UPTET Baal Vikas Shiksha Shastra Sample Model Practice Question Paper with Answers

UPTET Baal Vikas Shiksha Shastra Sample Model Practice Question Paper with Answers

UPTET Model Paper (UPTET Baal Vikas Shiksha Shastra Sample Model Practice Question Paper with Answers) 

UPTET Baal Vikas Shiksha Shastra Sample Model Practice Question Paper with Answers
UPTET Baal Vikas Shiksha Shastra Sample Model Practice Question Paper with Answers

See Also 

1. आपकी कक्षा में एक एक बालक बडो से तू-तडाक करके बोलता है बालक के इस अशिष्ट व्यवहार को दूर करने के लिए आप क्या उपाए करेंगे ?

  1. बालक को सबके सामने प्रताड़ित करेंगे
  2. बालक के माता-पिता से उसे प्रताड़ित करने को कहेंगे
  3. बालक को समझाएंगे की अपने से बडो को आप कहा जाता है तथा साथ ही आप भी अपनेसे बडो से भूलकर भी तू-तड़क नही करेंगे
  4. आप बालक को आप कहकर सम्बोधित करने लगेंगे

2. “पूर्व प्राथमिक” शिक्षा ग्रहण करने के लये उपयुक्त आयु है

  1. 2-6 वर्ष
  2. 6-12 वर्ष
  3. 12-18 वर्ष
  4. 18-25 वर्ष

3. निम्नलिखित में से क्या मानव की ज्ञानेन्द्रि नही है ?

  1. गला
  2. नाक
  3. आँख
  4. जीभ

4. विकास के सम्बन्ध में निम्न में से क्या सम्बन्धीत नही है ?

  1. कार्य क्षमता में वृद्धि
  2. व्यवहार में परिवर्तन
  3. स्वभाव एवं द्रष्टिकोण में परिवर्तन
  4. आकार में परिवर्तन

5. आप अपनी कक्षा में से कुछ क्षत्रो को चुनकर छ: महीने में उनमे होने वाले विकास की एक रिपोर्ट तैयार करना चाहते है, तो इसके लिए आप निम्न में से क्या चुनेंगे ?

  1. प्रत्येक माह उनकी लम्बाई मापेंगे
  2. प्रत्येक माह उनका वजन तौलेंगे
  3. प्रत्येक माह उनके आकार में होने वाले परिवर्तन की जाँच करेंगे
  4. प्रत्येक माह उनकी रुचियों, आदतों, द्रष्टिकोण, स्वभाव, व्यक्तित्व, व्यवहार आदि में होने वाले परिवर्तनों की जाँच करेंगे

6. आप अपनी कक्षा के बच्चो में ईमानदारी की शिक्षा देना चाहते है, इसके लिए आप

  1. बेईमान बच्चो को कठोर दण्ड देंगे
  2. बच्चो के समक्ष ईमानदारी के महत्तव् पर विस्तारपूर्वक प्रकाश डालेंगे
  3. इमानदार बच्चो को पुरस्कृत करेंगे
  4. बच्चो को इमानदार व्यक्तियों की सफलता के उदहारण देंगे

7. विकास की सबसे जटिल अवस्था है

  1. शैशवकाल
  2. किशोरावस्था
  3. युवा-प्रौढावस्था
  4. वृद्ध-प्रौढ़ावस्था

8. “मै कौन हूँ”, “क्या हूँ”, ” भी कुछ हूँ” आदि ऐसी प्रबल भावनाएं, विकास की किस अवस्था की और इंगित होती है

  1. किशोरावस्था
  2. प्रौढावस्था
  3. पूर्व बाल्यावस्था
  4. बाल्यावस्था

9. जब किसी किशोर में किसी वस्तु, समस्या परिस्तिथि के लिए निजी स्तर पर निर्निय लेने की क्षमता का विकास परिपक्त होने लगता है, तो इस विकास को कहते है

  1. परिपक्वता
  2. संज्ञानात्मक विकास
  3. आध्यात्मिक विकास
  4. उपरोक्त में से कोई नही

10. “मानव विकास एक निरन्तर चलने वाली प्रक्रिया है |” यह विचार सम्बन्धित है

  1. अन्त सम्बन्ध का सिद्धान्त
  2. निरन्तरता का सिद्धान्त
  3. एकीकरण का सिद्धान्त
  4. अन्त: क्रिया का सिद्धान्त

11. मानव का विकास निम्न में से किस पर निर्भर होता है ?

  1. उसकी वृद्धि पर
  2. उसके वातावरण पर
  3. उसकी बुद्धि पर
  4. उसकी वृद्धि तथा वातावरण से मिलने वाली परिपक्वता पर

12. उच्च प्राथमिक स्तर के बालक की विशेषता नही है

  1. कार्यो को शीघ्रता से करना
  2. डेटिंग करना
  3. विभिन्न प्रकार के व्यवहार का प्रदर्शन करना
  4. सफलता को अनुभव करने की चाह रखना

13. निम्नलिखित अवस्थाओ में से डेटिंग किस अवस्था की एक प्रमुख विशेषता है

  1. पूर्व बाल्यावस्था
  2. बाल्यावस्था
  3. किशोरावस्था
  4. प्रौढ़ावस्था

14. प्राथमिक स्तर पर एक अच्छे शिक्षक में सबसे महत्त्वपूर्ण विशेषता है

  1. पढ़ाने की उत्सुकता
  2. धैर्य और द्रढ़ता
  3. विषयों के ज्ञान में दक्षता
  4. शिक्ष्ण-पद्दतियो के ज्ञान की दक्षता

Answer for (UPTET Baal Vikas Shiksha Shastra Sample Model Practice Question Paper with Answers) 

  1. C
  2. A
  3. A
  4. D
  5. D
  6. C
  7. B
  8. A
  9. B
  10. B
  11. D
  12. B
  13. C
  14. B

UPTET बाल विकास अवं शिक्षा शास्त्र Study Material in Hindi

UPTET 19 December 2016 Paper 1 2 Official Answer Keys

Download UPTET December 2016 Question Paper in Hindi

Short Method Tricks to Learn CTET UPTET Important Questions

UPTET Study Material in Hindi

Like Our Facebook Page

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *