M1 R4 Managing Disk Partitions Study Material Hindi

M1 R4 Managing Disk Partitions Study Material Hindi

M1 R4 Managing Disk Partitions Study Material Hindi:- इस पोस्ट में आपकों मिलेगी मैनेजिंग डिस्क पार्टीशन्स (मैनेजिंग डिस्क पार्टीशन्स) आदि से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी जैसे विंडोज XP में ड्राइव की पार्टीशनिंग, फाइल सिस्टम आदि के विषये में महत्वपूर्ण जारकारी।

M1 R4 मैनेजिंग डिस्क पार्टीशन्स Study Material Notes in Hindi

पार्टीशनिंग का प्रयोग, हार्ड डिस्क को सेक्शनों में विभाजित करने के लिए होता है जिन्हें ड्राइव कहा जाता है। हार्ड डिस्क पर किया गया प्रत्येक पार्टीशन एक या अधिक अलग अलग डिस्क ड्राइव की तरह काम करता है (जिसे लॉजिकल ड्राइव भी कहा जाता है), एवं प्रत्येक पार्टीशन में अलग ऑपरेटिंग सिस्टम होता है जैसे पहले पार्टीशन में विडोंज तो दूसरे में लाइनक्स इसके अलावा एक पार्टीशन में कई लॉजिकल ड्राइव भी रखी होती हैं।पार्टीशनिंग से एक ही हार्ड डिस्क पर कई पाइल सिस्टम बनाना संभव हो पाता है ( एक ही तरह के या अलग) इसके कई पायदे हैं। ये है:

M1 R4 Managing Disk Partitions Study Material Hindi

  • मल्टिपल बूटिंग सेटप का प्रयोग जो यूजर को एक ही कम्प्यूटर पर एक से ज्यादा ऑपरेटिंग सिस्टम रखने जाने की अनुमति देता है।
  • फाइलों को सुरक्षित रखना एवं अलग अलग रखना, जिससे एक करप्ट फाइल को आसानी से छाटा जा सके।
  • कम्प्यूटर की पूरी प्रक्रिया की तेज करता है।
  • उच्च स्तर का डाटा ऑर्गनाइजेशन सिस्टम की यूजर एफिशिएंसी को बढ़ाता है। उदाहरम के ले अलग अलग पार्टीशन, डिजिटल मूवी की फोटों प्रोसेसिंग, ई मेल बॉक्स या ब्राउजर कैश के लिए कारय् करते हैं।
पार्टीशनों को अलग अलग आवश्यकताओं के अनुसार कस्टमाइज किया जाता है, उदाहरम के ले डाटा को प्रोटेक्ट करने के लिए केवल रीड ओन्ली पार्टीशन की ही अनुमति देना। यदि क पार्टीशन में खराबी आ जे तो अन्य कोई फाइल सिस्टम इससे प्रभावित नहीं होते हैं और ड्राइव का डाटा तब भी बचा लिया जाता है।

M1 R4 विंडोज XP में ड्राइव की पार्टीशनिंग Study Material in Hindi

एक विंडोज XP सिस्टम में नई हार्ड डिस्क को फॉर्मेट करना एवं उसकी पार्टीसनिंग के लिए, माई कम्प्यूटर पर राइट क्लिक करों और manage को सिलेक्ट करो। क बार जब आप मैनेजमेंट स्कीन पर आते हैं तो डिस्क मैनेजमेंट को सिलेक्ट करोंएक स्क्रीन जिसमें एक्जिसिटिगं ड्राइव दिखाई देती है, जिसमें नई ड्राइव भी शामिल है, सामने आएगी। इसे पॉइंट पर विंडोज को एक विजार्ड खोलना चाहिए जिससे आपकों नई डिस्क ड्राइव को फॉर्मेट एवं पार्टीशन करने में मदद मिल सके। यदि ऐसा नहीं होता है तो निचले पेन में न्यू ड्राइव पर राइट क्लिक करके इनीशियलाइज ड्राइव को सिलेक्ट करो।
Computer Management Screen
Computer Management Screen
आपकों ड्राइव का पार्टीशन करने के लिए न्यू ड्राइव पर राइट क्लिक करके new partition को सिलेक्ट करना होगा जिससे पार्टीशन विजार्ड लाँच किया जा सके। यह आप को बताएगा कि आप नई पार्टीशन के लिए कितनी ड्राइव स्पेस एलोकेट करना चाहते हैं। यदि आप पहले पार्टीशन के लिए पूरी स्पेस को इस्तेमाल नहीं करना चाहते हैं तो आप इसी तरीके से ऐडीशनल पार्टीशन भी बना सकते हैं और प्रति डिस्क अधिकतम 4 पार्टीशन हो सकते हैं। आप को इसके बाद क ड्राइव लेटर देना होगा जिसका प्रयोग विंडोज द्वारा बनाए गए पार्टीशनों को दर्शानों के लिए किया जाएगा। एक बार जब आपने एक ड्राइव लेटर या डायरेक्ट्री चुनली, तो आपसे ड्राइव को फॉर्मेट करने के लिए कहा जाएगा। जब फॉर्मेटिग पूरी हो जे तो आपकी ड्राइव डाटा स्टोर करने के लिए तैयार हो जाती है।

M1 R4 फाइल सिस्टम Study Material in Hindi

डाटा को कंप्यूटर सिस्टम में फाइलों के रूप में स्टोर किया जाता है। ऑपरेटिंग सिस्टम का फाइल मैनेजमेंट मॉड्यूल विभिन्न स्टोरेज डिवाइसिस में रखी गई फाइलों को मैनेज करता है। यह फाइलों को क डिवाइस से दूसरी में ट्रांसफर भी करता है। यह फाइल मैनेजमेंट, विभिन्न फाइलों के ऑर्गनाइजेशन स्टोरेज, रिट्रिवल, नेमिंग, शेयरिंग एवं प्रोटेक्शन की देखभाव करता है। यह टेक्स्ट एडीटर के प्रयोग से फाइलों को रीड करके मॉडिफाई करने की अनुमति देता है। टेक्स्ट ऐडीटर के अलावा कोई अन्य फाइल मैनीपुलेशन सॉफ्टवेयर पैकेट का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।टी स्ट्रक्चर में फाइल को एक डाय़रेक्ट्री (विंडोज में फोल्डर) या सब ड्यारेक्ट्री में मनचाही जगह पर रखा जा सकता है। फाइलों का नाम रखने के लिए फाइल सिस्टम कुछ नियम बताता है। इसमें एक नाम में आने वाले अधि कतम कैरेक्टरों की संख्या होती है। एक फाइल सिस्टम में एक फाइल के लिए डायरेक्ट्रियों के स्ट्रक्चर द्वारा एक पाथ बताने के लिए भी एक फॉर्मेट होता है।Life Our Facebook PageSee Also : O Level Study Material Notes Sample Model Practice Question Papers with AnswersO Level

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *