68500 Assistant Teacher Bharti Tadabhav Tatsam Shabd Study Material in Hindi

68500 Assistant Teacher Bharti Tadabhav Tatsam Shabd Study Material in Hindi

68500 Assistant Teacher Bharti Tadabhav Tatsam Shabd Study Material in Hindi

तदभव एवं तत्सम शब्द

68500 Assistant Teacher Bharti Tadabhav Tatsam Shabd Study Material in Hindi
68500 Assistant Teacher Bharti Tadabhav Tatsam Shabd Study Material in Hindi

अतिलघु उत्तरीय प्रश्न

Very Short Question Answer

प्रश्न – तदभव किसे कहते हैं?

उत्तर – तदभव शब्द तत् + भव से बना है जिसका आशय विकसित या उससे उत्पन्न है। अर्थात ऐसे शब्द जो संस्कृत से उत्पन्न एवं विकसित हुए हैं, तदभव शब्द हैं।

प्रश्न – तत्सम शब्द किसे कहते हैं?

उत्तर – तत्सम शब्द तद् + सम से मिलकर बना है जिसका अर्थ है उसके समान। अर्थात ऐसे शब्द जो शब्द संस्कृत भाषा से हिन्दी में आये और यथावत् प्रयुक्त होते हैं, उन्हें तत्सम शब्द कहा जाता है।

प्रश्न – तदभव और तत्सम शब्द का पहला उल्लेख कहां मिलता है?

उत्तर – तदभव, तत्सम शब्दों के प्रयोग का पहला उल्लेख आचार्य दण्डी (चौथी शती ई.) ने अपने काव्यादर्श लक्षण ग्रन्थ में किया है।

प्रश्न – घोटक किसका तत्सम शब्द है?

उत्तर – घोड़े का तत्सम शब्द घोटक है।

प्रश्न – पौना का तत्सम रुप क्या है?

उत्तर – पौना का ततसम रुप ‘पादोन’ है।

प्रश्न – नंगा का तत्सम रुप क्या है?

उत्तर – नंगा का तत्सम रुप ‘नग्न’ है।

प्रश्न – कूँची का तत्सम रुप क्या है?

उत्तर – कूँची का तत्सम रुप है- ‘कूर्चिका’।

प्रश्न – कपूर का तत्सम रुप क्या है?

उत्तर – कपूर का तत्सम शब्द ‘कर्पूर’ है।

प्रश्न – पर का तत्सम रुप क्या है?

उत्तर – पर का तत्सम रुप ‘उपरि’ है।

प्रश्न – लोथ का तत्सम रुप क्या है?

उत्तर – लोथ का तत्सम रुप ‘लोष्ट्र’ है।

प्रश्न – रस्सी का तत्सम रुप क्या है?

उत्तर – रस्सी का तत्सम रुप है- ‘रश्मि’।

प्रश्न – हाथी का तत्सम रुप क्या है?

उत्तर – हाथी का तत्सम रुप ‘हस्ति’ है।

प्रश्न – अमचूर का तत्सम रुप क्या है?

उत्तर – ‘आम्रचूर्ण’ अमचूर का तत्सम है।

प्रश्न – उजला का तत्सम रुप क्या है?

उत्तर – उजला का तत्सम रुप ‘उज्ज्वल’ है।

प्रश्न – गुँठन का तदभव रुप क्या है?

उत्तर – गुँठन का तदभव रुप ‘घूँघट’ है।

प्रश्न – अट्टालिका का तदभव क्या है?

उत्तर – अट्टालिका का तदव ‘अटारी’ है।

विशिष्ट परीक्षा सामग्री

तदभवतत्सम
अमियअमृत
अगमअगम्य
अमचूरआम्रचूर्ण
अमोलअमूल्य
अखरोटअक्षोट
अगाड़ीअग्रणी
अँखुआअंकुर
अंगूठाअंगुष्ठ
अँधेराअन्धकार
अखाड़ाअक्षवाट
अरपनअर्पण
अकथअकथ्य
अंगीठीअग्निष्ठिका
अफीमअहि-फेन
अस्तुतिस्तुति
अठारहअष्ठादश
अद्धाअर्द्ध
अपनाआत्मन्
अँगूठीअंगुष्ठिका
अगहनअग्रहायण
असीसआशीष
अपाहजअपादहस्त
अपढ़अपठ
अँगियाअंगिका
अचवनआचमन
अनूठाअनुत्थ
अरगअर्क
आंचअर्चि
आयसुआदेश
आजअद्य
आमआम्र
आरसीआदर्श
आँखअक्षि
अनसनअनशन
आँकरआकार
आँवलाआमलक
आँतअंत्र
अदरकआर्द्रक
इतनाइयत
इकट्ठाएकत्र
इक्कीसएकविंशति
ईषाईर्ष्या
अच्छरअक्षर
अनतअन्यत्र
अनाजअन्न
अकासआकाश
अँजुलीअंजलि
अँगोछाअंगप्रौछा
अमावसअमावस्या
अचरजआश्चर्य
अकेलाएकल
अहिरआभीर
अहेरआखेट
आखतअक्षत
अजानअज्ञान
अगुवाअग्रणी
अंगुरीअंगुलि
अधरमअधर्म
अनेहअस्नेह
अलगअलग्न
अटारीअट्टालिका
अछोहअक्षोभ
अंधाअंध
असाढ़आषाढ़
अजवाइनयवनिका
अलच्छनअलक्षण
अंसअंश
अलोनाअलवण
अनतअन्यत्र
आभूसनआभूषण
आचरआंचल
आलसआलस्य
आधाअर्द्ध
आगअग्नि
आंगनअंगण
आसराआश्रय
ऑवाँआपाक
आठअष्ट
आखतअक्षत
हलकालघुक
इमलीअमलीका
इक्तीसएकत्रिंशत्
ईखइक्षु
ईंटइष्टिका
उबटनउद्धर्तन
उबालनाउद्वालन
उगलनाउद्गलन
उठानउत्थान
उसासउच्छ्वास
ऊँचाउच्च
उछाहउत्साह
ऊनऊर्ण
ऊखलउद्खल
एकाऐक्य
ऐसाईदृश
ओलाउपल
औतारअवतार
औगुनअवगुण
कहारस्कन्धधार
कपड़ाकर्पट
केवटकैवर्त्त
कानाकाण:
कडुआकटु
केकड़ाकर्कट
कोढ़कुष्ठ
कचहरीकृत्यगृह
कुम्हारकुम्भकार
कोसक्रोश
किसानकृषक
कपूतकुपुत्र
कोढ़ीकुष्ठी
कोनाकोण
केहरीकेशरी
कच्चाकुपच
कुल्हाड़ाकुठार
खेतीक्षेत्री
खारक्षार
खाटखट्वा
खत्रीक्षत्रिय
खप्परखर्पर
गलनागलन
गौनागमन
गेंदकंदुक
गनेशगणेश
गधागर्दभ
गातगात्र
गुनगुण
घड़ाघट
चौपायाचतुष्पद
चूनाचूर्ण
चरनचरण
उठउत्तिष्ठ
उपासउपवास
उगनाउद्गत
उलाहनाउपालम्भ
उपरोक्तउपर्युक्त
उघाड़नाउद्घाटन
उल्लूउलूक
ऊँटउष्ट्र
एवमइमि
इकलौताएकलपुत्र
ओठओष्ठ
ओसारउपशाल
औरअपर
औधाअवमूर्ध
कंघीकंकती
कान्हकृष्ण
कैथाकपित्थ
काजलकज्जल
कपूरकर्पूर
कुम्हड़ाकुष्माण्ड
करमकर्म
कोठीकोष्ठिका
कोखकुक्षि
करतबकर्तव्य
किवाड़कपाट
कारजकार्य
कौवाकाक
किनकीकणिका
कलेशक्लेश
खँडहरखंडगृह
खीरक्षीर
खेतक्षेत्र
खानखनि
खाँसीकास
खजूरखर्जूर
गर्मीग्रीष्म
गोबरगोमय
गिननागणन
गाँवग्राम
गड्ढागर्त
गेहूँगोधूम
गोरागौर
घोड़ाघोटक
चाँदनीचन्द्रिका
चाकचक
चितेराचित्रकार
छेदछिद्र
छोहक्षोभ
जमाईजामातृ
जंतरयंत्र
जलनज्वलन
जुआद्यूत
जवानयुवा
जोबनयौवन
तीखातीक्ष्ण
ताँबाताम्र
तपसीतपस्वी
तिनकातृण
थामनास्तम्भन
थानस्थान
थनस्तन
देवरद्विवर
दच्छदक्ष
दुपट्टाद्विपट्ट
दबनादमन
दसदश
दूल्हादुर्लभ
दाँतदंत
दूजाद्वितीया
दरसनदर्शन
दोनाद्रोण
दुबलादुर्बल
दसवाँदशम
धोनाधावन
धूलधूलि
धनियाधनिका
धुआँधूम्र
धुनिध्वनि
निहाईनिधाति
नाखूननख
नाचनृत्य
नींदनिद्रा
नसस्नायु
नाईनापित
नेवलानकुल
नंगानग्न
निठुरनिष्ठुर
नखतनक्षत्र
नींबूनिम्बक
निबाहनिर्वाह
पोथीपुस्तक
पुआपूप
पराठापर्पटा
छाँहछाया
छाताछत्र
जोगीयोगी
जांघजंघा
जगजगत्
जनेऊयज्ञोपवीत
जेठज्येष्ठ
जौयव
तमोलीताम्बूलिक
तुरतत्वरित
तालाबतड़ाग
तेलतैल
थलस्थल
थोड़ास्तोक
थालीस्थाल
दाददद्रु
दिवालीदीपावली
देखनादृश
दीठदृष्टि
दामादजामाता
दुरदद्विरद
दियादीप
दाईधात्री
दूनाद्विगुण
दईदैव
दूबदूर्वा
दाढ़ीदंष्ट्रिका
धरतीधरित्री
धीरजधैर्य
धरमधर्म
धानधान्य
नोनलवण
निगलनानिर्गलन
नीमनिम्ब
नातीनप्तृ
नेमनियम
नयानव
नेहस्नेह
नैननयन
लांघनालंघन
नारियलनारिकेल
नाकनक्र
नेवतानिमंत्रण
नहानस्नान
पूँजीपुञ्ज
पीलापीत
परनालीप्रणाली
पीढ़ीपीठिका
पांतपंक्ति
पतलाप्रतनु
परिच्छापरीक्षा
परछाईंप्रतिच्छाया
पाखपक्ष
पातीपत्रिका
पक्कापक्व
परसोंपरश्व:
पूरबपूर्व
प्यासपिपासा
पाँवपाद
पपड़ीपर्पटी
पीपलपिप्पल
पनसारीपण्यशालिक
पहचानप्रत्यभिज्ञान
पलँगपर्यंक
पूसपौष
पोतापौत्र
पत्थरप्रस्तर
पड़ोसप्रतिवास
पियाप्रिय
पुतलीपुत्तलिका
पहुँचप्रभुत्व
पन्नापर्ण
पुरानपुराण
पिटारापिटक
फुरतीस्फूर्ति
फागुनफाल्गुन
फोड़ास्फोट
फूटनास्फुटन
बेलबिल्व
बाजावाद्य
बरसनावर्षण
बादलवारिद
बहनोईभगिनीपति
बरसवर्ष
बौनावामन
बाघव्याघ्र
बिनतीविनति
बालूबालुका
बखानव्याख्यान
बन्दरवानर
बादलवारिद
बसेरावासगृह
बत्तीवर्तिका
पानाप्रापण
पगहाप्रग्रह
पत्तापत्र
पतोहूपुत्रवधू
पूरापूर्ण
पकवानपक्वान्न
पाहनपाषाण
पूँछपुच्छ
पहरुआप्रहरी
परसस्पर्श
पसारनाप्रसारण
पलड़ापटल
पासपार्श्व
पंदरहपंचादश
पसरनाप्रसरण
पखवारापक्षवारा
पानिपाणि
पूतपुत्र
परमारथपरमार्थ
पसीनाप्रस्वेद
पीलापीत
पुरषारथपुरुषार्थ
पल्लापल्लव
परीवाप्रतिपदा
पुजारीपूजाकारी
पीठपृष्ठ
पोखरपुष्कर
फिटकरीस्फटिक
फावड़ापरशु
फाँसीपाशिका
फूलपुष्प
बींधनाबेधन
बहिराबधिर
बाँझबन्ध्या
बहूवधू
बगुलावक
बजरंगवज्रांग
बाड़ीवाटिका
बाँहबाहु
बीताव्यतीत
बछड़ावत्स
बनारसवाराणसी
बाँधनाबंधन
बिकनाविक्रयण
बूँटीवृत्तिका
बनियावणिक
बाँधबंध
बुड्ढावृद्ध
बीसविंशति
बारहद्वादश
बैलवृषभ
बच्चावत्स
बैनवचन
बावलावातुल
बकराबर्कर
भिखारीभिक्षाकारी
भीखभिक्षा
भिच्छुकभिक्षुक
भालूभल्लुक
भतीजाभ्रातृव्य
भूखबुभुक्षा
भांजाभागिनेय
भगतभक्त
भभूतविभूति
मरनामरण
मक्खीमक्षिका
मौतमृत्यु
माथामस्तक
मँडुआमण्डप
मुखियामुख्य
मच्छरमत्सर
माँमाता
मछलीमत्स्य
मदारीमंत्रकारी
यच्छयत्र
रीठाअरिष्ट
रीतारिक्त
रीसईर्ष्या
राखीरक्षिका
रहटअरघट्ट
रत्तीरत्तिका
लेईलेपिका
लगनालग्न
लाखलक्ष
लौंगलवंग
लोहारलौहकार
लहसुनलशुन
लाखलाक्षा
लकड़ीलगुड़
लोयनलोचन
लेईलेपिका
बिच्छूवृश्चिक
बातवार्ता
बिजलीविद्युत
बहिनभगिनी
बायांवाम
बुराविरुप
ब्याहविवाह
बरातवरयात्रा
भादोंभाद्रपद
भावजभ्रातृजाया
भापवाष्प
भीसमभीष्म
भीतभित्ति
भाड़ाभाटक
भौंराभ्रमर
भौंहभ्रू
भुवालभूपाल
भाईभ्रातृ
मालामाल्य
मेहमेघ
मौरमुकुट
मौसीमातृश्वसा
महँगामहार्घ
मीठामिष्ट
मरनामरण
मूँगमुद्ग
महावतमहापात्र
मानुसमनुष्य
यहाँअत्र
राजपूतराजपुत्र
रैनरजनी
रीछऋक्ष
रस्सीरज्जु
राखक्षार
रेनुरेणु
लोढ़ालोष्ट
लाजलज्जा
लँगड़ालंग
लँगोटलिंगपट्ट
लिलारललाट
लोहालौहॊ
लीखलिक्षा
लोनलवण
लच्छनलक्षण
विछोहविक्षोभ
विनतीविनति
सिष्यशिष्य
शसिशशि
सीखशिक्षा
सातसप्त
सीढ़ीश्रेणी
सुमिरनस्मरण
सेठश्रेष्ठी
सरसोंसर्षप
सुवरनस्वर्ण
ससुरालश्वशुराल
वहअसौ
शक्करशर्करा
शीशमशिंशपा
सींगश्रृंग
सगास्वकीय
सरबससर्वस्व
सगुनसगुण
सतसईसप्तशती
साँसश्वास
सलाईशलाका
सुईसूचिका
सालाश्याल
संयासीसंन्यासी
सांकलश्रृंखला
सपूतसुपुत्र
सपनास्वप्न
सासश्वश्रृ
साँपसर्प
सचसत्य
हाथीहस्ति
हथिनीहस्तिनी
हुलासउल्लास
सिरशिर
साखीसाक्षी
सावनश्रावण
साढ़ेसार्द्ध
सेजशय्या
ससुरश्वशुर
सुहागसौभाग्य
सिंगारश्रृंगार
हड्डीअस्थि
हरड़हरीतकी

Join Our CTET UPTET Latest News WhatsApp Group

Like Our Facebook Page

Leave a Comment

Your email address will not be published.