऊर्जा मुक्त होती है। उदाहरण—प्राकृतिक गैस का दहन, श्वसन, वनस्पति पदार्थों का कम्पोस्ट में अपघटन, दहन अभिक्रियाएँ।
  2. ऊष्माशोषी अभिक्रियाएँ (Endothermic Reactions) ये वे अभिक्रियाएँ हैं, जिनमें ऊर्जा का अवशोषण होता है। उदाहरण—पाचन क्रिया।
  • उत्क्रमणीय अभिक्रियाएँ अग्र तथा पश्च दोनों दिशाओं में होती हैं तथा किसी भी अवस्था में पूर्णता को प्राप्त नहीं करती हैं।
  • अनुत्क्रमणीय अभिक्रियाएँ केवल एक ही दिशा में होती हैं तथा पूर्णता को प्राप्त कर लेती हैं।
  • प्रकृति में होने वाली अधिकतर अभिक्रियाएँ अनुत्क्रमणीय होती हैं।

Catalysis For SSC CGL TIER 1

 उत्प्रेरण

  • इसकी खोज बर्जोलियस ने की थी।
  • यह वह प्रक्रम है, जिसमें कुछ पदार्थ अभिक्रिया में प्रयुक्त हुए बिना अभिक्रिया की दर को बढ़ा देते हैं। ऐसे पदार्थ उत्प्रेरक (Catalyst) कहलाते हैं।
  • जब अभिकारक एवं उत्प्रेरक की अवस्था समान होती है, तो प्रक्रम को समांगी उत्प्रेरण कहा जाता है।

उदाहरण—सल्फ्यूरिक अम्ल के निर्माण की सीस-कक्ष विधि।

समांगी उत्प्रेरण
समांगी उत्प्रेरण

  • जब अभिकारक एवं उत्प्रेरक की अवस्था भिन्न-भिन्न होती है, तब उत्प्रेरक को विषमांगी कहा जाता है। उदाहरण — अमोनिया के निर्माण का हेबर प्रक्रम।
विषमांगी उत्प्रेरण
विषमांगी उत्प्रेरण

कुछ महत्वपूर्ण प्रक्रम एवं उनमें प्रयुक्त उत्प्रेरक

प्रक्रमउत्प्रेरक
वनस्पति तेलों से घी का निर्माणनिकिल
सल्फ्यूरिक अम्ल के निर्माण की सम्पर्क विधिPt चूर्ण
क्लोरीन के निर्माण का डीकन प्रक्रमक्यूप्रिक क्लोराइड
प्रोटीन का पेप्टाइड में परिवर्तनपेप्सिन एन्जाइम
प्रोटीन का अमीनो अम्ल में परिवर्तनइरिप्सिन एन्जाइम
ग्लूकोस का एथिल एल्कोहॉल में परिवर्तनजाइमेस एन्जाइम
स्टार्च का माल्टोस में परिवर्तनडास्टेज एन्जाइम
शर्करा से सिरके का निर्माणमाइकोडर्मा ऐसिटी
सुक्रोस का ग्लूकोस व फ्रक्टोस में परिवर्तनइन्वर्टेज एन्जाइम
दूध का दही में परिवर्तनलेक्टेस (लेक्टोबेसिली)

SSC CGL Study Material Sample Model Solved Practice Question Paper with Answers

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

Leave a Comment

Your email address will not be published.